1 करोड़ रूपये तक का लोन और 44 प्रतिशत सब्सिडी लेकर शुरू करें एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र

5
49211
views

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र योजना की जानकारी

फसलों एवं पशुओं की उत्पादकता को बढ़ाने और किसानों की आय को बढ़ाने के लिए विभिन्न पहलुओं पर किसानों को विशेषज्ञों की सलाह प्रदान करने के उद्देश्य से कृषि क्लीनिकों की परिकल्पना की गई थी | जिससे सभी किसानों को आसानी से उसके घर के नजदीक ही सहायता मिल सके | जैसे की मृदा स्वास्थ्य, फसल पद्धति, पौधे की सुरक्षा, उपज के पश्चात तकनीकी, ,पशुओं के लिए उपचार सुविधाएं, खाद्य और चारा प्रबंधन, विभिन्न फसलों का बाज़ार में मूल्य (भाव), इत्यादि की जानकारी आसानी से किसानों को दी जा सके | साथ ही यह योजना रोजगार सृजन में में भी सहायक है | इन सभी बातों को देखते हुए एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र योजना की शुरुआत की गई है |

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र योजना क्या है ?

कृषि के क्षेत्र में उद्यमिता विकास को बढ़ावा देने के लिए एक विशेष पहल करते हुए कृषि स्नातकों एवं कृषि संकाय से हायर सेकण्ड्री उत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए कृषि क्लिनिक तथा कृषि व्यवसाय केन्द्र (ए.सी. एण्ड ए.बी.सी.) योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना के तहत कृषि क्लिनिक एवं कृषि व्यवसाय केन्द्रों के स्थापना के इच्छुक उद्यमियों को 45 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण दिया जाता है | इसके लिए सभी राज्यों में ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट की स्थापना की गई है | इसके लिए सरकार के कृषि मंत्रालय के संगठन राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंध संस्थान (मैनेज) हैदराबाद के साथ अनुबंध किया है। प्रशिक्षण प्राप्त उद्यमियों को कृषि क्लिनिक एवं कृषि व्यवसाय केन्द्र स्थापित करने के लिए राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड द्वारा 20 लाख रूपये का व्यक्तिगत ऋण तथा 1 करोड़ रूपये तक समूह ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। उद्यमियों को ऋण पर परियोजना लागत का 36 से 44 प्रतिशत अनुदान भी दिया जाता है |

यह भी पढ़ें   सीताफल की खेती से किसान कर सकते हैं लाखों की कमाई

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र स्थापना के लिए प्रशिक्षण

इस योजना के तहत जो भी इच्छुक व्यक्ति है उसे पहले 45 दिन का प्रशिक्षण लेना होता है | इसके लिए सभी राज्यों में कई केन्द्रों की स्थापना की गई गई है | किसान भाई यह केंद्र की जानकारी http://www.acabcmis.gov.in/Institute.aspx दी गई लिंक पर देख सकते हैं | शिक्षण के दौरान उद्यमियों को कृषि क्लिनिक एवं कृषि व्यवसाय से संबंधित विषयों एवं प्रक्रियाओं की जानकारी दी जाती है | इस प्रशिक्षण में कृषि एवं संबंधित विषयों में स्नातकों, डिप्लोमा धारियों तथा कृषि में हायर सेकण्ड्री करने वाले व्यक्तियों को प्रवेश दिया जाएगा। प्रशिक्षणार्थियों की आयु सीमा 18 से 60 वर्ष रखी गई है। प्रशिक्षणार्थियों को परियोजना प्रबंधन, लेखा संधारण, बाजार सर्वेक्षण, व्यक्तित्व विकास, कम्प्यूटर इन्टरनेट आदि के बारे में जानकारी दी जाएगी। उन्हें कृषि के क्षेत्र में सफल उद्यमियों के व्यवसायिक संस्थानों का भ्रमण भी करवाया जाएगा।

प्रशिक्षण Training के बाद लोन एवं अनुदान

प्रशिक्षण उपरान्त उन्हें कृषि से संबंधित व्यवसाय की स्थापना हेतु नाबार्ड से ऋण स्वीकृत कराने में आवश्यक मदद दी जाती है । व्यवसाय स्थापना हेतु उद्यमियों को व्यक्तिगत रूप से 20 लाख रूपये तथा पांच व्यक्तियों के समूह को 1 करोड़ रूपये तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा । इस ऋण पर सामान्य वर्ग के उद्यमियों को 36 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति, जनजाति तथा महिला वर्ग के उद्यमियों को 44 प्रतिशत अनुदान की पात्रता होगी।

यह भी पढ़ें   राजस्थान के किसानों को जल्द दिया जाएगा इन योजनओं का लाभ

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र स्थापना प्रशिक्षण training हेतु आवेदन

प्रशिक्षण के इच्छुक व्यक्ति को प्रशिक्षण लेने के लिए पहले ऑनलाइन आवेदन करना होता है | आवेदन के समय आवेदक अपनी सुविधा के अनुसार केंद्र का चयन कर सकते हैं जिसमें आप ट्रेनिंग लेना चाहते हैं | यदि आवेदक का चयन हो जाता है तो वह प्रशिक्षण के लिए पात्र होगा और वह संसथान से प्रशिक्षण लेकर अपना कृषि क्लिनिक या कृषि व्यवसाय केंद्र खोल सकता है | किसान भाई अधिक जानकारी के लिए 1800-425-1556 टोल फ्री नम्बर पर भी कॉल कर सकते हैं |

आवेदन के लिए आवशयक दस्तावेज

ऑनलाइन आवेदन कहीं से भी किया जा सकता है परन्तु इसके लिए किसानों को साथ में यह दस्तवेज रखने होंगे |

  • आधार कार्ड नम्बर
  • ई-मेल आईडी
  • अंतिम शैक्षणिक योग्यता Final Qualification
  • बैंक अकाउंट की जानकारी
  • आवेदक की फोटो

एग्री क्लिनिक एवं एग्री व्यवसाय केन्द्र स्थापना हेतु ऑनलाइन आवेदन के लिए क्लिक करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here