18 लाख से अधिक किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर की गई 1500 करोड़ रूपए की तीसरी किश्त

0
14325
kisan nyaya yojna third kisht

किसान न्याय योजना की 1500 करोड़ रुपये की तीसरी किश्त

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से किसानों के बैंक खातों में सीधे सहायता राशि देने की शुरुआत की गई थी | इस योजना के तहत देशभर के किसान परिवारों को 6 हजार रुपये तीन किश्तों में दिए जाते हैं | पीएम-किसान सामान निधि योजना की तर्ज पर कई राज्यों में किसान फसल उत्पादन के लिये आवश्यक आदान जैसे उन्नत बीज, उर्वरक, कीटनाशक, यांत्रिकीकरण एवं नवीन कृषि तकनिकी जैसी चीजों में निवेश कर सके | कई राज्य सरकारों ने भी किसानों के हाथों में सीधे पैसे देने के लिए योजनाओं की शुरुआत की गई है | छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने फसल उत्पदान में लगने वाली लागत में किसानों को राहत देने के लिये राज्य शासन द्वारा कृषि आदान सहायता हेतु “राजीव गांधी किसान न्याय योजना” की शुरुआत की गई है |

18 लाख से अधिक किसानों ट्रांसफर की गई 1500 करोड़ रुपये की किश्त

1 नवम्बर 2020 को छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के मौके पर लोकसभा सांसद श्री राहुल गांधी की वर्चुअल उपस्थिति में राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के तहत छत्तीसगढ़ राज्य के करीब 18 लाख 38 हजार 592 किसानों के बैंक खाते में 1500 करोड़ रूपये की राशि तीसरी किश्त के रूप में ट्रांसफर की गई | प्रथम और द्वितीय किश्त की राशि के रूप में 1500-1500 करोड़ रूपए, कुल 3 हजार करोड़ रूपए का भुगतान किसानों के बैंक खाते में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डी.बी.टी.) के माध्यम से पहले किया जा चुका है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना में चार किश्तों में किसानों को 5,750 करोड़ रूपए का भुगतान किया जाना है |

यह भी पढ़ें   वर्ष भर हरे चारे के लिए करें रिजका की खेती

संभाग के अनुसार किसानों को दी गई राशि

किसान न्याय योजना के अंतर्गत रायपुर संभाग के 5 लाख 60 हजार 794 किसानों के खाते में तृतीय किश्त के रूप में कुल 463 करोड़ 86 लाख रूपए की राशि, दुर्ग संभाग के 5 लाख 57 हजार 303 किसानों के खाते में 428 करोड़ 13 लाख रूपए की राशि, बिलासपुर संभाग के 4 लाख 56 हजार 100 किसानों के खाते में 391 करोड़ 63 लाख रूपए, सरगुजा संभाग के एक लाख 19 हजार 531 किसानों के खाते में 104 करोड़ 50 लाख रूपए और बस्तर संभाग के एक लाख 44 हजार 864 किसानों के खाते में 111 करोड़ 88 लाख रूपए की राशि का अंतरण तृतीय किश्त के रूप में दी गई ।

उल्लेखनीय है की राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत धान, मक्का और गन्ना उत्पादक किसानों को आदान सहायता दी जा रही है। इस योजना से लाभान्वित होने वाले किसानों में 9 लाख 55 हजार 531 सीमांत कृषक, 5 लाख 61 हजार 523 लघु कृषक और 3 लाख 21 हजार 538 दीर्घ कृषक हैं। इस योजना का क्रियान्वयन खरीफ 2019 से प्रारंभ किया गया है। आने वाले समय में इस योजना में खरीफ मौसम में सोयाबीन, मूंगफली, तिल, अरहर, मूंग, उड़द, कुल्थी, रामतिल, कोदो, कुटकी उत्पादक किसानों को शामिल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें   असिंचित क्षेत्रों में गेहूं की यह किस्में लगाकर इस तरह करें गेहूं की उन्नत खेती

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here