किसान भाई जाने क्या है न्यूनतम समर्थन मूल्य और इसका निर्धारण कैसे होता है ?

2
21266

किसान भाई जाने क्या है न्यूनतम समर्थन मूल्य और इसका निर्धारण कैसे  होता है ?

केंद्र सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य किस आधार पर निर्धारण करता है ?

अपने अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आनेवाली विभिन्न वस्तुओं के मूल्य – नीति की अनुशंसा करते समय आयोग, भूमि और जल जैसे राष्ट्रीय संसाधनों का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित करने के अलावा मांग और आपूर्ति, उत्पादन लागत, घरेलू एवं अंतराष्ट्रीय बाजार की कीमतों का ट्रेंड अंतरफसल मूल्यों में समता, कृषि और गैर – कृषि क्षेत्रों के बीच व्यापार की शर्तें, उस वस्तु के एमएसपी का उपभोगताओं पर प्रभाव का भी ध्यान रखता है | यह बात ध्यान देने योग्य है की एमएसपी के निर्धारण में उत्पादन लागत एक महत्वपूर्ण निर्धारण है, परंतु विभिन्न फसलों का एमएसपी निर्धारण केवल लागत जोड़ के आधार पर नहीं होता है |

केंद्र सरकार कितने फसलों का मूल्य निर्धारण करता है ?

संतुलित और एकीकृत मूल्य संरचना मूल्य संरचना तैयार करने के उद्देश्य से कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (सीएसीपी) की स्थापना की गई थी | इसे 23 फसलों की मूल्यनीति (एमएसपी) पर सलाह देनी है, जिनमें सात अनाज वाली फसलें (धान, गेंहू, ज्वार, बाजरा, मक्का, रागी और जौ) पांच दलहन फसलें (चना, अरहर, मूंग, उड़द और मसूर), सात तिलहन (मूंगफली, सूरजमुखी बीज, सोयाबीन, रेपसीड – सरसों, कुकुम, नाइजर, बीज और मसूर), गिरी (सूखा नारियल), कच्चा जूट तथा गन्ना है |

इसे एमएसपी के बदलते उचित और लाभकारी मूल्य (एफआरपी) सुझाना है | एमएसपी/एफआरपी की अनुशंसा करते समय सीएसीपी से यह सुनिश्चित करते समय कहा जाता है कि उत्पादन का पैटर्न मोटे तौर पर अर्थव्यवस्था की समग्र जरूरतों (मांगों) के अनुरूप हो | सीएसीपी अपनी अनुशंसाएं प्रत्येक वर्ष सरकार को मूल्यनिधि रिपोर्ट के रूप में भेजती है | यह सामग्रियों के पांच समूह के लिए अलग – अलग होते है | ये – है – खरीफ फसल, रबी फसल, गन्ना, कच्चा जूट, और गरी | इन पांचों मूल्य नीति रिपोर्टों को तैयार करने से पहले आयोग विभिन्न राज्य सरकारों, संबंधित राष्ट्रीय संगठनों और मंत्रालयों से उनकी राय लेता है |

2017 – 18 मौसम की खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और बोनस |

सरकार ने 2017 – 18 मौसम की सभी खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृधि के लिए अनुमोदन प्रदान किया है | इसके आलावा देश में दलहन और तिलहन की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए, सरकार ने अरहर (तूर), उड़द, मूंग, छिलका सहित मूंगफली और सोयाबीन के लिए 200 रूपये प्रति किवंटल तथा सूरजमुखी बीज, तिल और रामतिल के लिए 100 रूपये प्रति किवंटल बोनस की घोषणा की है | यह बोनस अनुमोदित न्यूनतम समर्थन मूल्य के ऊपर और उसके आलावा डे है | 2017 – 18 मौसम के सभी खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य और बोनस के ब्यौरा नीचे तालिका में दिये गये है |

(रूपये प्रति किवंटल)

जिन्सकिस्म 2017 – 18
 न्यू.स.मू.बोनस कुल (न्यू.स.मु.+बोनस )
धानसामान्य15501550
ग्रेड ए15901590
ज्वारहईब्रिड17001700
मालंदडी17251725
बाजरा14251425
मक्का14251425
रागी19001900
तूर (अरहर)52502005450
मूंग53572005575
उड़द52002005400
मूंगफली छिलके सहित42502004450
सोयाबीन28502003050
सूरजमुखी बीज40001004100
तिल52001005300
रामतिल39501004050
कपासमध्यम रेशा

(रेशे की लम्बाई एमएम) 24.5 – 25.5 एवं 4.3 – 5.1 का मईक्रोनेयर मूल्य

40204020
लंबा रेशा

(रेशे की लम्बाई एमएम) 29.5 – 30.5 एवं 3.5 – 4.3 का मईक्रोनेयर मूल्य

43204320
नोट :- किसान भाई एमएसपी को ध्यान में रखते हुए अपने फसल का चुनाव करें |
नोट :- जनवरी माह में रबी फसलों का मूल्य निर्धारण किया जायेगा |

2 COMMENTS

  1. वर्तमान समय में रबी फसल का समय न्यूनतम समर्थन मूल्य क्या है???

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here