back to top
28.6 C
Bhopal
मंगलवार, जुलाई 23, 2024
होमफसलों में कीट एवं रोगकीटनाशक पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी लेकर करें सेमीलूपर कीट पर...

कीटनाशक पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी लेकर करें सेमीलूपर कीट पर नियंत्रण

सेमीलूपर कीट नियंत्रण के लिए कीटनाशक दवा पर अनुदान

रबी फसल का मौसम चल रहा है | कहीं पर फसल की बुआई कर दिया गया है तो कही पर बुआई चल रहा है | इस मौसम में तापमान तेजी बढ़ता और घटता है जिसके कारण फसल पर कीट एवं रोग का प्रकोप बना रहता है | इसको लेकर किसान को सावधान रहने की जरूरत है | अभी राजस्थान के कुछ जिलों में सेमिलूपर कीट का आतंक बना हुआ है | जिससे फसल पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है | इसकी रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने कीटनाशक का नाम सुझाया है तथा इस पर सब्सिडी भी दे रही है | किसान समाधान इसकी पूरी जानकारी लेकर आया है |

कहाँ पर तथा किस फसल पर कीट का प्रकोप है ?

अभी ताजा मामला राजस्थान का है जहाँ राज्य के जालौर , पाली और सिरोही  जिलों में सेमिलूपर कीट अरण्डी फसल को नुकसान पहुंचा रहा है | यह कीट तेजी से फसल पर फैलता भी है जिससे दिन प्रतिदिन फसल को ज्यादा नुकसान पहुंचता है |

यह भी पढ़ें   पौधों को जमीन के पास से काटकर नुकसान पहुंचाता है कटुआ कीट, किसान ऐसे करें इसका नियंत्रण

इस कीट को इन कीटनाशक से नियंत्रित करें ?

इस कीट से फसल को बचाने के लिए किसान को मोनोक्रोटोफास 36 प्रतिशत एसएल, डाइमेंथोएट 30 प्रतिशत ईसी, एसिफेड 75 प्रतिशत डब्ल्यूपी, प्रोफेनोफास 50 प्रतिशत ई.सी., किनालफास 25 प्रतिशत ई.सी. आदि का प्रयोग करें | यह सभी कीटनाशक राज्य सरकार के तरफ जाँच की हुई है | यानि यह कीटनाशक इस कीट के लिए सबसे उपयुक्त हैं |

सरकार इन कीटनाशक दवाओं पे कितनी सब्सिडी दे रही है ?

राज्य सरकार ऊपर दिए गए कीटनाशक पर सब्सिडी दे रही है | इसके लिए राज्य सरकार के तरफ से कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने बताया है कि इन सभी कीटनाशकों पर 50 फीसदी अथवा 500 रूपये प्रति हेक्टेयर जो भी कम हो के अनुसार अनुदान दिया जा रहा है |

किसान अनुदान कहाँ से प्राप्त कर सकता है ?

कृषि मंत्री ने बताया है कि किसान अनुदान प्राप्त करने के लिए संबंधित जिले के कृषि पर्यवेक्षक एवं सहायक कृषि अधिकारी की विभागीय सिफारिश के अनुसार नजदीकी जीएसएस या केवीएसएस से पौध संरक्षण योजना के तहत प्राप्त कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें   किसान इस तरह करें सफेद लट कीट का नियंत्रण

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर