चना,मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीद

0
5881
चना,मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीद

चना,मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीद

केंद्र सरकार प्रति वर्ष देश के सभी किसानों के लिए 23 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी करता है | फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य फसलों की बुआई से पहले जारी किया जाता है | न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी करने का मकसद यह रहता है की किसान अपनी फसल को न्यूनतम समर्थन से अधिक मूल्य मिल सकें |

न्यूनतम समर्थन मूल्य का मतलब यह भी रहता है की किसी किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम मूल्य मिल रहा है तो उसे सरकार खरीदेगी| इस वर्ष केंद्र सरकार ने सरसों का 4200 रुपया, चना का 4620 रुपया तथा मसूर का 4450 रुपया घोषित किया है | प्रत्येक वर्ष अलग – अलग राज्यों के द्वारा किसानों से रबी फसल की खरीदी करती है | राजस्थान एवं मध्यप्रदेश के किसान कैसे और कब बेच सकेगें |

इसी क्रम में राज्य सरकार ने अपने – अपने राज्य के किसानों को रबी फसल को खरीदी शुरू कर रही है | इसके लिए किसान को पंजीयन कराना जरुरी रहता है | जो 15 जनवरी से शुरू कर दिया गया था और अब भी जारी है | जिस किसान ने अपने – अपने राज्यों में रबी फसल को बेचने के लिए पंजीयन करा चुके हैं तो उसकी खरीदी 25 मार्च से बेच सकते हैं |

यह भी पढ़ें   किसानों से 15 क्विंटल प्रति एकड़ धान की खरीदी जाएगी, सरकार ने जारी किये नए नियम

मध्यप्रदेश

प्रदेश में रबी वर्ष 2018 की रबी उपज चना, मसूर और सरसों का समर्थन मूल्य पर उपार्जन 25 मार्च से 90 दिन तक किया जायेगा | केंद्र शासन ने तीनों जिंसों की कुल 15 लाख 62 हजार 500 मीट्रिक टन खरीदी का अनुमोदन प्रदान किया है | इसमें अधिकतम 11 लाख 48 हजार 750 मीट्रिक टन चना, एक लाख 69 हजार 750 मीट्रिक टन मसूर तथा अधिकतम 2 लाख 44 हजार मीट्रिक टन सरसों शामिल है | इस बार खास बात है की सरकार किसानों को फसल खरीदने के बाद 3 दिन में भुगतान कर देगी |

राजस्थान

राज्य में अलग – अलग जिलों में रबी फसल अलग – अलग समय आने के कारण राज्य सरकार ने खरीदी का समय भी अलग – अलग घोषित किया है | कोटा संभाग में फसल जल्दी आने के कारण सरसों की खरीदी 15 मार्च तथा चने की खरीदी 25 मार्च खरीदी करेगी | कोटा को छोड़ बाकि सभी संभ्गों में सरसों तथा चना की खरीदी 1 अप्रैल से किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   किसानों की आय दोगुनी करने के लिए महत्वपूर्ण मुद्दे और उनके समाधान पर सम्मलेन

 सरकार इस वर्ष 9 लाख मीट्रिक टन सरसों , 5.50 मीट्रिक टन चना की खरीदी का लक्ष्य रखा है | इस बार खास बात यह है की सरसों तथा चना की खरीदी 90 दिनों तक किया जायेगा | कुछ दिनों में राजस्थान सरकार किसानों की सरसों तथा चना खरीदी के लिए पंजीयन की प्रक्रिया शुरू किया जायेगा |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here