1 लाख 20 हजार रुपए के अनुदान पर ड्रैगन फ्रूट की खेती करने के लिए आवेदन करें

490
Subsidy on Dragon fruite

ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए अनुदान

सरकार द्वारा महँगे विदेशी फलों की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिससे किसानों की आमदनी को बढ़ाया जा सके। इसके लिए किसानों को सहायता प्रदान करने के लिए अनुदान भी दिया जाता है। इस कड़ी में हरियाणा सरकार ने ड्रैगन फ्रूट के लिए एक विशेष योजना शुरू की है, जिसके तहत किसानों को अनुदान देने के लिए सरकार ने आवेदन आमंत्रित किए हैं।

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में ड्रैगन फ्रूट की खेती को बढ़ावा देने के लिए विशेष अनुदान योजना लागू की है। इस महंगे ड्रैगन फ्रूट की बाजार में मांग और इससे होने वाली आमदनी को देखते हुए इस फल की खेती मुनाफे का सौदा है। बागों की स्थापना से पानी की भी बचत होगी होगी और किसानों की आय में इजाफा होगा।

ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए दिया जाने वाला अनुदान Subsidy 

हरियाणा के एक एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा में ड्रैगन फ्रूट के बाग के लिए 1,20,000 रुपए प्रति एकड़ के अनुदान का प्रावधान किया गया है। इसमें पौधा रोपण के लिए 50,000 रुपए एवं ट्रैलिसिंग सिस्टम (जाल प्रणाली) के लिए 70,000 रुपए प्रति एकड़ है। इस योजना के तहत एक किसान अधिकतम 10 एकड़ तक अनुदान की सुविधा का लाभ ले सकता है। किसानों को पौधा रोपण के लिए 50,000 रुपये का अनुदान तीन किस्तों में प्रथम वर्ष 30,000 रूपए, दूसरे वर्ष 10,000 रूपए व तीसरे वर्ष 10,000 रूपए दिये जाएंगे।

यह भी पढ़ें   किसान 30 जून तक बेच सकेंगे समर्थन मूल्य पर चना, मसूर एवं सरसों की उपज

किसान योजना का लाभ लेने के लिए यहाँ करें आवेदन 

इस योजना के तहत एक किसान अधिकतम 10 एकड़ तक अनुदान की सुविधा का लाभ ले सकता है। अनुदान प्राप्त करने के लिए किसान का ‘मेरी फसल-मेरा ब्यौरा‘ पोर्टल पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।अनुदान ‘पहले आओ-पहले पाओ‘ के आधार पर दिया जाएगा। किसान बागवानी विभाग की वेबसाइट http://hortnet.gov.in पर जाकर आवदेन कर योजना का लाभ ले सकते हैं।

किसान योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए टोल फ़्री नम्बर 1800-180-2021 पर कॉल कर सकते हैं। या किसान अपने ज़िले के ज़िला उद्यान अधिकारी से सम्पर्क कर सकते हैं। किसान अधिक से अधिक विभिन्न फलों के बाग लगाकर अच्छा मुनाफा ले सकते है। बागों की स्थापना से जहां पानी की बचत है, वहीं फलों के बाग किसानों की आय में इजाफा करने में सहायक है।

पिछला लेखलिस्ट आ गई है, इन किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएँगे रोटावेटर एवं अन्य कृषि यंत्र
अगला लेखलिस्ट आ गई है, इन किसानों को सब्सिडी पर दिए जाएँगे पाइप लाइन सेट, पम्प सेट एवं स्प्रिंकलर सेट

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.