25.1 C
Bhopal
Wednesday, December 7, 2022

सरकार ने शुरू की टाल विकास योजना

सरकार ने शुरू की टाल विकास योजना

रबी फसल की बुआई शुरू हो गयी है | इस वर्ष रबी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा मिल रहा है | इसलिए किसानों में उत्साह बना हुआ है | रबी की पैदावार बढ़ाने के लिए सरकार हर सम्भव कोशिश कर रही है | क्योंकि भारत को जितनी दलहन की जरूरत है उतनी पैदावार नहीं हो पाती है | जिसके कारण भारत सरकार को दलहन का आयत करना पड़ता है | इसलिए सरकार ने टाल विकास योजना की शुरुआत की है |

योजना क्षेत्र

बिहार सरकार ने टाल क्षेत्र के 6 जिलों पटना, नालन्दा, भागलपुर, मुंगेर, लखीसराय एवं शेखपुरा के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की है | यह टाल क्षेत्र मुख्यत: मसूर की खेती के लिए प्रसिद्ध है | यह क्षेत्र 137481.96 हेक्टयर में फैला हुआ है | इतने बड़े भू-भाग को ध्यान में रखते हुये बिहार सरकार ने वर्ष 2018 – 19 में टाल विकास योजना कि शुरुआत किया है |

यह भी पढ़ें   छत पर फल-सब्जी एवं औषधीय पौधे लगाने के लिए सरकार दे रही सब्सिडी, अभी करें आवेदन

योजना क्या है 

- Advertisement -

इस योजना के लिए बिहार सरकार ने 89,88,444 रुपया आवंटित किया है | टाल क्षेत्र का आकार कटोरीनुमा होने के कारण बाढ़ अथवा वर्षा का पानी इस क्षेत्र से धीरे – धीरे निकल पाता है | साथ ही, इस क्षेत्र के किसानों को सितम्बर – अक्टूबर माह में खरपतवार जैसे मोठा, बड़ी दुधि, छोटी दुधि, हजार, अमरबेल की व्यापक समस्या का सामना करना पड़ता है | इसलिए इन खरपतवारों पर प्रारम्भिक अवस्था में ही नियंत्रण करना अनिवार्य है |

सरकार ने इसके लिए विभिन्न खरपतवारनाशी दवाओं के मूल्य का 50 प्रतिशत अधिकतम 500 रूपये प्रति हेक्टयर की दर से अनुदान उपलब्ध कराया जायेगा | इसके अलावा टाल क्षेत्र में दलहनी फसलों में प्राय: उखड़ा रोग एवं जाला कीट, फलीछेदक कीट से किसानों को काफी नुकसान होने की संभावना बनी रहती है , इनके समुचित प्रबंधन के लिए फफूंदनाशी एवं कीटनाशी दवाओं का 50 प्रतिशत अनुदान अधिकतम 500 रूपये प्रति हेक्टयर की दर से कृषकों को उपलब्ध कराया जायेगा | साथ ही इन क्षेत्रों के किसानों को जागरूक करने के लिए पर्याप्त संख्या में कृषक प्रक्षेप पाठशाला का भी आयोजन किया जायेगा | सभी कार्यों में जैविक कीटनाशक के प्रयोग को प्रोत्साहित किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   1 नवम्बर से शुरू होगी मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद, किसान इस दिन से करा सकेंगे ऑनलाइन पंजीयन

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की सरकार किसानों को लागत कम करना तथा आमदनी बढ़ाना है | जिससे किसान खुशाल रह सके | इसका एक उद्देश यह भी है की दलहन की जरूरत को पूरा किया जा सके|

दियारा विकास योजना

- Advertisement -

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

महिला किसानों को फ्री में दिया जा रहे हैं उन्नत किस्मों के बीज, इस तरह ले सकते हैं लाभ 

महिलाओं को निःशुल्क उन्नत बीजों का वितरणकिसानों की आय बढ़ाने के साथ ही फसलों का उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा किसानों...

कृषि विश्वविद्यालय ने विकसित की तीसी की नई उन्नत किस्म, अन्य किस्मों से इस तरह है बेहतर

तीसी की नई उन्नत किस्म बिरसा तीसी-2देश में विभिन्न फसलों का उत्पादन एवं उत्पादकता बढ़ाने के लिए कृषि विश्वविद्यालयों के द्वारा विभिन्न फसलों की...

किसानों को जल्द किया जाएगा 811 करोड़ रुपए के फसल बीमा दावों का भुगतान

फसल बीमा योजना के तहत क्लेम का भुगतानदेश में किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से...

Get in Touch

217,837FansLike
823FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe

Latest Posts

ऐप खोलें