4 लाख 42 हजार किसानों को किया गया प्रधानमंत्री फसल बीमा दावा का भुगतान

2
252
fasal bima bhugtan cg

प्रधानमंत्री फसल बीमा दावा का भुगतान

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देश में वर्ष 2016 से चलाई जा रही है, योजना के तहत बीमित फसलों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाली क्षति की पूर्ति किसानों को की जाती है | अभी छतीसगढ़ सरकार ने राज्य के बीमित किसानों को, पिछले वर्ष खरीफ फसलों को जो नुकसान हुआ था उन दावों का भुगतान कर दिया है | राज्य में 13 लाख 95 हजार 143 किसानों ने खरीफ 2020 में फसलों का बीमा करवाया था उनमें से काफी किसानों की फसलों (धान और सोयाबीन एवं अन्य खरीफ) को  प्राकृतिक कारणों से काफी नुकसान हुआ था उन किसानों को फसल नुकसान की भरपाई बीमा राशि से कर दी गई है |

प्रदेश में दो कंपनियों द्वारा बीमा किया गया है

छत्तीसगढ़ राज्य में खरीफ 2020 में दो कंपनियों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा किया था | एग्रीकल्चर कम्पनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड 20 जिलों में तथा बजाज एलायंस जनरल एंश्योरेंस कम्पनी द्वारा 8 जिलों में खरीफ 2020 में फसल बीमा किया गया था | राज्य में खरीफ सीजन 2020 में ज्यादातर धान तथा सोयाबीन फसलों का बीमा किया गया था |

किसानों को भुगतान किये गए बीमा दावा में से 491 करोड़ 58 लाख 50 हजार रूपये का भुगतान एग्रीकल्चर कम्पनी आँफ इंडिया लिमिटेड तथा 36 करोड़ 82 लाख 88 हजार रूपये के भुगतान किसानों को बजाज एलायंज जनरल एंश्योरेंस कम्पनी द्वारा किया गया है |

किस जिलें में किया गया फसल बीमा दावों का भुगतान

राज्य के सभी जिलों में किसानों को फसल क्षति के अनुसार फसल बीमा दावों का भुगतान किया गया है | यह संख्या इस प्रकार है :-

  • राजनंदगांव जिले के 97,462 किसानों को 149.24 करोड़ रूपये
  • महासमुन्द जिला के 38,557 किसानों को 65.55 करोड़ रूपये
  • बालोद जिला के 31,418 किसानों को 28.83 करोड़ रूपये
  • बलौदाबाजार जिला के 19,964 किसानों को 12.77 करोड़ रूपये
  • बस्तर जिला के 41,138 किसानों को 36.60 करोड़ रूपये
  • बिलासपुर जिला के 12,815 किसानों को 1.93 करोड़ रूपये
  • दंतेवाडा जिला के 4954 किसानों को 6.77 करोड़ रूपये
  • धमतरी जिला के 41138 किसानों को 36.60 करोड़ रूपये
  • दुर्ग जिला के 18229 किसानों को 12.21 करोड़ रूपये
  • गरियाबंद जिला के 7492 किसानों को 7.29 करोड़ रूपये
  • जांजगीर चांपा जिला के 21745 किसानों को 13.11 करोड़ रूपये
  • कबीरधाम जिला के 9338 किसानों को 19.65 करोड़ रूपये
  • कोंडागांव जिला के 7907 किसानों को 6.98 करोड़ रूपये
  • कोरिया जिला के 1744 किसानों के 89.57 लाख रूपये
  • रायगढ़ जिला के किसानों को 99.79 लाख रूपये
  • रायपुर जिला के 22864 किसानों को 4.05 करोड़ रूपये
  • सरगुजा जिला के 1815 किसानों को 85.05 लाख रूपये
  • कंकर जिला के 39871 किसानों को 87.38 करोड़ रूपये
  • बेमेतरा जिला के 10993 किसानों को 25.71 करोड़ रूपये
  • कोरबा जिला के 7080 किसानों को 12.99 करोड़ रूपये
  • मुंगेली जिला के 4312 किसानों को 3.28 करोड़ रूपये
  • सुकमा जिला के 5330 किसानों को 18.57 करोड़ रूपये
  • सूरजपुर जिला के 2962 किसानों को 1.62 करोड़ रूपये
  • जशपुर जिला के 1094 किसानों को 18.25 लाख रुपया
  • बलरामपुर जिला के 203 किसानों को 5.24 लाख रूपये
  • गौरेला जिला – पेंड्रा – मरवाही जिला के 6386 किसानों को 2.63 करोड़ रूपये,
  • बीजापुर जिला के 1998 किसानों को 1.22 करोड़ रूपये
  • नारायणपुर जिला के 521 किसानों को 35.82 लाख रुपये
यह भी पढ़ें   पहली बार यह नए प्रकार के कृषि यंत्र दिए जा रहें हैं अनुदान पर किसान अलग से आवेदन भेजे

खरीफ सीजन में लगभग 14 लाख किसानों ने किया था पंजीकरण

फसलों के बीमा के लिए क्षेत्रवार फसलें अधिसूचित की जाती है। अधिसूचित फसलों का योजना के तहत किसान बीमा कराते हैं। कृषकों को दावा भुगतान थ्रेसहोल्ड उपज एवं फसल कटाई प्रयोग से प्राप्त वास्तविक उपज में कमी के आधार पर दिया जाता है। राज्य में वर्ष 2020 खरीफ सीजन में 13 लाख 95 हजार 143 किसानों ने पंजीयन कराया था जिसमें से 4 लाख 41 हजार 260 किसानों को वास्तविक उपज में कमी के आधार पर अब तक 528 करोड़ 41 लाख रूपये की बीमा दावा राशि का भुगतान किया जा चूका है |

20.81 लाख हेक्टेयर भूमि का किया गया था बीमा

राज्य सरकार के द्वारा 13 लाख 95 हजार 143 किसानों ने खरीफ 2020 में फसल बीमा कराया था लेकिन प्रधानमंत्री फसल बीमा कि वेबसाईट पर 13 लाख 13 हजार 109 किसानों ने 2 फसल बीमा कंपनियों से 20 लाख 81 हजार 355 हेक्टेयर भूमि में 81,08,13,32,177 रूपये का फसल बीमा कराया था |

यह भी पढ़ें   आर्थिक पैकेज में किसानों को आसानी से ऋण उपलब्ध करवाने हेतु 30,000 करोड़ रुपये का प्रावधान

इसके लिए कुल 1222.46 करोड़ रूपये का कुल प्रीमियम किसान राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार के द्वारा दिया गया था | जिसमें 530.15 करोड़ रूपये केंद्र सरकार, 530.15 करोड़ रुपया राज्य सरकार तथा 162.16 करोड़ रुपये किसानों के द्वारा प्रीमियम के रूप में जमा किया गया था |

2 COMMENTS

    • अपने नजदीकी बैंक, प्राथमिक कृषि ऋण सोसायटी, कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) / ग्राम स्तरीय उद्यमियों (वीएलई), कृषि विभाग के कार्यालय, बीमा कंपनी के प्रतिनिधि या सीधे राष्ट्रीय फसल योजना एनसीआईपी के पोर्टल http://www.pmfby.gov.in और फसला बीमा ऐप (https://play.google.com/store/apps/details?id=in.farmguide.farmerapp.central) के माध्यम से ऑनलाइन कर सकता है । बीमा के संबंध में कोई भी जानकारी के लिए किसान भाई फसल बीमा कंपनी के टोल फ्री नम्बर पर कॉल करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं या केंद्र सरकार के टोल फ्री नंबर 18001801551 पर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here