back to top
रविवार, जून 16, 2024
होमकिसान समाचारसरकार ने शुरू की पशुओं के उपचार के लिए एंबुलेंस सुविधा,...

सरकार ने शुरू की पशुओं के उपचार के लिए एंबुलेंस सुविधा, बस इस नंबर पर करना होगा फोन

देश में पशुपालकों की आय बढ़ाने एवं पशुओं को अच्छी स्वास्थ्य की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कई योजनाएँ चलाई जा रही हैं। इन योजनाओं में पशुओं का टीकाकरण, दवाओं का वितरण, कृत्रिम गर्भाधान एवं पशुओं का ईलाज आदि शामिल है। ऐसे में अधिक से अधिक पशुपालकों तक यह सुविधा आसानी से मिल सके इसके लिए सरकार ने पशु एंबुलेंस सुविधा शुरू की है।

इस कड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार ने 20 अगस्त के दिन महासमुंद के हाई स्कूल मैदान में राजीव गांधी किसान न्याय योजना एवं अन्य योजनाओं के हितग्राहियों को राशि के अंतरण कार्यक्रम के पहलेमुख्यमंत्री गौवंश मोबाईल चिकित्सा योजनाके तहत महासमुंद जिले के लिए 7 तथा संभाग के अन्य जिलों के लिए 43 मोबाइल पशु चिकित्सा इकाईयों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

मुफ्त में होगा पशुओं का उपचार

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री गौवंश मोबाईल चिकित्सा योजना को मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना एवं मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की तर्ज पर शुरू किया है। जिसके तहत चिकित्सायुक्त 163 मोबाईल वैन के माध्यम से गौठानों, ग्राम पंचायतों तक पहुंच सेवा एवं कॉल सेंटर के माध्यम से जी.पी.एस. लगे मोबाईल वैन एवं पशु चिकित्सा सेवा की मॉनिटरिंग तथा परामर्श सुविधा प्रदान की जाएगी। योजना के तहत पशु पालकों को मुफ्त पशु चिकित्सा सुविधा के साथ ही टोल फ्री नंबर 1962 पर परामर्श भी दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें   किसान यहाँ से ऑनलाइन खरीद सकते हैं मूंग की इन दो उन्नत किस्मों के प्रमाणित बीज 

घरघर जाकर किया जाएगा पशुओं का इलाज

मुख्यमंत्री गोवंश मोबाइल चिकित्सा योजना का प्रमुख उद्देश्य छत्तीसगढ़ के सभी गौवंश (पशुओं) को वक्त पर बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान करना है। इन चिकित्सा वाहन के द्वारा बीमार पशुओं को घरघर जाकर ट्रीटमेंट दिया जाएगा। अब राज्य सहित जिले के कोई भी पशुपालक अपने पशुओं के बीमार होने पर जल्द से जल्द चिकित्सा वाहन को अपने स्थान पर बुलवा सकेंगे और अपने पशुओं का समय पर इलाज करवा सकेंगे। इससे पशु संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर