मौसम चेतावनी: इन जगहों पर हो सकती है बारिश के साथ ओलावृष्टि

2
1867

आगामी 24 घंटें के लिए मौसम पुर्वानुमान

पिछले कुछ समय में बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानो की फसलों को काफी नुकसान हुआ है और किसानों के लिए बुरी खबर यह है की आने वालें दिनों में भी इस तरह की परिस्थिति बनी रहेगी | भारत के उत्तरी राज्यों में 1 बार फिर से बारिश एवं गरज चमक के साथ बौछारें गिरने की स्थिति बनी हुई हैं साथ ही इन राज्यों में कहीं – कहीं ओले गिरने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है |

आंध्र प्रदेश और इससे सटे ओडिशा तट पर बना हवाओं का चक्रवात के कारण देश के मध्य भागों में नमी बढ़ रही है। जिसके चलते मध्यभारत के राज्यों में बारिश एवं बादलों की आवाजाही बनी हुई है | आने वाले कुछ दिनों में भी उत्तरी भारत के राज्यों में यह स्थिति बने रहने का अनुमान भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने लह्गाया है | आने वाले दिनों में हरियाणा और उत्तर प्रदेश के साथ पंजाब, राजस्थान, झारखण्ड, बिहार, मध्यप्रदेश के अन्य क्षेत्रों में वर्षा की गतिविधियाँ देखने को मिलेंगी। बारिश के अलावा यहां बिजली के झटके और तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि की भी आशंका है।

यह भी पढ़ें   कोरोना वायरस के कारण गेहूं के पंजीयन एवं खरीदी प्रक्रिया की गई बंद

राजस्थान

उत्तरी राजस्थान के अलवर, बांसबाडा, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी चित्तोद्गढ़, दौसा, धौलपुर. जयपुर, झुंझुनू, करौली, कोटा, सवाई माधौपुर, झालावार, सीकर टोंक आदि जिलों में कहीं- कहीं तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि एवं बारिश हो सकती है | वहीँ पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, चुरू, हनुमानगढ़, श्री गंगानगर आदि जिलों में कहीं- कहीं तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि एवं बारिश हो सकती है |

पंजाब एवं हरियाणा

हरियाणा के सभी जिलों में 2 मार्च एवं 3 मार्च को सभी जिलों में कहीं- कहीं तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि एवं बारिश हो सकती है | वहीँ पंजाब के पठानकोट, गुरुदासपुर, अमृतसर, तरन-तरण, फिरोजपुर, फाजिल्का, फरीदकोट, मुक्तसर, मोगा भटिंडा, लुधियाना, बरनाला, मनसा, संग्नौर, फ़तेहगढ़ साहिब, पटियाला, सास नगर जिलों में में 2 मार्च एवं 3 मार्च को सभी जिलों में कहीं- कहीं तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि एवं बारिश हो सकती है |

मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश के जबलपुर, सागर, शहडोल, भोपाल, होशंगाबाद, चम्बल, एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में तथा बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, मंदसौर, छिंदवाडा, बलाघाट, नीमच, रीवा व सतना जिलों में कहीं- कहीं वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें गिरने की संभवना है |

यह भी पढ़ें   किसानों को दिए जाएंगे 5000 नए ट्यूबवेल कनेक्शन

चेतावनी : वहीँ ग्वालियर व चम्बल संभागों के जिलों में कहीं- कहीं ओले गिरने की सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता है |

उत्तरप्रदेश

पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकतम स्थानों पर वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है |

चेतावनी:- प्रदेश में एक-दो स्थानों वर्षा/गरज के साथ बौछारें पड़ने तथा ओलें गिरने की संभावना है|

बिहार एवं झारखण्ड

इन राज्यों में अभी मौसम विभाग के अनुसार 2 मार्च एवं 3 मार्च को प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में मौसम शुष्क रहेगा परन्तु उसके बाद यानि 4 मार्च से मौसम में परिवर्तन की उम्मीद है उस समय इन राज्यों में कहीं- कहीं वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें गिरने की संभवना है | साथ ही कहीं कहीं ओले भी गिर सटे हैं | हम आपको इअसके आगे के मौसम बुलेटिन में जानकारी देगें |

बारिश या ओले से फसल नुकसान हो तो बीमा क्लेम करने के लिए यहाँ संपर्क करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

Previous articleमात्र 37 हजार 320 रुपए में मिल रहा है खेती के लिए सोलर पम्प,आज ही करें आवेदन
Next articleअब किसानों के इन व्यावसायिक बैंकों से लिए गए कर्ज भी होगें माफ

2 COMMENTS

    • किस राज्य में सर सभी राज्यों में अलग अलग समय पर आवेदन लिए जातें हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here