1 अप्रैल से शुरू होगी चना और सरसों की खरीद, किसान इस तरह करायें ऑनलाइन पंजीयन

2367
chana sarso msp khareed panjiyan

चना और सरसों खरीद हेतु किसान पंजीयन

रबी फसलों की कटाई के साथ ही राज्य सरकारों के द्वारा किसानों से उपज खरीदी हेतु प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। राजस्थान में जहां गेहूं की खरीदी एवं पंजीयन का कार्य शुरू कर दिया गया है, वहीं अब राज्य सरकार ने चना एवं सरसों की खरीद एवं पंजीयन के लिए भी तारीखों का ऐलान कर दिया है। राजस्थान में सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए 25 मार्च से ऑनलाइन पंजीयन शुरू किया जाएगा वहीं इनकी खरीद 1 अप्रैल से शुरू की जाएगी।

राजस्थान में एक अप्रेल से चना के 621 एवं सरसों के 621 सहित कुल 1242 क्रय केन्द्रों पर खरीद प्रारंभ की जाएगी। समर्थन मूल्य पर रबी सीजन 2022-23 में भारत सरकार द्वारा राज्य में चना खरीद का 5.97 लाख मीट्रिक टन एवं सरसों खरीद का  13.03 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य दिया गया है।

किसान यहाँ से करा सकते हैं चना एवं सरसों बेचने के लिए पंजीयन

राज्य के किसान 25 मार्च से अपनी उपज बेचने के लिए पंजीयन ई-मित्र या संबंधित खरीद केन्द्र (ग्राम सेवा सहकारी समिति /क्रय विक्रय सहकारी समिति) पर जाकर करा सकते हैं। एक मोबाइल नम्बर पर एक ही किसान का पंजीयन किया जायेगा तथा पंजीयन का कार्य प्रातः 9 बजे से सायं 7 बजे तक ही होगा। किसान की कृषि भूमि जिस तहसील में होगी उसी तहसील के कार्यक्षेत्र में आने वाले खरीद केन्द्र का चयन रजिस्ट्रेशन के दौरान कर सकेगा। किसान को उसकी पंजीकरण दिनांक के आधार पर वरीयता के अनुसार तुलाई के लिए दिनांक एवं जिन्स की मात्रा का आवंटन किया जायेगा तथा इसकी सूचना किसान के पंजीकृत मोबाइल पर एसएमएस द्वारा दी जायेगी।

यह भी पढ़ें   किसान पॉली हाउस एवं शेड नेट हाउस सब्सिडी के लिए आवेदन करें

किसान पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज

चना एवं सरसों समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए किसानों को ऑनलाइन पंजीयन करते समय  जनआधार कार्ड, बैंक पासबुक एवं गिरदावरी की प्रति पंजीयन फार्म के साथ अपलोड करनी होगी। किसान को आधार आधारित बायोमैट्रिक अभिप्रमाणन पर पंजीयन करवाना होगा। सभी किसान अपना मोबाईल नम्बर आधार में लिंक करवा लें, ताकि किसानों को समय रहते तुलाई दिनांक की सूचना प्राप्त हो सके। किसान यह सुनिश्चित करें कि जनआधार कार्ड में अपने बैंक खाते नम्बर को अंकित करें ताकि खाता संख्या एवं आई.एफ.एस.सी. कोड में यदि कोई विसंगति नही रहे ताकि भुगतान के समय परेशानी ना हो।

समस्या होने पर यहाँ करें संपर्क 

किसानों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, उपज के बेचान व भुगतान आदि के संबंध किसी प्रकार की समस्या हो, तो टोल फ्री नम्बर 18001806001 पर फोन कर समस्या का समाधान करा सकते हैं। तुलाई के समय किसी प्रकार की असुविधा से बचने के लिए उपज को तय एफएक्यू मापदण्डों के अनुसार तैयार कर ले जाएँ। 

यह भी पढ़ें   राज्य में की जाएगी 3000 नए कस्टम हायरिंग केंद्रों की स्थापना

क्या है इस वर्ष चना एवं सरसों का समर्थन मूल्य

रबी फसलों की बुआई से पहले ही केंद्र सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा कर दी जाती है, जिस पर ही सभी राज्यों में किसानों से उन फसलों की खरीदी की जाती है। राजस्थान में भी इस वर्ष निर्धारित केन्द्रों पर सरसों 5050 रुपये तथा चना 5230 रुपये के समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदा जाएगा।

पिछला लेखसरसों के बाद अब 1 अप्रैल से शुरू होगी समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना एवं जौ की खरीद
अगला लेखसरकार ने जारी किया कच्चे जूट का न्यूनतम समर्थन मूल्य

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.