सभी ग्राम सेवा सहकारी समितियों को खाद-बीज एवं कीटनाशक बेचने के लिए दिए जाएंगे लाइसेंस

24
70232
khad beej keetnashak sahakri samiti

खाद-बीज एवं कीटनाशक बेचने के लिए लाइसेंस

किसानों को खाद-बीज एवं कीटनाशक खरीदने के लिए ब्लॉक या जिले में जाना पड़ता है जिससे उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है | वहीँ ग्राम सहकारी समितियां किसानों को बहुत सी सुविधाएँ नजदीक में ही उपलब्ध करवाने के लिए उपयुक्त है | राजस्थान में किसानों को अधिक सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कई योजनाओं का क्रियान्वन किया जा रहा है जैसे अभी हाल ही में ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर कस्टम हायरिंग सेंटर की स्थापना की जा रही है जिससे किसान किराये पर कृषि यंत्र ले सकें | इसी तर्ज पर अब राजस्थान सरकार ने सभी ग्राम सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को खाद-बीज एवं कीटनाशक उपलब्ध करवाने का फैसला लिया है |

राजस्थान सरकार राज्य के अधिक से अधिक किसानों को सहकारी समितियों से जोड़ने के लिए जोर दे रही है | इसके लिए किसानों को सहकारी समितियों के माध्यम से कई योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है | किसानों को सहकारी समितियों के माध्यम से फसली ऋण, फसल बेचान हेतु गोदाम आदि की व्यवस्था भी की गई है | सहकारिता से राजस्थान के करीब 70 लाख किसान किसी न किसी रूप में जुड़े हुये हैं एवं उन्हें सेवा प्रदान कराई जा रही है।

यह भी पढ़ें   भावान्तर भुगतान योजना एक सितम्बर से लागू जानें कब किस फसल का होगा पंजीयन 

2 हजार नई ग्राम सेवा सहकारी समितियों किया जायेगा गठन

प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि किसान हमारा अन्नदाता है और उसकी सेवा करना हमारा फर्ज है। अधिक से अधिक किसानों को सहकारिता से जोड़ने के लिये ग्राम सेवा सहकारी समिति 200 नये सदस्य बनायेगी ताकि उन्हें ऋण, खाद, बीज एवं कीटनाशक जैसी सुविधायें स्थानीय स्तर पर उपलब्ध हो सके। अभी प्रदेश में 6545 ग्राम सेवा सहकारी समितियां कार्यरत है। उन्होंने ग्राम स्तर पर अधिक से अधिक व्यक्तियों एवं किसानों को सहकारिता के दायरे में लाकर उन्हें लाभान्वित करने के उदेश्य से निर्देश दिये कि वर्ष 2022-23 तक 2 हजार नई ग्राम सेवा सहकारी समितियों का गठन सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने सभी उप रजिस्ट्रार को निर्देश दिये कि इस वित्तीय वर्ष में 1 हजार नई ग्राम सेवा सहकारी समितियों के गठन का लक्ष्य पूरा करें।

प्रशिक्षण के बाद दिए जाएंगे खाद-बीज एवं कीटनाशक बेचने के लिए लाइसेंस

सहकारिता एवं कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री कुंजी लाल मीणा ने कहा कि राज्य की सभी ग्राम सेवा सहकारी समितियों को खाद, बीज एवं कीटनाशक बेचान के लाइसेंस जारी किये जायेंगे। समितियों को पात्र बनाने के लिये कृषि विज्ञान केन्द्र से संबंधित समिति के पात्र कार्मिक को इसके लिये प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। उन्होंने निर्देश दिये कि कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुये 15 से 30 सितम्बर तक प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत की जाये।

यह भी पढ़ें   1000 रुपये प्रति क्विंटल सब्सिडी पर लें आलू की उन्नत किस्मों के बीज

