अन्न भण्डारण के लिए 9 लाख से 3.31 करोड़ रुपये तक की सब्सिडी

अन्न भण्डारण के लिए 9 लाख से 3.31 करोड़ रुपये तक की सब्सिडी

किसान भाई – बहन कड़ी मेहनत करके विभिन्न फसलों का उत्पादन तो कर लेते हैं, परन्तु उनके पास भंडारण की उचित सुविधा नहीं होने के कारण वे अपनी उपज को औने – पौने दाम में बेचने को मजबूर हो जाते हैं | अगर वे अनाजों को अपने घर में ठीक से कहीं रखते हैं तो उनमें चूहों के खाने एवं अन्य कीट लगने से काफी नुकसान होता है | इस प्रकार, किसान भईयों एवं बहनों को आर्थिक क्षति झेलनी पड़ती है | सरकार द्वारा किसानों के इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखते हुये अन्न भंडारण हेतु कोठिला एवं गोदाम निर्माण के लिए अनुदान देने का प्रवधान किया गया है |

राज्य सरकारें इस योजना में राज्यनुसार अलग-अलग मात्रा में अनुदान देती है | अन्न भंडारण योजना केंद्र सरकार के द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत चलाई जा रही है| इस योजना का क्रियान्वन उद्यानिकी विभाग एवं कृषि विभाग द्वारा राज्यनुसार किया जाता है | सभी राज्यों के किसान इस योजना का लाभ ले सकते है | अभीकिसान समाधान मध्यप्रदेश एवं बिहार में इस योजना के विषय  में जानकारी दे रहे हैं साथ ही सम्पूर्ण योजना जानने के लिए इस लेख के नीचे लिंक दी गई है |

बिहार के किसानों के लिए

- Advertisement -

बिहार सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2018 –19 में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की योजना हरित क्रांति योजना के अंतर्गत गोदाम निर्माण की स्वीकृति दी गई है | ग्रामीण स्तर पर अनाजों के सुरक्षित भंडारण तथा कृषि आधारित उधामिता के विकास एवं विपणन सहायता के लिए भंडारण की सुविधा हेतु गोदाम निर्माण की योजना लाई गई है | 200 में. टन धारित वाले गोदाम के निर्माण करने पर सामान्य वर्ग के किसानों को अधिकतम 5 लाख रु. प्रति इकाई अथवा लागत का 50 प्रतिशत जो कम हो तथा अनुसूचित जाती वाले किसानों को लागत का 75 प्रतिशत जो कम हो अनुदान देने की व्यवस्था की गई है |

लक्ष्य एवं जिले

इस वित्तीय वर्ष में गोदाम निर्माण का भौतिक लक्ष्य 59 एवं वित्तीय लक्ष्य 3.31 करोड़ रु. निर्धरित किया गया है | यह योजना राज्य के 23 जिले अरवल, औरंगाबाद, बांका, बेगुसराय, भागलपुर, भोजपुर, बक्सर, गया, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, खगड़िया, लखीसराय, मुंगेर, नालन्दा, नवादा, पटना, रोहतास, सारण, शेखपुरा, शिवहर, वैशाली एवं प. चम्बरण में लागु है |

धातु कोठिला पर अनुदान

- Advertisement -

सरकार ने छोटे किसानों के अन्न भंडारण के लिए धातु कोठिला काफी उपयोगी है | वर्ष 2018 – 19 में 5 किवंटल क्षमता के एक धातु कोठिला के लिए प्राक्कलित राशि 2,225 रु. निर्धारित है | सामान्य वर्ग के किसानों को इसके लागत मूल्य का 40 प्रतिशत अनुदान अधिकत्तम 890 रु. प्रति इकाई एवं अनुसूचित जनजातिय के किसानों को लागत मूल्य का 56 प्रतिशत अनुदान अधिकतम 1,246 रु. दिया जाता है | इस वित्तीय वर्ष में 26,724 धातु कोठिला पर 2.50 करोड़ रु. अनुदान दिया जायेगा | अब किसानों द्वारा अन्न का भण्डारण करने से उन्हें अनाज का सही दम मिलेगा , जिससे किसानों की आमदनी बढेगी और वे खुशहाल होंगे |

मध्यप्रदेश में यह योजना उद्यानिकी विभाग के द्वारा चलाई जा रही है | इच्छुक किसान इस योजना का लाभ लेने के लिए क्लिक करें | सभी राज्यों के किसान इस योजना का लाभ लेने के लिए अपने जिले के उद्यानिकी विभाग में संपर्क करें |

ग्रामीण गोदाम योजना 
कृषि विपणन योजनायें 
राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें 

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

Stay Connected

217,837FansLike
830FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

ऐप खोलें