इस वर्ष इफ्को के यूरिया खाद (उर्वरक) में हुआ यह परिवर्तन

1

इस वर्ष इफ्को के यूरिया खाद (उर्वरक) में हुआ यह परिवर्तन

किसान भाई जब आप सोसायटी या ब्लाक में यूरिया (नीम कोटेड यूरिया) खरीदने जा रहें है तो  यूरिया बैग देखकर चौक जाएंगे | क्योंकि इफ्को यूरिया के बैग पर वजन तथा मूल्य दोनों अलग रहेगा | खरीफ फसल में जो उर्वरक का इस्तेमाल करते हैं तो यह जानकरी आपके काम आएगी | वर्ष 2018 से नीम कोटेड यूरिया अब एक बैग में 50 किलोग्राम की जगह 45 किलोग्राम में आएगा | यह  जनवरी 2018 से लागु कर दिया गया है | केंद्र सरकार के इस फैसले ने प्रति बैग 5 किलोग्राम कम कर दिया गया है | इस मुद्दे पर IFFCO का कहना है की इससे किसान अपने खेत में उरिया का प्रयोग कम कर सकते हैं | जिससे भूमि की उर्वरा क्षमता का ह्रास कम होगा | इसके जगह किसान अपने खेतों में जैविक खाद का प्रयोग ज्यादा करेंगे |

IFFCO के यूरिया उर्वरक वर्ष 2018 से पहले  295 रु. में आता था | अब यूरिया उर्वरक 266 रु. में आएगा | यह मूल्य बैग पर लिखा रहेगा | तथा पुरे देश में एक सामान मूल्य निर्धारण किया गया है |

यह भी पढ़ें   इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा जारी की गई फसलों की पांच नई किस्में

एन.पी.के. – 1 (10:16:26) का मूल्य 1160 रु., एन.पी.के. – 2 (12:32:16) का मूल्य 1175 रु., एन.पी. (20:20:013)का मूल्य 950 रु., डी.ए.पी. (18:46:00) का मूल्य 1290 रु. रहेगा तथा  किसी  वजन में कमी नहीं किया गया है | यह पहले की तरह 50 किलोग्राम का बैग रहेगा |

खाद (उर्वरक ) खरीदते समय किसान भाई इन बातों का ध्यान रखें –
  1. उर्वरक बैग पर फर्टिलाईजर, बायोफर्टीलाईजर, ओर्गेनिक फर्टीलाईजर या नॉन-एडीबल, डी-ओइल्ड केक फर्टीलाइजर जैसे शब्द लिखे होते हैं, अगर यह शब्द न लिखे हों तो ऐसी बैग न खरीदे।
  2. अगर, बीज, कीटनाशक या उर्वरक की गुणवत्ता मे कोई संदेह हो तो नजदीकी ग्राम सेवक, विस्तरण अधिकारी (कृषि), कृषि अधिकारी का या कृषि नियामक (विस्तरण) के कार्यालय से संपर्क करें।
  3. खरीद की वस्तु का पक्का बिल लें, बिल में लाइसेन्स नंबर, पूरा नाम, पता और हस्ताक्षर होने चाहिए। बिल मे उत्पाद का नाम, लॉट नंबर, बेन्च नंबर, और दिनांक दर्शाया गया हो उससे वस्तु के साथ मिला के देखें |
यह भी पढ़ें   अगर आप लोन लेकर बकरी पालन करना चाहते हैं तो जरुर पढ़े |

नोट:- यदि आप उर्वरक सोसाइटी से लेते हैं एवं फसल बीमा वहीँ से किया जाता है तो आपको अतिरिक्त रुपये देने होंगे |

Previous articleइस राज्य में पंचायत स्तर पर नि:शुल्क बीज दिए जा रहे हैं
Next articleअब सिंचाई उपकरण 35 प्रतिशत अतिरिक्त सब्सिडी के साथ प्राप्त करें

1 COMMENT

  1. मूंग की फसल में यूरिया खाद किस हिसाब से दिया जाए जिससे जमीन की उर्वरता ख़त्म ना हो और फसल में भी फायदा हो ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here