अब सभी पशुओं का गर्भधारण क्रॉस ब्रीडिंग से किया जायेगा

0
1719
views
cross breeding scheme haryana

पशु क्रॉस ब्रीडिंग योजना

दूध उत्पादन तथा उत्पादकता को बढ़ाने के लिए पशु नस्ल में सुधार की जरुरत है | बढती जनसंख्या तथा सभी के लिए पर्याप्त दूध की जरूरत को पूरा करने के लिए उत्पादन तथा उत्पादकता को बढ़ाना जरुरी है | ज्यादा तर लोग दूध बढ़ाने के लिए अधिक पशु पालन पर जोर देते हैं | इससे ज्यादा जरुरी है कि अच्छे नस्ल की पशु का पालन किया जाय | पर्याप्त संख्या में पशु हो यह भी जरुरी है | इसी को लेकर हरियाणा राज्य ने पशु नस्ल सुधार के विजन को आगे बढ़ाते हुये विभाग ने हर पशु ध्यान मोबाईल एवं तैयार किया है |

इस बात की जानकारी हरियाणा राज्य के पशुपालन एवं देरी मंत्री देते हुये बताया कि प्रदेश में दुग्ध की उत्पादकता बढ़ाने के लिए पशुओं के नस्ल में सुधार किया जायेगा | इसके लिए अच्छी नस्ल के सांड व भैंसे का चुनाव किया जा रहा है | इसके लिए पशुओं का पंजीकरण किया जायेगा तथा सभी को पशुधारको उसका प्रमाणीकरण दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   यह यंत्र बताएगा गाय-भैंस के गाभिन का सही समय
दुग्ध की उत्पादन को बढ़ाने के लिए 4 मुख्य बिंदु पर ध्यान दिया जा रहा है |
  1. अच्छा पशु चारा
  2. पशु घरों का नियंत्रित वातावरण
  3. नवीनतम तकनीक से गर्भाधान शामिल है |

पशुओं की नस्ल सुधरने के लिए एक एप तैयार किया गया है जिसमें पशुओं के बारे में सभी तरह की जानकारी रहेगा | रोग , चारा की मात्रा, आवास तथा गर्भधारण की पूरी जानकारी दिया जायेगा | इसके अलावा पशुओं के पंजीकरण और ब्रीडिंग के लिए एक आथारिटी बनाई गई है | इस एप के कुछ खास बाते इस तरह है

  1. पशु विभाग में प्रदेश के सभी पशु के वंशावली का रिकार्ड रहेगा |
  2. सिर्फ दुधारू नस्लों वाली पशुओं की ब्रिड को आगे बढ़ाया जायेगा |
  3. पशु बीमा को बढ़ाया जा रहा है तथा पशु बीमा की समिक्षा किया जायेगा |
  4. 10 लाख पशुओं का बीमा किया जायेगा |
  5. पशु सिमन और बेसहारा पशुओं को लेकर भी धनखड़ आंकड़ों के माध्यम से अपने विभाग कार्यों को गिनवाते नजर आयेंगे |
यह भी पढ़ें   भेड एवं बकरी पालन पर सरकार द्वारा दी जानें वाली सहायता 

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here