समय पर ऋण जमा कराने वाले किसानों को भी कर्जमाफी का लाभ दिया जायेगा – सहकारिता मंत्री

3
2382
views

समय पर ऋण जमा कराने वाले किसानों को भी कर्जमाफी का लाभ दिया जायेगा – सहकारिता मंत्री

सहकारिता मंत्री ने शुक्रवार को राज्य विधानसभा में स्पष्ट किया कि बजट घोषणा में की गई कर्जमाफी से राज्य के उन किसानों को भी फायदा मिलेगा, जिन्होंने समय पर अपना अल्पकालीन फसली ऋण जमा करवाया है।

सहकारिता मंत्री सदन ने आपने वक्तव्य में कहा कि यह पहली बार है जब समय पर ऋण जमा कराने वाले किसानों को भी कर्जमाफी के दायरे में लाभ दिया है जबकि यूपीए सरकार के समय कर्जमाफी से केवल डिफॉल्टर श्रेणी के किसानों को ही फायदा मिला था। उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह किसानों के प्रति संवेदनशील है और मुख्यमंत्री श्रीमती वंसुधरा राजे ने साहसिक एवं ऎतिहासिक कदम उठाया है और इससे किसानों को सही रूप में लाभ मिलेगा।

सहकारिता मंत्री ने कहा कि केन्द्रीय सहकारी बैंको से जुडे़ जिन किसानों ने दो या तीन वर्ष पूर्व अल्पकालीन ऋण लिया था, और जो 30 सितम्बर, 2017 तक ऑवरडयू श्रेणी में आ गया था,  उसका ब्याज एवं शास्तियां माफ होगी एवं उस ऋण को ऑउटस्टेडिंग श्रेणी लाकर कर्जमाफी का लाभ दिया जावेगा। उन्होंने बताया कि जिन किसानों का अल्पकालीन फसली ऋण 30 सितम्बर, 2017 तक ऑउटस्टेडिंग में है उनको भी 50 हजार रूपये तक की कर्ज माफी मिलेगी।

यह भी पढ़ें   राजस्थान के किसानों को 7 फरवरी से मिलेगा ऋण माफी का प्रमाण पत्र

अन्तर्विभागीय समिति पहली बैठक 28 फरवरी को 

श्री किलक ने बताया कि बजट भाषण में राजस्थान राज्य कृषक ऋण राहत आयोग के गठन की घोषणा की थी और इसके क्रम में एक उच्च स्तरीय अन्तर्विभागीय समिति का गठन गृह मंत्री श्री गुलाबचन्द कटारिया की अध्यक्षता में कर दिया गया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह समिति राजस्थान राज्य कृषक ऋण राहत आयोग के दायरे में आने वाले कृषकों की श्रेणियों का वर्गीकरण या निर्धारण, प्रदान की जाने वाली राहत की सीमा, प्रकार एवं प्रक्रिया का निर्धारण और अगर गैर सहकारी बैंक अथवा अन्य बैंकों को आयोग के दायरे में शामिल किया जाना है तो उनको शामिल किये जाने की शर्तो का निर्धारण करेगी। इसके अलावा अन्य बिन्दु अध्यक्ष की अनुमति से लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि समिति की पहली बैठक 28 फरवरी को आयोजित की जाएगी।

उन्होंने बताया कि कर्जमाफी की घोषणा से सीकर जिले के एक लाख 7 हजार 452 किसानों को 465.5 करोड़ रुपये, बांसवाडा जिले के 1 लाख 5 हजार 683 किसानों को 264.4 करोड़ रुपये, भीलवाड़ा जिले के  एक लाख 6 हजार 71 किसानों को 340.6 करोड़ रूपये, चित्तोडगढ़ जिले के 88 हजार 97 किसानों को 341.30 करोड़ रूपये, चूरू जिले के 78 हजार 284 किसानों को 185.6 करोड़ रुपये, दौसा जिले के 92 हजार 856 किसानों को 272.40 करोड़ रूपये, जयपुर जिले के 96 हजार 136 किसानों को 264.80 करोड़ रुपये, बीकानेर जिले के 13 हजार 567 किसानों को 56.86 करोड़ रूपये, झून्झूनूं जिले के एक लाख 18 हजार 541 किसानों को 492.50 करोड़ रुपये एवं जोधपुर जिले के 1 लाख 34 हजार 915 किसानों को 544.20 करोड़ रुपये के कर्ज माफ होंगे।

यह भी पढ़ें   सौर सुजला योजना : मामूली दर पर किसानों के खेतों में लग रहे हैं सोलर सिंचाई पंप

3 COMMENTS

  1. राजस्थान सरकार को चाहिए की( 1)कजँमाफी फरवरी माचँतक होनी चाहीए थी(2).30/50बिघा तक होनी चाहीए थी कयोकी राज मे लगभग सभी के पास 30/40बिघा जमीन से उपर है(.3.)माचँमे जो भी कीसान कजँ भरता है उसको 50+10/20/30हजार का सहयोग राशी देनी चाहीए .4)सभी कीसानो का कजँ माफ होना चाहीए.5) कजँ कब लिया हूआ है 2/4/6/8/10महीना या 1/2/3साल पहले ये सतँ नही होनी चाहीये . तभी कीसानो का भला होगा. शैलेन्दरसिह फूगनी सिरोही राजस्थान

  2. उदारण=मैं एक किसान सोसायटी से 100000एक लाख का कजॉ लिया है मेरी जमीन 30/50बिघा है और अपेरल मई 2017 मे कजँ निकाला है.माचँ2018 को सम्पूणँ कजँ भर लेता हू तो ऐसे कीसानो के लिए विस्तार से बताए कितना फायदा होगा उस कीसान को. ……किसाान हित मे. शैलेन्दरसिह फूगणी सिरोही राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here