1 सितम्बर से यहाँ दी जाएगी मशरूम उत्पादन के लिए ट्रेनिंग, अभी करें आवेदन

16888
mushroom production training

मशरूम उत्पादन के लिए प्रशिक्षण

कृषि के क्षेत्र में ऐसे कम ही उत्पाद हैं जो छोटी सी जगह या घर में अधिक उत्पादन और मुनाफा देते हैं | मशरूम इन उत्पादों में से एक है | पिछले कुछ वर्षों से मशरूम की खेती को सरकार द्वारा काफी बढ़ावा दिया जा रहा है क्योंकि यह किसानों की आमदनी बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है | किसानों को मशरूम उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार मशरूम की खेती पर सब्सिडी एवं प्रशिक्षण भी देती है |

नई तरह की फसल होने के कारण एवं अलग-अलग तरह के मशरूम के उत्पादन के लिए किसानों के लिए प्रशिक्षण लेना जरुरी हो जाता है ताकि किसान इसका उत्पादन बिना किसी नुकसान के कर सकें | साथ ही कृषि विश्वविद्यालयों एवं कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से किसानों मशरूम की खेती के लिए ट्रेनिंग के आलवा उसके विभिन्न उत्पाद तैयार करने के लिए भी प्रशिक्षण देती है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन के साथ ही उद्यम स्थापित किये जा सकें | प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी बिहार के समस्तीपुर में डॉ.राजेन्द्र प्रसाद विश्वविध्यालय की तरफ से किसानों को मशरूम के विभन्न विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है |

मेडिसिनल मशरूम खेती तकनीक पर दिया जायेगा प्रशिक्षण

पूसा के द्वारा किसानों को मशरूम पर कई प्रकार की ट्रेनिंग दिया जाता है | इस बार पूसा के द्वारा “एंटरप्रेन्योरशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम” तथा “मेडिसिनल मशरूम खेती तकनीक” पर दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   मूंग एवं मूंगफली खरीदेगी राजस्थान सरकार जाने क्या भाव मिलेगा किसानों को

आवेदन के लिए कितने सीटें तथा कब शुरू हो रहा है ?

सितम्बर माह में मशरूम पर दो प्रकार के प्रशिक्षण दिये जाएंगे | दोनों की प्रशिक्षण अवधि अलग–अलग है | जो इस प्रकार है:-

  • मेडिसिनल मशरूम खेती तकनीक पर 1 सितम्बर से 03 सितम्बर 2021 तक चलने वाली ट्रेनिग प्रोगाम के लिए 40 अभियार्थी का चयन किया जाएगा |
  • एंटरप्रेन्योरशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम 1 सितम्बर से 30 सितम्बर तक चलने वाले ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए 10 अभियार्थी का चयन किया जायेगा |

इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए “पहले आओ पहले पाओ” के सिद्धांत पर किया जायेगा |

प्रशिक्षण (Training) कब तककराये पंजीयन ?

इंटरप्रेनुअरशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम तथा मशरूम स्पान प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी पर प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए पंजीयन शुरू हो चुके है | यह पंजीयन 25 अगस्त 2021 तक किये जाएंगे | आवश्यक अभ्यर्थियों की संख्या पूर्ण होने तक ही आवेदन किये जा सकेंगे |

ट्रेनिंग के लिए कितना शुल्क देना होगा ?

सितम्बर माह में मशरूम पर दो प्रकार की ट्रेनिंग दी जा रही है | दोनों के लिए फीस अलग–अलग है जो इस प्रकार है | जहाँ एंटरप्रेन्योरशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए फीस 10,000 रुपये रखी गई है वहीँ मेडिसिनल मशरूम खेती तकनीक के लिए फीस 600 रुपये है | इसके अलवा प्रशिक्षण के लिए रहने तथा खाने के लिए अलग से शुल्क देना होगा या फिर आप खुद से व्यवस्था कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें   जानिए कब दी जाएगी मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना की प्रोत्साहन राशि

प्रशिक्षण हेतु पंजीयन कहाँ करवाएं

पंजीयन के लिए आवेदक डॉ. राजेन्द्र प्रसाद पूसा केन्द्रीय कृषि विश्वविध्यालय समस्तीपुर से सम्पर्क कर सकते हैं | कोई भी प्रतिभागी आवेदन करना चाहते हैं तो वह ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं | इसके लिए आवेदक को एक फार्म भरकर तथा ट्रेनिंग प्रोग्राम के अनुसार ऑनलाइन जमा करके फार्म को आनलाइन भेज दें |

इसके अतिरिक्त इच्छुक किसान भाई-बहन अपने जिले के कृषि विज्ञान केंद्र अथवा अपने राज्य के कृषि विश्वविद्यालय से भी मशरूम की ट्रेनिंग ले सकते हैं |

मशरूम ट्रेनिंग हेतु आवेदन फार्म डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

प्रशिक्षण हेतु Fees कहाँ जमा करवाएं ?

आवेदक इस पते पर डी.डी. बनवाकर राशि जमा कर सकते हैं किसान जो डीडी जमा किया जाते उसकी एक छायाप्रति अपने पास रखें |

  • खाता धारक का नाम – mushroom revolving fund
  • खाता संख्या – 4512002100001682
  • आई.एफ.एस.कोड. – PUNB0451200
  • बैंक का नाम – PUNJAB NATIONAL BANK, RAU PUSA BRANCH

यह फार्म डाउनलोड करके प्रिंट निकाल लें तथा हाथ से भरकर इस पर ई-मेल कर दें | दी गई मेल आईडी पर मेल कर सकते हैं [email protected]

पिछला लेखपाम की खेती के लिए सरकार किसानों देगी 29 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर का अनुदान
अगला लेखसब्सिडी पर अपने घरों पर सोलर पैनल लगवाना है तो 23 एवं 24 अगस्त को यहाँ जाएँ

4 COMMENTS

    • सर अपने ज़िले के कृषि विज्ञान केंद्र या ज़िले के उध्यनिकी विभाग से सम्पर्क करें https://kvk.icar.gov.in/KVK_selection_ddl.aspx पर कृषि विज्ञान केंद्र का पता देख सकते हैं |

    • सर अपने यहाँ मशरूम उत्पादन के लिए प्रशिक्षण हेतु जिले के कृषि विज्ञान केंद्र पर सम्पर्क करें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.