राजस्थान में किसान कब,कहाँ एवं कैसे समर्थन मूल्य पर बेच सकेगें अपनी फसल

15
23176
views
प्रतीकात्मक चित्र

राजस्थान में किसान कब एवं कहाँ समर्थन मूल्य पर बेच सकेगें अपनी फसल

राजफैड 14 मार्च से कोटा संभाग के 20 केन्द्रों पर सरसों एवं 21 मार्च से 13 केन्द्रों पर चना की समर्थन मूल्य पर खरीद प्रक्रिया प्रारम्भ करेगा तथा 4 अप्रेल से अन्य संभागों में सरसों एवं चने की राजफैड खरीद प्रारम्भ कर देगा। यह जानकारी बुधवार को सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने दी।

श्री किलक ने बताया किसानों को अपनी उपज बेचने में किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इसके लिए प्रदेश में मूंग, मूंगफली, उड़द एवं सोयाबीन की खरीद की भांति ऑनलाईन पंजीकरण की व्यवस्था की है। उन्होंने बताया कि किसान ऑनलाईन पंजीकरण- मित्र एवं खरीद केन्द्रों(केवीएसएस) के माध्यम से करा सकता है। -मित्र से पंजीकरण कराने पर किसान को 21 रुपये तथा क्रय-विक्रय सहकारी समिति के खरीद केन्द्र पर पंजीकरण कराने के लिए किसान को 10 रुपये का भुगतान करना होगा।

आवश्यक दस्तावेज

ऑनलाईन पंजीकरण के दौरान भामाशाह कार्ड नम्बर एवं खसरा गिरदावरी देनी होगी। उन्होंने बताया कि पंजीकरण होते ही किसान को एसएमएस द्वारा मोबाइल पर उपज की मात्रा एवं खरीद दिवस की सूचना दी जाएगी।

यह भी पढ़ें   राजस्थान किसानों को जल्द मिलेगी ख़राब हुई फसल की राशि

किसानों को उनकी सरसों एवं चने की उपज का तत्काल भुगतान सुनिश्चित करने के लिए इस बजट में राजफैड को 500 करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराने का प्रावधान किया है। उन्होंने बताया कि इस बार किसान को उपज का भुगतान सीधे ही उसके खाते में किया जाएगा।

खरीद के दौरान कई बार ऑफलाईन पंजीकरण से जुड़ी अव्यवस्थाओं की वजह से किसान को परेशानी का सामना करना पड़ता है, इसमें सुधार करते हुए पहली बार ऑनलाईन पंजीकरण की व्यवस्था प्रारम्भ की है।  राज्य में सरसों खरीद के लिए 173 केन्द्र तथा चना खरीद के लिए 113 केन्द्र बनाए गए हैं।

सहकारिता मंत्री ने बताया कि वर्ष 2018-19 के लिए सरसों के लिए 4000 रुपए तथा चना के लिए 4400 रुपए प्रति क्विटल समर्थन मूल्य बोनस के साथ घोषित किया है। उन्होंने बताया कि किसानों को अपनी उपज बेचने में किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए खरीद केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार कांटों की संख्या बढ़ा जाएगी एवं पर्याप्त मात्रा में बारदाना उपलब्ध कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें   100 उद्योगपतियों के मुकाबले किसानों को 17% ही दिया गया है: वरुण गाँधी

अधिक जानकरी के लिए यह भी पढ़ें

सहकार फसल खरीद मित्र योजना लागू

अब ऑनलाइन पंजीयन करवाकर सीधे ही खरीद केंद्र पर अपनी उपज बेच सकेगें किसान

राजस्थान में ऋण माफ़ी योजना लागू

15 COMMENTS

  1. Sir समर्थन मुल्य में नम्बर आया है या नही कैसे पता करे

  2. Sir mene 15/03/2018 ko chne ka panjiyan karaya tha tol kendr baran mera panjiyan no. 28021015 mera no. Kab take aayga

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here