आंधी बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों को हो रहे नुकसान का आकलन कर जल्द मुआवजा दिया जाए: मुख्यमंत्री

4
16699
bemausam barish se fasal nuksan

आंधी बारिश एवं ओलावृष्टि से फसल नुकसान

पिछले एक सप्ताह से उत्तर भारत के कई राज्यों में अलग–अलग दिन बारिश हो रही है जिससे किसानों के खेत में खड़ी फसल हो या फिर थ्रेसरिंग के लिए खेत में रखी गेहूं की फसल को काफी नुकसान हुआ है | इसके साथ मंडी में खरीदी को काफी प्रभावित किया है | यह बारिश ऐसे समय में हुई है जिस समय किसान अपनी फसल को बेचने के लिए तैयार कर रहे थे |असमय हो रही लगातार बारिश एवं ओलावृष्टि किसानों के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई है | मौसम विभाग की माने तो आने वाले समय में भी बारिश एवं ओलावृष्टि की सम्भावना देश के कई हिस्सों में बनी हुई है | जिससे किसानों की फसलों को आने वाले समय में भी नुकसान होने का डर है | वही अभी हाल ही में जिन किसानों ने फसल की कटाई कर ली थी परन्तु उनकी फसल खेत में ही सूखने के लिए रखी हुई थी अभी हाल में हुई बारिश एवं ओलावृष्टि से उसे काफी नुकसान पहुंचा है |

उत्तर प्रदेश भी इस बारिश से अछूता नहीं रहा है | राज्य के पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई जिलों में किसानों की फसल को काफी नुकसान पहुँचाया है | इस बेमौसम बारिश में फसल नुकसानी के साथ ही आकाशीय बिजली गिरने से जनहानि भी हुई है | नुकसानी के भरपाई के लिए उत्तर प्रदेश के राज्य सरकार ने किसानों के फसल नुकसानी का आकलन करने का निर्देश दिया है |

यह भी पढ़ें   जानें कर्ज माफी के बाद किसान वर्ष में कब-कब ले सकेगें नया ऋण

नुकसानी के आधार पर दिया जायेगा मुआवजा

उत्तर प्रदेश के जिन जिलों में बारिश हुआ है उन जिलों में कृषि विभाग तथा जिलाधिकारियों नुकसानी का आकलन करने के निर्देश दिये गये हैं | नुकसानी के आधार पर किसानों को सहायता राशि दी जाएगी |

किसानों की फसल ओलावृष्टि, जलभराव, भूस्खलन, आकाशीय बिजली से उत्पन्न आग से फसल की क्षति की स्थिति की सूचना बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर 1800-120-909090 रजिस्टर कर सकते हैं | इसके अतरिक्त किसान संबंधित बैंक शाखा, जनपद के कृषि, राजस्व विभाग के किसी अधिकारी, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य के माध्यम से व्यक्तिगत दावा भी बीमा कंपनी को प्रस्तुत कर सकते हैं |

आकाशीय बिजली गिरने से हुए नुकसानी पर 4 लाख रुपये दिए जाएंगे

उत्तर प्रदेश के राज्य सरकार के तरफ से जानकारी देते हुए सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आक्शीय बिजली के कारण जनहानि में पीड़ितों को 4–4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता भी तत्काल उपलब्ध करने के निर्देश दिये हैं |

यह भी पढ़ें   कृषि में नई तकनीक अपनाकर यह बुजुर्ग किसान कमा रहा है लाखों

पिछले 48 घंटों में आंधी / तूफान तथा तेज बारिश के कारण प्रदेश के कई जिलों में भरी नुकसानी हुआ है | जहाँ अभी तक 6 ग्रामीणों के घायल होने की सुचना है तो वहीं घर का छत तथा फसल की नुकसानी काफी अधिक हुई है | राज्य के सूरजपुर जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है | इसको देखते हुए राज्य सरकार ने कृषि तथा जिला अधिकारी को सर्वे करके मुआवजा राशि देने के निर्देश दिये हैं |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

4 COMMENTS

    • फसल बीमा कंपनी एवं स्थानीय अधिकारीयों को सूचित कर सर्वे करवाएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here