प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को 2 लाख तो राज्यों को दिए 2 करोड़ रुपये के कृषि पुरस्कार

2
4171
kisan puraskar national
kisan app download

कृषि कर्मण पुरस्कार एवं कृषि कर्मण आवार्ड फार प्रोग्रेसिव फार्मर्स

पिछले कुछ वर्षों में राज्यों के द्वारा कृषि क्षेत्र में उत्पादन तथा उत्पादकता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए कृषि कर्मण पुरस्कार के लिए चुना गया था | इसके लिए कर्नाटक में एक समारोह में प्रधानमंत्री के द्वारा अलग–अलग राज्यों के कृषि मंत्री तथा कृषि सचिव को कृषि कर्मण पुरस्कार एवं किसानों को आवार्ड फार प्रोग्रेसिव फार्मर्स अवार्ड  गए हैं | इसके तहत प्रत्येक पुरस्कार के लिए 2 करोड़ रुपये , एक ट्राफी तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है | इस पुरस्कार पाने में बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान राज्य रहें हैं | इसके साथ ही, इन सभी राज्यों में किसानों के द्वारा किसी भी एक फसल में उत्कृष्ट उत्पादन करने के लिए कृषि कर्मण आवार्ड फार प्रोग्रेसिव फार्मर्स से नवाजा गया है | इसके तहत 2–2 लाख रुपया तथा एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है |

प्रधानमंत्री के द्वारा इन राज्यों को दिया गया है कृषि कर्मण पुरस्कार 

उत्तर प्रदेश कृषि कर्मण पुरस्कार 

उत्तर प्रदेश ने वर्ष 2016–17 में तिलहन उत्पादन श्रेणी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुये पुरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है | इसके लिए भारत के प्रधनमंत्री के तरफ से उत्तरप्रदेश को कृषि कर्मण पुरस्कार दिया गया | इस पुरस्कार के तहत 2 करोड़ रुपये दिए जाते है | इसके साथ ही वर्ष 2017 – 18 में कुल खाधन्न उत्पादन में लगभग 30 लाख टन की वृद्धि हासिल करने पर 1 करोड़ रूपये का कृषि कर्मण (सांत्वना) पुरस्कार दिया गया है |

यह भी पढ़ें   लेजर लेण्ड लेवलर सब्सिडी पर लेने ले लिए किसान आवेदन करें

मध्य प्रदेश कृषि कर्मण पुरस्कार

मध्य प्रदेश में गेहूं तथा दालों के उत्पादन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर किसान कर्मण पुरस्कार दिया गया है | इसके तहत मध्य प्रदेश को 02- 02 करोड़ रूपये दोनों क्षेत्र में पहले स्थान पर रहने के कारन दिया गया है | इस पुरस्कार पाने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य सरकार किसानों को हर संभव मदद करने को तैयार है |

छत्तीसगढ़ कृषि कर्मण पुरस्कार 

छत्तीसगढ़ को वर्ष 2016–17 में कुल खाधान उत्पादन श्रेणी -2 के अंतर्गत सर्वाधिक खाधान उत्पादन के लिए भारत सरकार द्वारा कृषि कर्मण पुरस्कार दिया गया है | यह पुरस्कार राज्य के तरफ से कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने प्राप्त किया | राज्य को कृषि कर्मण पुरस्कार के रूप में पांच करोड़ रुपए की राशि, ट्राफी एवं प्रशस्ति पत्र से नवाजा गया | इसके साथ ही, दो प्रगतिशील किसान श्री वीरेंद्र कुमार साहू एवं श्रीमती अदिति कश्यप को भी कृषि कर्मण आवार्ड फार प्रोग्रेसिव फार्मर्स से पुरस्कृत किया गया | इसके तहत दोनों किसान को 2 – 2 लाख रुपया तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया |

राजस्थान कृषि कर्मण पुरस्कार 

राजस्थान को दलहन उत्पादन के लिए 2016 – 17 का कृषि कर्मण आवर्ड एवं 2017 – 18 का प्रशंसा आवार्ड मिला है | प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कर्नाटक के तुमकुर में आयोजित समारोह में कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नरेश पाल गंगवार एवं कृषि आयुक्त डा. ओमप्रकाश को पुरस्कार प्रदान किए |

यह भी पढ़ें   फसलों के मूल्य नीति निर्धारण को लेकर वैज्ञानिकों एवं किसानों की बैठक

कृषि कर्मण आवार्ड के तहत ट्राफी, प्रमाण पत्र और दो करोड़ रूपये प्रदान किए गए | राज्य के प्रगतिशील किसान डूंगरपुर के श्री प्रकाश फनात एवं पाली की श्रीमती समु देवी को एग्रीकल्चर मिनिस्टर कृषि कर्मण आवार्ड फार प्रोग्रेसिव फार्मर्स प्रदान किया गया | इसके तहत दोनों काश्तकारों को 2–2 लाख रूपये एवं प्रशस्ती पत्र दिया गया | इसी प्रकार प्रशंसा आवार्ड के तहत एक करोड़ रूपये और प्रमाण पत्र प्रदान किए गए |

बिहार कृषि कर्मण पुरस्कार

बिहार को वर्ष 2016 – 17 के लिए मोटे अनाज की श्रेणी में मका तथा वर्ष 2017 – 18 के लिए गेहूं श्रेणी में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु कृषि कर्मण पुरस्कार दिया गया है |  साथ ही, वर्ष 2016 – 17 के लिए मोटे अनाज (मक्का) में पुरस्कार प्राप्त करने वाले किसान श्री मदन कुमार सिंह , जिला – किशनगंज, श्रीमती मृदुला देवी , जिला – जमुई तथा वर्ष 2017 – 18 के लिए गेहूं में पुरस्कार प्राप्त करने वाले किसान श्री तरुण कुमार विकास जिला – मुंगेर , श्रीमती बबिता देवी , जिला – खगरिया को प्रधानमंत्री के द्वारा  किसान कर्मण आवार्ड फार फार्मर्स प्रदान किया गया है | इसके तहत सभी किसनों को 2 -2 लाख रुपया दिया जाता है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here