राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना 2019 हुई लागू जाने नियम एवं शर्तें

0
1404
views
कृषक ऋण माफी योजना 2019 राजस्थान

कृषक ऋण माफी योजना 2019 राजस्थान

आजदी के बाद शायद यह पहला अवसर है की देश के किसानों के लोन इतनी बड़ी मात्रा में माफ़ किया जा रहा है | इसके पहले वर्ष 1990 में 10,000 करोड़ तथा 2008 में लगभग 60,000 करोड़ रुपया का लोन माफ़ किया गया था , इसके बाद उत्तर प्रदेश , पंजाब, कर्नाटक, महाराष्ट्र सरकार ने पिछले 3 वर्ष में किसानों का लोन माफ़ किया था | उन सभी लोन माफ़ी का लाभ केवल डिफाल्टर तथा लघु और लघु सीमांत किसनों को दिया गया था | लेकिन वर्ष 2018 के चुनाव के बाद तीन राज्यों के किसानों का सभी किसानों का 2 लाख तक का लोन माफ़ किया गया |

राजस्थान सरकार ने दिसम्बर में किसानों के लोन माफ़ी की घोषणा कर दी थी  जिसे अब लागु किया जा रहा है |राजस्थान के किसानों का 2 लाख तक का ऋण किया जाएगा माफ़ इसके लिए सरकार ने ऋण माफ़ी प्रमाणपत्र पत्र दे रही है | इसके लिए बैंकों के द्वारा ग्राम सेवा सहकारी समितियों के स्तर पर 7 फरवरी 2018 से शिविर आयोजित कर ऋणमाफ़ी प्रमाण पत्र वितरित किये जा रहा है | इसलिए किसान समाधान इस योजना की सम्पूर्ण जानकारी लेकर आया है जिससे किसानों को किसी भी भ्रम तथा जानकारी के अभाव में योजना के लाभ लेने से छूट नहीं जाये |

यह योजना के लाभ किस समय तक के किसानों को शामिल किया गया है 

इस योजना का लाभ उन सभी किसानों को दिया जायेगा जो 30 नवम्बर 2018 तक लोन लिया है | योजना के तहत अल्पकालिक फसल ऋण तथा लम्बी अवधि के ऋण दोनों को शामिल किया गया है | बटाई दर तथा लीज पर लेकर खेती करने वाले किसानों का भी लोन माफ़ किया जायेगा 

जिस किसान ने लोन का पैसा 30 नवम्बर के बाद भर दिया है उसका क्या होगा ?

जिन किसान भाइयों ने 30 नवम्बर 2018 के बाद ऋण खाते में पूरी बकाया राशी या आंशिक राशि जमा करा दी है तो उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है | एसे किसानों को भी पात्र माफ़ी राशि के बराबर लाभ मिलेगा | जो किसान उनके द्वारा लिये गये फसली ऋण की देय तिथि तक अपने ऋण का भुगतान कर देते हैं तो उनकी पात्रता के अनुसार ऋण माफ़ी की राशि को किसान के बचत खाते में जमा करा दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   आज इन 65 तहसीलों के किसानों को दी जाएगी कर्ज माफी की राशि

ऋण माफ़ी के लिए आधार नंबर जरुरी है |

राजस्थान कृषक ऋण माफ़ी योजना 2019 के लिए आधार कर जरुरी है | इसके लिए आधार कर से मोबाईल नंबर से जोड़ा जाय | इसके लिये बैंक द्वारा पात्र किसान का आधार आधारित सत्यापन करवाया जायेगा |

जिस किसान का आधार नंबर नहीं है तो वह क्या करें ?

लोन माफ़ी के लिए किसान के पास आधार नम्बर एवं आधार से लिंक मोबाईल नंबर होना जरुरी है | यदि किसान के पास आधार नम्बर नहीं है तो उसे परेशान होने की आवश्यकता नहीं है | हमारे ऐसे किसान भाई नजदीकी आधार केन्द्र पर जाकर अपना आधार के लिये पंजीयन करवा लें और आधार केंद्र द्वारा जारी पंजीयन आईडी को बैंक शाखा पर प्रस्तुत करने पर ऐसे किसान को उनकी पात्रता के अनुसार इस योजना में शामिल कर लिया जायेगा |

लोन लेने वाले किसान की मृत्यु हो गई है तो उसका लोन कैसे माफ़ होगा ?

योजना के तहत जिन पात्र किसानों की मृत्यु हो चुकी है उन किसानों की ऋण माफ़ी के लिए उनके वारिसान को किसान का सक्षम स्तर से जारी मृत्यु प्रमाण्पत्र पेश करना होगा तथा विधिक वारिसान का आधार सत्यापन कर किसान को योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा | उन्होंने कहा कि हमने योजना में एसे पात्र किसानों के भी कृषि ऋणों को भी माफ़ करने का निर्णय किया है जो स्थाई रूप से राज्य के बाहर पलायन कर चुके है |

यह भी पढ़ें   मौसम ने ली करवट, किसान भाई रहें सावधान यहाँ हो सकती है बारिश

किसानों की सूची जारी किया जायेगा |

ऋण माफ़ी की पात्रता में आने वाले सभी कृषकों की सूचियों को संबंधित ग्राम सेवा सहकारी समिति के नोटिस बोर्ड पर प्रकाशित किया जायेगा | बैंकों द्वारा तैयार की गई सूचियों में किसी प्रकार की त्रुटी न रहे इसके लिए इनका जिला स्तरीय कमिटी द्वारा परिक्षण किया जायेगा |

सूची में नाम नहीं रहने पर किसान क्या करे ?

ऋण माफ़ी के विवरण की सत्यता एवं विश्वसनीयता को सुनिशिचत करने के लिए जिला कलक्टर या उसके द्वारा मनोनीत प्रतिनिधि की अध्यक्षता में एक परिवेदना कमी का गठन किया गया है | कोई भी किसान ऋण माफ़ी के लिए तैयार की गई सूचि में नाम नहीं होने , उसके पक्ष में मंजूर की गई ऋण माफ़ी की गणना से असंतुष्ट होने पर किसान संबंधित बैंक की शाखा के माध्यम से अपनी परिवेदना प्रस्तुत कर सकेगा | परिवेदना कमेटी परिवेदना का निपटारा 10 दिवस की अवधि में करेगी

लोन के कारण किसानों का जमीन बैंक ने ले लिया है , क्या वह वापस होगा ?

राजस्थान के किसी भी किसान का लोन के कारण बैंक ने जमीन अधिग्रहण कर लिया है तो उस किसान का लोन माफ़ी के बाद भूमि को वापस किया जायेगा | इस योजना के तहत राजस्थान में लगभग 4 लाख बीघा भूमि किसानों को वापस किया जायेगा |

क्या लोन माफ़ी के बाद दुबारा लोन मिलेगा ?

 जी हाँ , लोन माफ़ी के बाद दुबारा लोन दिया जायेगा |

कर्ज माफी में आपके आवेदन की स्थिति देखें जानने के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here