राज्य सरकार ने MSP पर गेहूं खरीदी का लक्ष्य 1 लाख टन से बढ़ाकर किया 7 लाख टन

0
msp gehun kharidi bihar

MSP पर गेहूं खरीदी का लक्ष्य बढाकर किया गया 7 लाख टन

बिहार में चल रही गेहूं की सरकारी खरीदी को लेकर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक हुई | इस बैठक में वर्ष 2020–21 के रबी सीजन में किये जा रहे गेहूं खरीद को लेकर कई बड़े निर्देश दिये हैं | मुख्यमंत्री ने कहा की प्रदेश में गेहूं का उत्पादन इस वर्ष अच्छा हुआ है, इसलिए गेहूं की ज्यादा से ज्यादा सरकारी खरीदी की जाए | पैक्स के माध्यम से किये जा रहे गेहूं की खरीदी की डेट बढ़ाने तथा गेहूं खरीदी का लक्ष्य बढ़ाने का भी निर्देश दिये हैं |

31 मई तक की जाएगी गेहूं की सरकारी खरीद

बिहार के मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक के बाद निर्देश दिये हैं कि गेहूं की खरीदी 31 मई तक की जाये | जिससे राज्य के ज्यादा से ज्यादा किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ प्राप्त कर सके |

राज्य में गेहूं खरीदी का लक्ष्य क्या है ?

गेहूं की सरकारी खरीदी के लिए पहले 1 लाख टन का लक्ष्य रखा गया था जिसे मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठ के बाद लक्ष्य को बढ़ा दिया है | उन्होंने राज्य में गेहूं की सरकारी खरीदी 1 लाख टन से बढ़कर 7 लाख टन कर दी है  | इस बढे हुए लक्ष्य से राज्य के किसानों को ज्यादा से जायदा लाभ मिलेगा |

यह भी पढ़ें   ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर कृषि यंत्र सब्सिडी पर लेने के लिए आवेदन करें

एक किसान अधिकतम कितना गेहूं बेच सकता है ?

बिहार में गेहूं बेचने के लिए प्रति किसान सीमा तय की गई है | इस तय सीमा के अंतर्गत ही किसान गेहूं को पैक्स में बेच सकते हैं | जिस किसान के पास खुद की भूमि है और वह अपनी भूमि पर गेहूं की खेती कर रहे हैं तो वैसे किसान पैक्स के माध्यम से 150 क्विंटल गेहूं न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेच सकते हैं | जबकि लीज या बटाई पर खेती करने वाले किसान पैक्स के माध्यम से 50 क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेच सकते हैं |

कितने केन्द्रों पर गेहूं की खरीदी किया जा रहा है ?

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी राज्य के सभी जिलों में सरकारी एजेंसियों के द्वारा की जा रही है | पैक्स ने इस वर्ष गेहूं खरीदी के लिए 6400 खरीदी केंद्र बनाएं हैं | इन सभी खरीदी केन्द्रों पर 20 अप्रैल से गेहूं की खरीदी का कार्य किया जा रहा है |

यह भी पढ़ें   इस राज्य में पशुओं का आधार कार्ड (टैगिंग) के लिए शुरू हुए पंजीकरण

किसान अपने साथ यह कागज लेकर जाएं

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर पैक्स के माध्यम से गेहूं बेचने के लिए राज्य सरकार ने किसानों के लिए कुछ दस्तावेज मांगे हैं | किसान को गेहूं बेचने के लिए यह सभी दस्तावेज साथ लेकर जाना होगा |

  • फोटो पहचान पत्र (आधार कार्ड / वोटर पहचान पत्र)
  • बैंक पास बुक की छाया प्रति
  • भूमि संबंधित दस्तावेज

किसी भी समस्या के लिए इस नंबर पर फोन करें

बिहार सरकार ने राज्य के किसानों के लिए दो हेल्पलाईन नंबर जारी किये है | किसान गेहूं की सरकारी खरीद की जानकारी एवं समस्या के समाधान के लिए इन नम्बर पर कॉल कर सकते हैं |

  • 0612-2200693
  • 1800-345-6290

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here