इफको ने DAP, यूरिया एवं अन्य खाद के बढे हुए दामों की ख़बरों को लेकर क्या कहा

903
iffco fertilizer new price list

इफको IFFCO खाद के दाम

महंगाई की मार झेल रहे किसानों के लिए एक और बुरी खबर अभी हाल ही के दिनों में निकलकर सामने आई है | इसके अनुसार इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (IFFCO)  ने डीएपी, यूरिया एवं अन्य खाद उर्वरकों के दामों में वृद्धि कर दी है | DAP यानी कि डाई अमोनियम फॉस्फेट में कीमत में 58.33 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी गई है |  DAP खाद की अभी जो बोरी 1,200 रुपये में मिलती थी, उसकी कीमत अब 1,900 रुपये किये जाने की ख़बरें आई हैं | इन बढ़ी हुई कीमतों को लेकर इफको की तरफ से सफाई आई है |

इफको ने कहा है कि नई दरों के साथ जो मैटेरियल आ रहा है वो फिलहाल किसानों को नहीं बेचा जाएगा | इफको का कहना है कि अभी जो भी पुराना स्टॉक है उसे खत्म होने तक किसानों को पुरानी दरों पर ही खाद दिया जायेगा | यानी फिलहाल खाद के नए दाम किसानों से नहीं वसूले जाएंगे और उनसे DAP पुरानी कीमत 1200 रूपये प्रति बैग ही बिकेगा | किसान समाधान इसको लेकर आपके लिए विस्तार से जानकारी लेकर आया है |

IFFCO द्वारा उत्पादित खादों में हो सकती हैं इतनी वृद्धि

निजी कंपनियां द्वारा मार्च 2021 में ही उत्पादित DAP के दाम में वृद्धि कर दी गई थी | उस समय IFFCO के तरफ से बताया गया था की IFFCO द्वारा उत्पादित DAP में किसी भी प्रकार की वृद्धि नहीं की जाएगी लेकिन इस माह DAP के मूल्य में 58 प्रतिशत की वृद्धि का सर्कुलर जारी कर दिया गया है जो आने वाली नई पैकिंग पर दिख सकता है | अगर ऐसा हुआ तो जो DAP पिछले वर्ष 1200 रूपये प्रति बैग (50 किलोग्राम) मिलता था वह अब 1900 रूपये प्रति बैग (50 किलोग्राम) मिलेगा |

यह भी पढ़ें   कृषि वैज्ञानिकों ने जारी की चेतावनी: अभी सोयाबीन की फसल में लग सकते हैं यह कीट एवं रोग

बढ़े हुए मूल्य इस प्रकार है :-

इफको ने कहा अभी पुराने दामों पर ही बेचा जायेगा खाद

IFFCO के तरफ से बताया गया है कि स्टॉक में पड़े 11.26 लाख मिट्रिक टन रासायनिक खाद को पुराने रेट पर ही बेचेगी | मूल्य में किसी भी प्रकार की वृद्धि अभी नहीं की गई है तथा जो बैग पर लिखा रहेगा किसान को उतनाही भुगतना करना होगा | इफको ने कहा है कि नई दरों के साथ जो मैटेरियल आ रहा है वो फिलहाल किसानों को नहीं बेचा जाएगा | इफको का कहना है कि पुराना स्टॉक खत्म होने तक कीमतें कम हो सकती है |

इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यू. एस. अवस्थी ने ट्वीट कर कहा है कि विनिर्माण संगठन होने के नाते हमें अपने संयंत्रों द्वारा प्रसंस्कृत नई सामग्री को प्रेषित करने के लिए बैगों पर मूल्य अंकित करना पड़ता है । पत्र में उल्लिखित मूल्य केवल बैगों पर दिखाने के लिए उद्धृत अस्थायी मूल्य है,जो अनिवार्य है |

कब से हो सकती है मूल्य में वृद्धि

अभी कब तक इफको के पास पुराना स्टॉक मौजूद है तब तक इफको के उर्वरकों की कीमत में वृद्धि नहीं की जाएगी परन्तु किसानों को नई पैकिंग आने पर बढे हुए दाम देखने को मिल सकते हैं | इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यू. एस. अवस्थी ने ट्वीट कर कहा है कि ‘इफको संगठन यह सुनिश्चित करता है कि बाजार में पुराने मूल्य पर पर्याप्त सामग्री उपलब्ध हों | इफको विपणन टीम को यह निर्देश दिया गया है कि किसानों को केवल पुराने मूल्ययुक्त पैकशुदा सामान ही बेचे जाएं | विनिर्माण संगठन होने के नाते हमें अपने संयंत्रों द्वारा प्रसंस्कृत नई सामग्री को प्रेषित करने के लिए बैगों पर मूल्य अंकित करना पड़ता है । पत्र में उल्लिखित मूल्य केवल बैगों पर दिखाने के लिए उद्धृत अस्थायी मूल्य है,जो अनिवार्य है।‌

यह भी पढ़ें   इस वर्ष से ऑनलाइन किया जाएगा समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का काम

2014 से अब तक इफको के DAP का मूल्य

केंद्र सरकार के स्वामित्व वाली कंपनी इफको ने मई 2013 से अब तक 8 बार मूल्य में वृद्धि या कमी की है | इसमें वर्ष 2016, 2019 तथा 2020 में बढे हुए मूल्य में कमी किया है | पूरा विवरण इस प्रकार है |  

क्र.
मूल्य वृद्धि वर्ष
रुपया प्रति बैग (50 किलोग्राम)

1.

मई 2013

1125

2.

अगस्त 2014

1130

3.

अप्रैल 2015

1141

4.

जुलाई 2016

1135

5.

जुलाई 2017

1040

6.

सितम्बर 2018

1290

7.

अक्तूबर 2019

1250

8.

सितम्बर 2020

1200

 

पिछला लेखराष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना के तहत अभी तक खर्च किये गए 1841.75 करोड़ रूपये
अगला लेख20 अप्रैल से शुरू होगी बिहार में समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना एवं मसूर की खरीदी

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.