टाल क्षेत्र में कीट – व्याधि के नियंत्रण हेतु 365 लाख रूपये की योजना स्वीकृत

0
233
views

टाल क्षेत्र में कीट – व्याधि के नियंत्रण हेतु 365 लाख रूपये की योजना स्वीकृत

टाल क्षेत्र अंतर्गत किसानों से प्राप्त सूचना के आलोक में मसूर, खेसारी, मटर, सरसों आदि | फसलों में लगे कीट व्याधि का विभाग द्वारा गठित 5 सदस्यीय सर्वेक्षण टीम के प्रतिवेदन एवं कृषि विज्ञान केंद्र, बाढ़ के पौधा संरक्षण वैज्ञानिक की अनुशंसा के आलोक में आकस्मिक कीट व्याधि नियंत्रण हेतु पटना जिला के अंतर्गत मोकामा टाल के गायघाट, सिंधिया, खनुआ, चाराडीह, डोमना आदि के कुल प्रभावित लगभग 20,055 हेक्टयर क्षेत्रों में मसूर, खेसारी, मात्र सरसों आदि फसलों में लगे कीट व्याधि के नियंत्रण हेतु विशेष कार्यक्रम चलाये जाने का निर्णय लिया गया |

इसके लिए सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2018 -19 में टाल क्षेत्रों में 365 लाख रूपये की लागत से आकस्मिक कीट व्याधि नियंत्रण योजना का कार्यान्वय की स्वीकृति प्रदान करते हुए राशि भी आवंटित कर दी गई है |

कीट व्याधि नियंत्रण योजना

टाल क्षेत्र में आकस्मिक कीट व्याधि नियंत्रण योजना वर्ष 2018 – 19 के अंतर्गत पटना जिला के टाल में दलहनी फसलों पर विशेषकर मसूर एवं मटर के जाल कीटों तथा जीवाणु जनित रोग के प्रबंधन हेतु रासायनिक / जैव कीटनाशी, जीवाणुनाशी एवं फफूंदनाशी 50 प्रतिशत कृषकों के बीज फफूंदनाशी जीवाणुनाशी एवं कीटनाशी के कुल लागत मूल्य के 50 प्रतिशत अधिकतम निर्धारित अनुदान की राशि घटाकर कृषकों को चयनित आपूर्तिकर्ताओं द्वारा बिक्री की जायेगी |

यह भी पढ़ें   मध्यप्रदेश में किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा ऋण

टाल क्षेत्र कटोरेनुमा होने के कारण वर्षा का पानी वहां से धीरे – धीरे हटता है | इस वर्षा एवं टाल क्षेत्र में जल भराव नहीं होने के कारण मिट्टी में नमी की कमी हो गई है, जिसके फलस्वरूप फसल बोआई के आरम्भिक अवस्था में ही जाला कीट एवं जीवाणु जनित रोग की समस्या उत्पन हो गई है | इसके फैलाव को प्राम्भिक अवस्था में ही नियंत्रित करने हेतु प्रभावित कृषकों के बीच फफूंदनाशी, जीवाणुनाशी एवं कीटनाशी रसायन पर अनुदान दिया जायेगा | इस योजना के कार्यान्वयन से कीट – व्याधि नियंत्रित होगी एवं दलहन की उत्पादकता में वृद्धि होगी |

दियारा विकास योजना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here