जानिए देश में इस वर्ष बागवानी फसलों का उत्पादन कितना हुआ

0
226
views
horticulture crop production in india

भारत में 2018-19 में बागवानी फसलों का उत्पादन

सरकार ने पहली ही कैविनेट मीटिंग में किसानों के लिये कई फैसले लिए हैं | सरकार बनते ही कृषि विभाग ने किसानों के लिए रोड मेप तैयार करना शुरू कर दिया है | कृषि विभाग और किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के रकबे एवं उत्पादन के दुसरे अग्रिम अनुमान (2018 – 19) जारी किये हैं जैसे कि विभिन्न राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों और स्रोतों एजेंसियों से प्राप्त सूचनाओं से संकित किया गया है |सरकार के अनुसार बागवानी का उत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया गया है |

देश में कुल बागवानी उत्पादन 314.87 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है , जो वर्ष 2017 – 18 में हुये बागवानी उत्पादन की तुलना में 1.01 प्रतिशत अधिक है |

बागबानी फसलों का उत्पादन

भारत में जहाँ वर्ष 2017 – 18 में कुल रकबा 25.43 मिलियन हेक्टेयर भूमि में बागवानी की खेती की गई है वहीँ वर्ष 2018 – 19 में बढ़कर 25.61 मिलियन हेक्टेयर हो गई है | अगर बात उत्पादन कि की जाय तो वर्ष 2017 – 18 में बागवानी से उत्पादन 300.64 मिलियन टन हुआ जो बढ़कर वर्ष 2018 – 19 में 314 .87 मिलियन टन हो गया है |

  1. अगर बागवानी को अलग – अलग कर के देखें तो फल उत्पादन में 97.38 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जबकि पिछले वर्ष 97.36 मिलियन टन का उत्पादन था |
  2. सब्जी उत्पादन तकरीबन 187.36 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष हुये कुल उत्पादन की तुलना में 1.61 प्रतिशत ज्यादा है |
  3. आलू उत्पादन तकरीबन 52.96 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष हुये उत्पादन की तुलना में मामूली अधिक है |
  4. प्याज उत्पादन तकरीबन 23.28 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष हुये उत्पादन की तुलना में मामूली अधिक है |
  5. टमाटर उत्पादन तकरीबन 19.61 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष हुये कुल उत्पादन की तुलना में 0.5 प्रतिशत ज्यादा है |
  6. मसाला उत्पादन तकरीबन 8.61 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष हुये कुल उत्पादन की तुलना में 6.01 प्रतिशत ज्यादा है |
यह भी पढ़ें   इस कीटनाशक से आम के फूल को कीट तथा रोग बचाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here