आपके जिले में इस कम्पनी द्वारा फसल बीमा किया जाता है, यह लिस्ट संभाल कर रखें

3
2309
views
Pradhan Mantri Fasal Bima company list jila

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना जिलेवार कम्पनी लिस्ट

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना वर्ष 2016 से शुरू है तथा देश के सभी राज्यों में निरन्तर चल रही है | इस योजना के तहत सरकार किसानों के दो तरह के फसल का बीमा करती है | अनाज की फसल में खरीफ फसल तथा रबी फसल तथा उधानकी फसल में खरीफ फसल तथा रबी फसल की बीमा किया जाता है | बीमा करने के लिए प्राईवेट तथा सरकारी दोनों प्रकार की कम्पनिया रहती है लेकिन अनाज के लिए अलग कंपनिया तथा उधानिकी के लिए अलग कंपनिया बीमा करती है |

आज किसान समाधान मध्य प्रदेश के सभी जिलों के अनुसार वर्ष 2019 – 20 के लिए उधानिकी फसल के बीमा करने वाली कंपनी का नाम लेकर आया है |

जिले के अनुसार कंपनी का नाम क्या है ?

मध्य प्रदेश में कुल 51 जिले हैं सभी जिलों को 5 ग्रुप में बटा गया है | जिसमें से 3 ग्रुप (ग्रुप – A, C, तथा E) को  यूनाईटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी बीमा कर रही है | बचे ग्रुप – 2 (ग्रुप – B, तथा D) को एच.डी.एफ.सी., एग्रो जनरल इंश्योरेंस कंपनी बीमा कर रही है |

फसल की नुकसानी पर किसान कंपनी के टोल फ्री नंबर पर फोन कर अपना कंप्लेंट दर्ज करा सकते हैं इसके लिए किसान समाधान ने दोनों कंपनी का टोल फ्री नंबर दिया है |

यह भी पढ़ें   पीएम किसान योजना के तहत 6,000 रूपये लेने के लिए यहाँ पंजीयन करें
पूरा विवरण इस प्रकार है :-
क्लस्टर का नाम
क्लस्टर में शामिल जिले
बीमा कंपनी
टोल फ्री नं.

क्लस्टर – A

बुरहानपुर, शाजापुर, मंदसौर, झाबुआ, बैतूल, नीमच, हरदा, होशंगाबाद, विदिशा, शहडोल, उमरिया |

यूनाईटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी

180042533333

क्लस्टर – B

देवास, आगर – मालवा, गुना, राजगढ़, सिवनी, अशोकनगर, सिंगरौली, रीवा, सतना, सीधी |

एच.डी.एफ.सी., एग्रो जनरल इंश्योरेंस कंपनी

18002660700

क्लस्टर – c

उज्जैन, बडवानी, ग्वालियर, रतलाम , अलीराजपुर, भिंड, दतिया, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी |

यूनाईटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी

180042533333

क्लस्टर – D

इंदौर, सागर, सीहोर, अनुपपुर, भोपाल, छतरपुर, दमोह, पन्ना, रायसेन, बालाघाट |

एच.डी.एफ.सी., एग्रो जनरल इंश्योरेंस कंपनी

18002660700

क्लस्टर – E

खरगौन, धर, जबलपुर, खण्डवा, छिंदवाडा, कटनी, मण्डला, नरसिंहपुर, डिण्डौरी, टीकमगढ़ और निवाड़ी |

यूनाईटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी

180042533333

 

  • यदि प्राइवेट कंपनियों से आपकी समस्या का समाधान न हो रहा हो तो आप 011-23382012 एवं 011-23381092 नंबरों पर सोमबार से शुक्रवार तक सुबह 10 बजे से शाम के 6 बजे तक कॉल कर सकते हैं |

ओलावृष्टि जोखिम को निम्नलिखित फसलों के लिए अनिवार्य जोखिम के रूप में सम्मिलित किया गया है | ओलावृष्टि आपदा की स्थिति में फसलों को क्षति होने पर हानि की सुचना ई – मेल , वहाट्सएप , टोल फ्री नंबर (जो ऊपर दिया हुआ है) पर एवं पत्र द्वारा 72 घंटों के भीतर भी बीमा कंपनी को दी जायेगी तथा 96 घण्टों में भीतर बीमा , संबंधित क्षेत्र के उद्यान अधिकारी के साथ सर्वे कर प्रतिवेदन देंगे | प्रतिवेदन के आधार पर कंपनी क्षतिपूर्ति दावों की प्रक्रिया प्रारंभ करेगी |

यह भी पढ़ें   बुआई से पहले जानियें क्या है इस वर्ष खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य
मध्य प्रदेश में सभी उधानिकी फसलों की सूचि जिसका ओलावृष्टि होने पर इस अवधि में कम्पलेन कर सकते हैं |
क्र. सं.
फसल का नाम
ओलावृष्टि जोखिम चरण अवधि
 
रबी फसलें

 

1.

हरी मटर

01 जनवरी से 31 मार्च

2.

धनियाँ

01 जनवरी से 31 मार्च

3.

आम

01 जनवरी से 30 अप्रैल

4.

अंगूर

01 जनवरी से 31 मार्च

5.

अनार

01 जनवरी से 29 फरवरी

6.

सब्जी वर्गीय (रबी, टमाटर, बैंगन, फूलगोभी, पत्तागोभी)

01 जनवरी से 31 मार्च

 
खरीफ फसलें

 

7.

संतरा

01 जनवरी से 15 अप्रैल

8.

मिर्च

01 जनवरी से 31 जनवरी

9.

केला

01 जनवरी से 30 अप्रैल

10.

पपीता

01 जनवरी से 30 अप्रैल

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

3 COMMENTS

  1. हम किसानो को किसान हितेशी जानकारी उचित समय समय मे देने के लिए शुक्रिया करता हू जिसके कारण हमे शासन की योजना का लाभ उठा रहे है मेरी ओर से किसान समाधान को धन्यवाद
    जय किसान जय हिन्द

  2. सादर प्रणाम… मैं राजस्थान के चुरू जिले से हूं यहां कोई योजना है तो बताइए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here