जैविक खेती करने वाले किसानों को मिला जैविक बाजार

1
1799

जैविक खेती करने वाले किसानों को मिला जैविक बाजार

किसान भईयों देश में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने एक कदम और आगे बढाया है | अभी तक सरकार किसानों को जैविक खेती करने के लिए जैविक खेती करने का प्रमाण पत्र देती थी जिसको लेकर किसान अपने खेत में जैविक खेती कर सकते थे | तथा जैविक खेती का फसल अपने आधार पर बेच सकते थे | जैविक किसानों के लिए अलग से किसी भी तरह का बाजार नहीं था | जिसके कारण किसानों को खेती में नुकसानी उठाना पड़ता था | किसान जैविक का C – 3 प्रमाण पत्र लेने के बाद भी किसान अपने फसल को रसायनिक आधार पर बेचते थे |इस वर्ष केंद्र सरकार ने जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए निम् कोटेड यूरिया में 5 किलोग्राम की कमी कर दिया था | इसका मुख्य उद्देश्य यह था की देश का किसान रासायनिक उर्वरक पर निर्भरता कम करें |

इसलिए किसानों के इस परेशानी को देखते हुये उत्तर प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया है की 15 – 16 सितम्बर 2018 को किसान बाजार, गोमती नगर लखनऊ में जैविक उत्पाद प्रदर्शनी एवं बाजार का आयोजित किया जा रहा है | कार्यक्रम में जैविक उत्पादों की खरीदारी को प्रोत्साहन किया जायेगा | इस जैविक बाजार में 100 किसान अपने जैविक उत्पाद को लेकर आयेंगे | यहाँ पर उपभोगता एक बात को जानना जरुरी है की 15 – 16 सितम्बर को केवल जैविक उत्पादक का ही बाजार लगेगा | जिसमें खाद्ध आनाज, गुड, सरसों तेल उत्पादों का विक्रय सीधे उपभोगताओं को दिया जायेगा |यह बाजार सुबह 11 बजे से रात्रि 10 बजे तक होगा | अगर यह बाजार सफल होता है तो प्रत्येक सप्ताह लगाने पर विचार किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान आवेदन का आज आखरी दिन

जैविक खेती के पंजीयन की प्रक्रिया एवं विपणन व्यवस्था

जैविक खेती से सम्बंधित सभी जानकारी के लिए क्लिक करें 

1 COMMENT

  1. राम राम किसान भाइयों में भी एक किसान का बेटा हूँ, और मेरी और से हार्दिक शुभकामनाएँ है जो किसान भाई जैविक खेती कर रहे है उन के लिए।
    भाइयों मेरा ओरगेनीक वर्मी कम़पोसट जैविक खाद काम किया हुआ हैं।
    भाइयों आप में से कोई भाई खाद लेना चाहते हैं तो उन को खाद मिल जाएगी,
    और कोई भाई मिल कर यह काम करना चाहते हो तो मेरे साथ मिलकर कर सकते हैं।
    मेरे मोबाइल न• 7375912873 , 9462598819

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here