back to top
सोमवार, मई 27, 2024
होमकिसान समाचारपशुपालन एवं डेयरी शुरू करने के लिए सरकार दे रही है...

पशुपालन एवं डेयरी शुरू करने के लिए सरकार दे रही है 50 से 90 प्रतिशत तक सब्सिडी

सब्सिडी पर डेयरी की स्थापना

युवाओं को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने तथा प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धता बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा पशुपालन क्षेत्र को बढ़ावा दिया जा रहा है | पशुपालन किसानों के लिए निश्चित आय का स्रोत हैं जिससे प्रतिदिन कुछ आमदनी हो जाती है | इसको ध्यान में रखते हुए केंद्र तथा राज्य सरकारें पशुपालकों के लिए विभिन्न प्रकार की योजनायें चला रही है | पशुपालन एवं डेयरी व्यवसाय से बेरोजगार नवयुवकों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए पशुपालन एवं डेयरी की स्थापना के लिए सरकार सब्सिडी देती है |

इसी क्रम में हरियाणा सरकार द्वारा राज्य में पशुपालन एवं डेयरी व्यवसाय को बढ़ावा देने के हाईटेक मिनी डेयरी योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है | इस योजना के तहत राज्य में छोटे तथा बड़े डेयरी फार्म आधुनिक तरीके से डाले जा सकते हैं | 

डेयरी की स्थापना पर सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी

एक सरकारी प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि विभाग द्वारा हाईटेक मिनी डेयरी योजना के तहत सामान्य वर्ग के पशुपालक 4, 10, 20 तथा 50 दुधारू पशुओं की डेयरी स्थापित कर सकते हैं। विभाग द्वारा 4 व 10 दुधारू पशुओं (भैंस/गाय) की डेयरी स्थापित करने वाले व्यक्तियों को 25 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। इसी प्रकार 20 व 50 दुधारू पशुओं की डेयरी पर ब्याज की सब्सिडी देने का प्रावधान दिया गया है।

यह भी पढ़ें   किसान अधिक मुनाफे के लिये इस साल करें काले धान की खेती

इस योजना के तहत अनुसूचित जाति से जुड़े व्यक्तियों के लिए 2/3 दुधारू पशुओं की डेयरी स्थापित करने तथा सूअर पालन के लिए 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।  इसी प्रकार भेड़ तथा बकरियों की डेयरी करने वाले किसानों को भी योजना का लाभ दिया जाएगा | इस योजन के तहत भेड़ तथा बकरियों की डेयरी करने वाले पशुपालकों को 90 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाएगी |

योजना के लिए आवेदन कहाँ से करें ?

इच्छुक व्यक्तियों को सब्सिडी पर पशुपालन एवं डेयरी का व्यवसाय करने के लिए सरल हरियाणा पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए किसी भी कार्य दिवस में विभाग के निकटतम कार्यालय से संपर्क कर योजना के विषय में जानकारी ले सकते हैं |

योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

डेयरी पालन का व्यवसाय करने के इच्छुक व्यक्तियों को सरल पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण करते समय आवेदक के पास विभिन्न प्रकार के दस्तावेज होना जरुरी है:-

  • परिवार पहचान पत्र,
  • आधार कार्ड,
  • पैन कार्ड,
  • बैंक पासबुक,
  • कैंसल चैक तथा बैंक की एनओसी अपलोड करनी होगी |
यह भी पढ़ें   तेज गर्मी और लू में गौवंश की देखभाल के लिए गोपालन विभाग ने जारी की एडवाइजरी

29 टिप्पणी

  1. सर मैं पशुपालन पर लोन लेना चाहता व प्रधानमंत्री आवास योजना में जुड़ना चाहता हूं मैं एक गरीब किसान हूं क्या करूं सर जी

    • सर आप इसके लिए सबसे पहले प्रोजेक्ट बनाएं | प्रोजेक्ट में आप कहाँ एवं किस स्तर का फार्म खोलना चाहते हैं एवं उसमें कितनी लागत आएगी एवं कितनी आय होने की सम्भावना है इसकी विस्तृत जानकारी दें | इसके बाद आप सब्सिडी के लिए अपने यहाँ के सरकारी पशु चिकित्सालय या जिला पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर सब्सिडी के लिए आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव हो जाने पर आप बैंक से लोन हेतु आवेदन कर सकते हैं |

