back to top
रविवार, मई 19, 2024
होमकिसान समाचारअब अक्टूबर में लगेगा कृषि यंत्र मेला, मेले में किसानों को 744...

अब अक्टूबर में लगेगा कृषि यंत्र मेला, मेले में किसानों को 744 कृषि यंत्रों पर दिया गया 5 करोड़ रुपये का अनुदान

कृषि यंत्र मेला 2024 का आयोजन

देश में कृषि यंत्रीकरण को बढ़ावा देने एवं किसानों को नए-नए कृषि यंत्रों से अवगत कराने के उद्देश्य से सरकार द्वारा कृषि मेलों सह प्रदर्शनी का आयोजन किया जाता है। इस कड़ी में बिहार कृषि विभाग द्वारा 8 से 11 फरवरी के दौरान 4 दिवसीय कृषि यंत्र मेले का आयोजन किया गया। पटना के गांधी मैदान में आयोजित किए गए इस कृषि यंत्र मेले में किसानों को नए उन्नत कृषि यंत्रों के बारे में जानने एवं उन कृषि यंत्रों को अनुदान पर खरीदने का मौक़ा मिला।

चार दिवसीय कृषि मेला 2024 का समापन रविवार को हो गया। मेले में किसानों ने जमकर कृषि यंत्रों की खरीददारी की। कृषि विभाग और सीआईआई के सौजन्य से आयोजित इस मेले के अंतिम दिन पटना उच्च न्यायालय के न्यायाधीश राजीव रंजन प्रसाद ने भ्रमण किया। कृषि सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने उन्हें मोमेंटो देकर उनका स्वागत किया।

अक्टूबर में आयोजित किया जाएगा कृषि यंत्र मेला

बिहार कृषि सचिव ने संजय कुमार अग्रवाल ने कृषि यंत्रीकरण मेला के समापन समारोह में कहा कि दशहरा के बाद किसान थोड़ा खाली रहते और तब धान कटनी में कृषि यंत्रों की जरूरत सबसे अधिक होती है इसलिए अब हर साल अक्टूबर में ही कृषि यंत्रीकरण मेला लगाया जाएगा। राज्यस्तरीय कृषि यंत्रीकरण मेले की तिथि की सूचना देश की यंत्र निर्माता कंपनियों को मई महीने के अंत तक उपलब्ध करा दी जाएगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा यंत्र निर्माता भाग ले सकें। राजधानी के गांधी मैदान में लगे कृषि मेले में उन्होंने कहा कि अब राज्यस्तरीय कृषि मेले के बाद जिला स्तर पर इसका आयोजन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें   मधुमक्खी पालन के लिए सरकार दे रही है 90 प्रतिशत तक का अनुदान, अभी करें आवेदन

कृषि यंत्रों पर किसानों को दी जा रही है 80 प्रतिशत तक सब्सिडी

बड़े-बड़े कृषि यंत्र खरीदना एक किसान के बूते के बाहर होता है। इस समस्या को देखते हुए पैक्सों और कृषि समूहों को कृषि यंत्र देने की तैयारी हो रही है। सरकार किसानों को फसल अवशेष जलाने के बदले उनके खेतों में ही प्रबंधन कर खाद के रूप में उपयोग करने को प्रोत्साहित कर रही है। इसी उद्देश्य से कई नवीनतम कृषि यंत्रों 9 से 11 टाईन का हैप्पी सीडर, बिना रैक वाला स्ट्रॉ बेलर, स्ट्रॉ रीपर, सुपर सीडर, रोटरी मल्चर, स्लैशर एवं स्ट्रॉ मैनेजमेंट सिस्टम पर सामान्य वर्ग के किसानों को 75 प्रतिशत एवं अनुसूचित जाति/ जनजाति और अत्यंत पिछड़ा वर्ग के किसानों को 80 प्रतिशत और स्वचालित/ ट्रैक्टर चालित रीपर कम बाइंडर पर 50 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है।

कृषि यंत्र मेले में दिया गया 5 करोड़ रुपये का अनुदान

8 से 11 फरवरी के दौरान चार दिनों के लिए आयोजित किए गए इस कृषि यंत्र मेले में 75 हजार से अधिक किसानों एवं आमजनों ने भ्रमण किया। कृषि सचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि चार दिनों में कुल 744 कृषि यंत्रों का क्रय एवं 41 कृषि यंत्र बैंकों के लिए कुल 5.39 करोड़ से अधिक का अनुदान किसानों को दिया गया। कृषि यंत्र खरीदने वाले किसानों को प्रतीकात्मक रूप से चाबी भेंट की गई।

यह भी पढ़ें   बकरी पालन के लिए किसानों को दिया गया 7 दिनों का प्रशिक्षण

इस कृषि यंत्र प्रदर्शनी सह किसान मेला में फसल अवशेष प्रबंधन से संबंधित यंत्र जैसे स्ट्रॉ रीपर, रीपर कम बाइंडर, सुपर सीडर की बिक्री बड़ी संख्या में हुई है। इससे पता चलता है कि राज्य के किसान मृदा एवं पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरूक हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप