back to top
बुधवार, अप्रैल 17, 2024
होमकिसान समाचारकिसान क्रेडिट कार्ड पर किसानों को मिलेगा मात्र 10 मिनट में लोन,...

किसान क्रेडिट कार्ड पर किसानों को मिलेगा मात्र 10 मिनट में लोन, सरकार ने शुरू की नई योजना

देश में किसानों को कृषि में निवेश के लिए आवश्यक पूँजी उपलब्ध कराने हेतु किसान क्रेडिट कार्ड KCC पर बैंक से लोन उपलब्ध कराया जाता है। किसानों को यह ऋण बहुत ही कम ब्याज दरों पर दिया जाता है। ऐसे में अधिक से अधिक किसान योजना का लाभ लेकर आसानी से बैंक से लोन ले सकें इसके लिए सरकार द्वारा योजना को लगातार सरल बनाया जा रहा है। इस क्रम में अब सरकार किसानों को मात्र 10 से 15 मिनट में यह लोन उपलब्ध कराने जा रही है।

इस कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न विकास परियोजनाओं की शुरुआत के साथ-साथ एग्री स्टैक योजना की शुरुआत की। योजना के अंर्तगत किसानों को मात्र 10 से 15 मिनट में लोन की सुविधा मिलेगी। इस योजना को अभी सरकार द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है, यदि यह सफल होता है तो इस योजना को पूरे देश में लागू किया जाएगा।

यह भी पढ़ें   अब आसानी से शुरू कर सकेंगे पशुपालन क्षेत्र में अपना बिजनेस, सरकार ने पशुपालन अवसंरचना कोष को दी मंजूरी

किसानों को मिलेगा 10 मिनट में लोन

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश की महत्वपूर्ण डिजिटल पब्लिक इन्फ्रास्ट्रक्चर (एग्री स्टैक योजना) जनपद फर्रूखाबाद में शुरू हो गई है। इसके साथ ही फर्रूखाबाद देश का ऐसा पहला जनपद बन गया है जहां इस योजना को शुरू किया गया है। इसके साथ ही जिले में एग्री स्टैक योजना के अंतर्गत जन समर्थ पोर्टल के माध्यम से डिजिटली स्वीकृत किसान क्रेडिट कार्ड KCC बनाना प्रारंभ हो गये हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के शुरू होने अन्नदाता किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना में मात्र 10 मिनट में लोन की सुविधा मिलेगी। योजना के सफल होने के बाद इस योजना को पूरे देश में लागू किया जाएगा। इस कार्य में भारतीय स्टेट बैंक SBI, बैंक आफ़ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया एवं पंजाब नेशनल बैंक सहयोग कर रहे हैं।

एग्री स्टैक योजना क्या है?

बता दें की एग्री स्टैक योजना के अंतर्गत किसान रजिस्ट्री तैयार करने के लिए सरकार द्वारा पीएम किसान सैचुरेशन ड्राइव चलाई जा रही है। योजना के अंतर्गत मोबाइल एप के माध्यम से ई-केवाइसी करने की व्यवस्था दी गई है। ड्राइव के अंतर्गत मोबाइल एप के माध्यम से दो महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं। पहला भूमि का सत्यापन और दूसरा ई-केवाईसी और आधार हेतु सहमति लिया जाना। इस कार्य के लिए प्रत्येक गांव के लिए लेखपाल एवं कृषि विभाग के एक-एक कार्मिक की टीम बनाई गई है।

यह भी पढ़ें   एक ही खेत में मखाना, मछली और सिंघाड़े की खेती के लिए किसानों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

9 टिप्पणी

  1. बिना ब्याज पर किसी के लिए किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान कराया जाए प्रत्येक वर्ष धन जमा कराया जाए ना जमा कर पाने पर 2% का ब्याज का फाइन लगा दिया जाए

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप