आज इन किसानों के बैंक खातों में दी जाएगी कर्ज माफी की राशि

2
4427

81 तहसीलों के 5 लाख किसानों के माफ होगा 2257 करोड़ के ऋण

जय किसान फसल ऋण माफ़ी योजना के अंतर्गत किसानों को रोज कर्ज माफी प्रमाण पत्र देने हेतु लगातार कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं | अभी तक लाखों किसानों के बैंक खाते में कर्ज माफी की राशि पहुँच चुकी है | उसी कड़ी में प्रदेश की 81 तहसीलों में 27 फरवरी को जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अन्तर्गत किसान सम्मेलन होंगे।

सम्मेलन में 5 लाख 76 हजार किसानों के 2257 करोड़ के ऋण माफ किये जायेंगे। प्रदेश की 116 तहसीलों में 22 से 26 फरवरी तक किसान सम्मेलन हो चुके हैं। तहसीलों 27 फरवरी को हो रहे सम्मेलन में लाभांवित में किसानों को मिलाकर 13 लाख 12 हजार किसानों के 5180 करोड़ रूपये के फसल ऋण माफ हो जाएंगे। प्रदेश आगामी 3 मार्च तक 25 लाख 49 हजार किसानों के 10 हजार 123 करोड़ रूपये के फसल ऋण माफ होंगे।

यह भी पढ़ें   प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राफेल हेलिकाप्टर से भी ज्यादा बड़ा घोटाला है: पी. साईनाथान

इन तहसील में होंगे किसान सम्मेलन

जय किसान फसल ऋण माफी योजना के किसान सम्मेलन 27 फरवरी को कराहल, जयसिंह नगर, मोमन बड़ौदिया, शुजालपुर, कुक्षी, खरगोन, झिरन्या, महू, देपालपुर, बालाघाट, परसवाड़ा, पानसेमल, निवाली, मुलताई, भीमपुर, शाहपुर, बहोरीबंद, निवास, नारायणगंज, मंदसौर, दलोदा, सीतामउ, मल्हारगढ़, भिण्ड, अटेर, गोरमी, लहार, मौ, करैरा, नरवर, देवसर, लखनादौन, छपारा, बजाग, अमरवाड़ा, चौरई, परासिया, मोहखेड़, सिरोंज तहसीलों में कर्ज माफ़ी प्रमाण पत्र दिए जायेगें |

शमशाबाद, बाबई, पिपरिया, वनखेड़ी, सोहागपुर, देवेन्द्रनगर, गुनौर, अजयगढ़, हुजूर, गुढ़, नईगढ़ी, राजगढ़, खुजनेर, जावरा, पिपलौदा, ताल, सिहावल, बहरी, श्यामपुर, रेहटी, रघुराजनगर नगरीय, रामनगर, करकेली, बटियागढ़, इन्दरगढ़, भाण्डेर, घुवारा, कन्नौद, सतवास, खातेगाँव, सिहोरा, पाटन, गाडरवाड़ा, खरगापुर, जतारा, ओरछा, अशोकनगर, बड़ौद, अनूपपुर, चन्दशेखर आजाद नगर, ग्वालियर, आरोन तहसील में होंगे।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

  1. Honey ki rate ke bare me bataye beekeeper pareshan hai isliye madhumakhi palan khatm hone ki kagar par hai

    • अपने यहाँ के उद्यानिकी विभाग या जिला कृषि विभाग में सम्पर्क करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here