अनुदानित दरों पर दिए जायेंगे प्रमाणित बीज

श्री मीणा ने कहा कि ब्लॉक लेवल पर नियुक्त सहकारिता निरीक्षक के कार्य दायित्व एवं लक्ष्य निर्धारित किये जा रहे हैं ताकि राज्य सरकार के निर्णयों का लाभ ग्रासरूट लेवल के व्यक्ति तक पहुंच सके। ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से ही अनुदानित बीजों का बेचान किया जायेगा । उन्होंने कहा कि इस निर्णय से ग्राम सेवा सहकारी समितियों की आय में वृद्धि होगी एवं पात्र किसानों को सरकार के अनुदान का भी लाभ मिलेगा और प्रमाणित बीज की आपूर्ति भी सुनिश्चित होगी।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

24 COMMENTS

    • सर यह राजस्थान के लिए है | यदि आप मध्यप्रदेश में खोलना चाहते हैं तो अपने कृषि विज्ञानं केंद्र में सम्पर्क कर प्रशिक्षण लें | कृषि सम्बंधित डिग्री या डिप्लोमा होना चाहिए |

    • इसके लिए आप अपने जिले के कृषि विभाग या इफ्फको कार्यालय में सम्पर्क करें | http://iffcokisan.com/ दी गई लिंक पर देखें |

  1. मे एक ग्रेजुऐट किसान.हूं.मुझे किटनाशक दवाई लाईसेंस चाहिऐ ताकी मे किसान भाईयो को सुविधा दे सकू ।उनकी सेवा कर सकू ।जय जवान जय किसान 6377032165

    • सर कीटनाशक शॉप खोलने के लिए कृषि संबंधित डिग्री या डिप्लोमा होना आवश्यक है आप आपने जिले के कृषि विभाग में सम्पर्क करें एवं प्रशिक्षण प्राप्त करें |

  2. सेवा में,
    एग्रीकल्चर कृषि अधिकारी जी
    विषय खाद बीज लाइसेंस हेतु
    सर मैंने 12वीं क्लास एग्रीकल्चर साइंस कर रखी मैं खाद बीज लाइसेंस लेना चाहता हूं अगर आपकी कृपा हो जाए तो मैं अपने गांव को एग्रीकल्चर की एक नई दिशा में आगे ले जा मैं गांव कॉल गांव जिला अलवर तहसील किशनगढ़ बास राजस्थान का रहने वाला हूं
    आपकी अति कृपा होगी
    नाम अशोक कुमार यादव
    श्री सतीश चंद यादव
    पिन कोड 301405🙏🙏

    • जी अपने जिले के कृषि विज्ञानं विभाग में संपर्क कर प्रशिक्षण लें एवं अपने जिले के कृषि विभाग के उप निदेशक कार्यालय में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • यदि आपके पास कृषि सम्बंधित डिग्री या डिप्लोमा है तो अपने जिले के कृषि विभाग से संपर्क करें |

  3. Agar sabhi ko licence doge to BSC.agri kay kam ki rahegi or yese to degree vaale berojgar ho jaye ge
    Yese to thode din baad aap log to MBBS MD OR BAMS KA bhi licence banake doge jise ki na hi desh ka economic conditions developed hoga or na hi koi isme ek hi baat he ki licence banke dene vaale sirf ammir hoge or or sirf licence lene vaala budhu hoga

    • कृषि सम्बंधित डिग्री या डिप्लोमा होना आवश्यक है | अपने जिले के कृषि विज्ञानं केन्द्र् में सम्पर्क करें |

    • अपने जिले के कृषि विभाग या जिला कृषि विज्ञान केंद्र में सम्पर्क करें |

    • जिला या प्रखंड के कृषि विभाग में संपर्क करना है |

    • अपने जिले के कृषि विभाग कार्यालय में सम्पर्क करें |

    • अपने जिले के कृषि विज्ञान केंद्र में सम्पर्क करें, आपको वहां से प्रशिक्षण मिल जायेगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here