    • सर आप इसके लिए सबसे पहले प्रोजेक्ट बनाएं | प्रोजेक्ट में आप कहाँ एवं किस स्तर का फार्म खोलना चाहते हैं एवं उसमें कितनी लागत आएगी एवं कितनी आय होने की सम्भावना है इसकी विस्तृत जानकारी दें | इसके बाद आप सब्सिडी के लिए अपने यहाँ के सरकारी पशु चिकित्सालय या जिला पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर सब्सिडी के लिए आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव हो जाने पर आप बैंक से लोन हेतु आवेदन कर सकते हैं |

  2. Dear sir .
    मैं विनीत कुमार जिला औरैया उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं मैं बहुत दिनों से पशुपालन करना चाहता हूँ पर क्या करूँ साहब कोई हम किशानो की बात नही सुनता , पशुपालन विभाग के चक्कर काट काट के थक गया हुँ कभी बोलते है अभी कोई योजना नही है कभी बोलते हैं बैंक लोन पास नही कर रही कभी कुछ कभी कुछ सच कहूँ सर ,कोई भी सरकार किसानों के लिए कुछ भी नही करती ,ओर अगर किसान समान्य बर्ग से आता है तो उसे आवास तक नही दिया जाता भले ही बो गरीब हो सरकार कोई भी हो बस राशन वितरण करदो गरीब खुश हैं ,हर सरकार का यही aajanda है धन्यवाद।

  3. लोन या सरकार द्वारा किसी भी प्रकार की कोई भी सहायता राशी नही मिलती, सरकार भी बेवकूफ बनाती है और बैंक भी। हर तरफ किसानों का शोषण ही होता है। उसके अलावा कुछ भी नहीं। जय हिंद जय भारत। जय जवान। जय किसान।

    • आप डेयरी फार्म खोलने के लिए प्रोजेक्ट बनाएं, प्रोजेक्ट में डेयरी फार्म पर आने वाली लागत एवं आय आदि की विवरण दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव होने के बाद बैंक से लोन हेतु आवेदन करें |

    • आप डेयरी फार्म खोलने के लिए प्रोजेक्ट बनाएं, प्रोजेक्ट में डेयरी फार्म पर आने वाली लागत एवं आय आदि की विवरण दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • किस राज्य से हैं सर ? आप डेयरी फार्म खोलने के लिए प्रोजेक्ट बनाएं, प्रोजेक्ट में डेयरी फार्म पर आने वाली लागत एवं आय आदि की विवरण दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • किस राज्य से हैं सर ? आप डेयरी फार्म खोलने के लिए प्रोजेक्ट बनाएं, प्रोजेक्ट में डेयरी फार्म पर आने वाली लागत एवं आय आदि की विवरण दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • किस राज्य से हैं सर ? आप डेयरी फार्म खोलने के लिए प्रोजेक्ट बनाएं, प्रोजेक्ट में डेयरी फार्म पर आने वाली लागत एवं आय आदि की विवरण दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • सर इसके लिए प्रोजेक्ट बनाएं | कहाँ एवं कितने खर्च से बनाना चाहते हैं इसकी जानकारी दें | कैसे और कितनी आय की सम्भावना है यह जानकारी दे | पउसके साथ बैंक में लोन के लिए आवेदन करें | इसके अलावा अपने यहाँ के पशुपालन विभाग या पशु चिकित्सालय में सम्पर्क करें |

    • आप पहले इसके लिए प्रोजेक्ट बनाएं जिसमें कहाँ एवं कितना बड़ा फार्म खोलना है इस सब की जानकारी दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव होने पर आप बैंक से लोन हेतु आवेदन भी कर सकते हैं |

    • आप पहले इसके लिए प्रोजेक्ट बनाएं जिसमें कहाँ एवं कितना बड़ा फार्म खोलना है इस सब की जानकारी दें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव होने पर आप बैंक से लोन हेतु आवेदन भी कर सकते हैं |

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर