back to top
रविवार, जून 16, 2024
होमकिसान समाचारउत्तर प्रदेशकिसानों को अनुदान पर दिए जाएंगे रबी फसलों के 10 हजार...

किसानों को अनुदान पर दिए जाएंगे रबी फसलों के 10 हजार क्विंटल बीज

रबी सीजन के लिए बीजों का वितरण

रबी फसल की बुवाई का काम शुरू होने वाला है, ऐसे में सभी राज्य सरकारें राज्य में उत्पादकता बढ़ाने के लिए खाद, उन्नत बीज आदि इनपुट की व्यवस्था करने में लगी है | इस वर्ष हुई अच्छी वर्षा के कारण रबी फसल की बुवाई का रकबा बढ़ने की संभावना है | उत्तरप्रदेश में रबी फसलों के अच्छे उत्पादन के लिए रबी उत्पादकता गोष्ठी-2021 का आयोजन किया जा रहा है |

उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय कृषि उत्पादकता गोष्ठी 2021-22 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में कृषकों एवं प्रदेश के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि रबी में अच्छी उत्पादकता प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है इसके लिए उन्नतशील प्रजातियों के बीजों की व्यवस्था की गई है |

कुल कितने बीज वितरित किए जाएंगे

राज्य के कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही ने राज्य स्तरीय कृषि उत्पादकता गोष्ठी 2021–22 के योजना में जानकारी दी है | कृषि मंत्री ने बताया है कि राज्य के किसानों को रबी सीजन 2021-22 के लिए 50 हजार क्विंटल बीज वितरण का लक्ष्य रखा है | इसमें से 10 हजार क्विंटल बीज कृषि विभाग के राजकीय कृषि बीज भंडारों के माध्यम से अनुदान पर वितरित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, शेष निजी संस्थाओं के माध्यम से कृषकों को उपलब्ध करने की रणनीति बनाई गई है |

यह भी पढ़ें   किसान भाई इस तरह करें नकली और मिलावटी उर्वरकों की पहचान

अच्छी वर्षा होने के कारण राज्य में रबी की बुवाई में वृद्धि होने की उम्मीद है | दलहन तथा तिलहन का आच्छादन बढ़ाए जाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि इस वर्ष रबी में 18 लाख हेक्टेयर में दलहन व 12 से 13 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में तिलहन के आच्छादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है |

किसानों को यहाँ से वितरित किए जाएंगे खाद एवं बीज

कृषकों को उर्वरक जोत बही के अनुसार ही उर्वरक का वितरण किया जायेगा । सहकारिता के प्रमुख सचिव ने बताया कि इसमें कुल लक्ष्य का लगभग 30 प्रतिशत उर्वरक सहकारिता के माध्यम से वितरित किया जाता है। लगभग 1200 केंद्रों के माध्यम से उर्वरकों का वितरण किया जाएगा। प्रदेश में उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता है। बीज की व्यवस्था के सम्बन्ध में बीज विकास निगम के अधिकारी ने बताया कि बीजों की समय से उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। दलहनों फसलों के बीज की आपूर्ति प्रारम्भ हो चुकी है। बीज विकास निगम द्वारा बीज की उपलब्धता जनपदों के निकटतम डिपो के माध्यम से तथा राष्ट्रीय बीज निगम से क्रय किये गए बीज को एफओआर के माध्यम से जनपदों को उपलब्ध कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें   गेहूं की किस्म करण शिवानी ने दिया अब तक का सबसे अधिक उत्पादन

7 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर