back to top
शनिवार, मई 18, 2024
होमकिसान समाचारराजस्थान में शुरू हुई समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना एवं सरसों की...

राजस्थान में शुरू हुई समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना एवं सरसों की खरीद, किसान ऐसे करें पंजीयन

समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना एवं सरसों की खरीद 

रबी फसलों की कटाई का काम तेजी से चल रहा है, जिसके साथ ही कई राज्यों में गेहूं एवं अन्य खरीफ फसलों की खरीदी का काम भी शुरू हो चूका है। राजस्थान के सभी ज़िलों में 1 अप्रैल से गेहूं, चना एवं सरसों की खरीद का काम शुरू हो चूका है। राजस्थान में चना एवं सरसों की खरीद के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन पंजीयन किया जा रहा है, वहीं गेहूं की खरीद के लिए पंजीकरण का कार्य 15 मार्च से शुरू हो चुका है।

राजस्थान में इस वर्ष गेहूं खरीद के लिए पंजीयन की व्यवस्था ऑनलाइन की गई है। कोटा संभाग में 15 मार्च से गेहूं खरीद प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है। प्रदेश में चने के 635 एवं सरसों के 635 सहित कुल 1270 क्रय केन्द्रों पर सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद की जा रही है वहीं पूरे प्रदेश में 389 क्रय केन्द्रों पर गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद की जाएगी ।

क्या है गेहूं, चना एवं सरसों का समर्थन मूल्य

निर्धारित केन्द्रों पर सरसों 5050 रुपये तथा चना 5230 रुपये के समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदा जाएगा। वहीं केन्द्र द्वारा गेहूं का समर्थन मूल्य 2015 रूपए प्रति क्विंटल घोषित किया गया है, जिस पर खरीदी की जाएगी। भारत सरकार द्वारा चना खरीद का 5.97 लाख मीट्रिक टन एवं सरसों खरीद का  13.03 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य दिया गया है। किसान तुलाई के समय किसी प्रकार की असुविधा से बचने के लिए उपज को तय एफएक्यू मापदण्डों के अनुसार तैयार कर ले जाएँ।

यह भी पढ़ें   धान की खेती करने वाले किसान जुलाई महीने में करें यह काम, मिलेगी भरपूर पैदावार

किसान इस तरह करें गेहूं MSP पर बेचने के लिए पंजीयन

राज्य सरकार ने इस वर्ष गेहूं की खरीद के लिए ऑनलाइन पोर्टल विकसित किया है जिसका लिंक खाद्य विभाग की वेबसाइट http://food.raj.nic.in पर ’गेहूं खरीद हेतु किसान रजिस्टे्रेशन‘ नाम से उपलब्ध है। किसान ऑनलाइन पोर्टल पर प्रातः 7 से सांय 7 बजे तक स्वयं या अन्य माध्यम से पंजीयन करवा सकते हैं। पंजीकरण के लिए जनआधार कार्ड अनिवार्य है। जनआधार कार्ड में अंकित नामों से किसी भी नाम एवं जिस नाम से गिरदावरी होगी उसी के नाम से पंजीकरण मान्य होगा। पंजीकरण के दौरान किसान को भूमि संबंधी दस्तावेज व बैंक की पासबुक की फोटो कॉपी लगानी होगी। किसान को पोर्टल पर क्रय केन्द्र चुनने का विकल्प भी दिया गया है।

किसान इस तरह करें चना एवं सरसों के लिए पंजीयन

राज्य में चना एवं सरसों की खरीद के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन पंजीयन शुरू कर दिए गए है। किसान अपना पंजीयन ई-मित्र केंद्र या संबंधित खरीद केन्द्र (ग्राम सेवा सहकारी समिति/क्रय विक्रय सहकारी समिति) से करा सकते हैं। किसान अपना मोबाईल नम्बर आधार में लिंक करवा लें, ताकि समय रहते तुलाई दिनांक की सूचना प्राप्त हो सके। किसान यह सुनिश्चित करें कि जनआधार कार्ड में अपने बैंक खाते नम्बर को अद्यतन (अंकित) करें ताकि खाता संख्या एवं आई.एफ.एस.सी. कोड में यदि कोई विसंगति नही रहे ताकि भुगतान के समय परेशानी ना हो।

यह भी पढ़ें   कृषि क्षेत्र की नई तकनीकी सीखने जापान गए कृषि मंत्री, यहाँ किसान प्रति एकड़ कमाते हैं 22 लाख रुपये

किसानों को SMS से दी जाएगी जानकारी

गेहूं पंजीकरण करवाने के बाद तुलाई का दिन व खरीद की मात्रा संबंधित केन्द्र पर लाने के लिए पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस से सूचना भेजी जाएगी। यदि किसान किसी कारण से निर्धारित दिनांक को क्रय केन्द्र नहीं पहुंचता है तो वह आगामी 10 दिन के अंदर अपनी फसल कभी भी तुलवा सकता है। तुलाई के बाद रसीद की एक प्रति किसान को भी दी जाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप