किसानों से सब्जियों एवं फलों की खरीदी को बढ़ावा देने के लिए लगाई जाएँगी प्रोसेसिंग यूनिट

0
2030
fruit and vegetable processing unit

सब्जियों एवं फलो की खरीद के लिए प्रोसेसिंग प्लांट

किसानों की आय बढ़ाने के लिए यह जरुरी है कि किसानों के द्वारा उत्पादित फसल को खरीदा जाए | देश तथा प्रदेश में अनाज के लिए मंडी की व्यवस्था तो की गई है लेकिन सब्जी तथा फल के लिए कोइ बड़ा बाजार नहीं है जहाँ पर किसान अपने उत्पाद को राष्ट्रिय स्तर पर बेच सके | किसानों के उत्पाद को सही मूल्य मिल सके तथा बाजार भी नजदीक हो इसके लिए दिल्ली में राउंड टेबल कांफ्रेंस का आयोजन किया गया है | इसमे अलग–अलग प्रदेश सरकार ने भाग लिया है |

इसी के अंतर्गत मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री श्री कमलनाथ ने भाग लिया, कांफ्रेंस के बाद उन्होंने ने जानकारी दी है कि मध्य प्रदेश के इंदौर और भोपाल में फल और सब्जियों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए पेरिशेबल कमोडीटी हब की स्थापना की जाएगी | इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश को देश की उधानिकी राजधानी बनाना हमारा लक्ष्य है, उन्होंने कहा कि यही एक मात्र एक एसा क्षेत्र है, जिसके जरिए हम अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत बना सकते हैं | किसानों की आय को दोगुना कर सकते हैं | मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए हम प्रदेश में एक अलग नीति बनाने जा रहे हैं, जो उधानिकी फसलों के साथ–साथ एस क्षेत्र से जुड़े निवेश को प्रदेश में प्रोत्साहित करेगी |

यह भी पढ़ें   किसानों को गन्ने की बकाया राशि भुगतान के लिए सरकार ने जारी किये 169 करोड़ रूपये

प्रदेश में यह कम्पनी लगाएंगी प्रोसेसिंग यूनिट

प्रोसेसिंग यूनिट की स्थापना के लिए देश एवं विदेश की बड़ी-बड़ी कंपनियां भाग ले रही है | जो अलग–अलग सब्जी तथा फल के लिए प्रोसेसिंग यूनिट लगा रहे हैं | अडानी विल्मर अपने फार्चून आटे के व्यापर में प्रदेश में बड़ा निवेश करेगी | विदिशा में सोयाबड़ी और बासमती चावल प्रसंस्करण की इकाई भी पेप्सिको प्रदेश में स्थापित करेगी |

पेप्सिको ने मध्य प्रदेश से हर वर्ष 110 करोड़ मूल्य के आलू की खरीदी को भविष्य में दोगुना करने को कहा | आलू से जुड़े उत्पादों की इकाई भी पेप्सिको प्रदेश में स्थापित करेगी | कोका कोला कंपनी ने संतरा और आम का ताजा रस बनाने की निर्माण इकाई स्थापित करने और इसमें निवेश के प्रति सहमती व्यक्त की |

इसके अलावा भी एक दिवसीय गोलमेज कांफ्रेंस में कपड़ा और परिधान क्षेत्र से लगभग 65 उधोगपति तथा खाद्ध प्र–संस्करण क्षेत्र से जुड़े लगभग 50 से ज्यादा उधोगपति ने मुख्यमंत्री के साथ संवाद किया | इनमें प्रमुख कंपनियां ट्राइडेंट, गोकुल दस एक्सपोर्ट, मयूर युनिकोर्ट्स, प्रतिभा सिंटेक्स, रेमण्ड, पर्ल, फैशन, काजो तथा खाद्ध प्र – संस्करण से जुड़े उधोग अडानी, पेप्सी, कोका, हल्दी राम, आईटीसी, यूनीलीवर, कारगिल इंडिया, फेरेरो, ब्लू स्टार एवं डेंटास शामिल हैं |  

यह भी पढ़ें   मध्यप्रदेश में गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद आगामी आदेश तक स्थगित

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here