अब इस राज्य में टिड्डी का हमला, सरकार नियंत्रण के लिए किसानों को दे रही 50 प्रतिशत सब्सिडी

0
11997
tiddi dal attack on crop subsidy

टिड्डी कीट नियंत्रण हेतु सहायता

कई राज्यों के द्वारा टिड्डी नियंत्रण की कोशिश के बाबजूद भी टिड्डी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है | इसकी नियंत्रण के लिए किसान के अलवा राज्य और केंद्र सरकार के संयुक्त प्रयास के बाबजूद भी टिड्डी का नियंत्रण नहीं किया जा सका है | पहले राजस्थान, गुजरात के बाद में पंजाब राज्य में फसलों को नुकसान पहुँचाने के बाद अब दुसरे राज्यों की तरफ रुख किया है | टिड्डी का अगला निशाना हरियाणा राज्य बना है | पंजाब से लगने वाले जिलों में टिड्डी दल को देखा जा रहा है |

हरियाणा के कृषि एवं कल्याण मंत्री श्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि राजस्थान और पंजाब के बाद प्रदेश में टिड्डी दल के आगमन के चलते सतर्कता बरतते हुए अलर्ट जारी किया गया है और टिड्डी दल नियंत्रण एवं सुचना के लिए सुपरविजन टीमें गठित की गई है | टिड्डी नियंत्रण के लिए हरियाणा राज्य सरकार ने टोल फ्री नंबर तथा कीटनाशक पर सब्सिडी दे रही है | इसकी पूरी जानकारी किसान समाधान लेकर आया है |

टिड्डी नियंत्रण के लिए कहाँ संपर्क करें ?

हरियाणा राज्य के किसी भी जिले के किसान की फसल में टिड्डी दल ने आक्रमण किया है वे किसान तत्काल स्थानीय कृषि विकास अधिकारी, हरियाणा कृषि विश्वविध्यालय, हिसार के कृषि विज्ञान केंद्र या उप कृषि निदेशक व कंट्रोल रूम को सुचना दें और टिड्डी दल को खेत में आने से रोकने के लिए खेतों में तेज आवाज उपकरणों की व्यवस्था करें | सरकार ने टिड्डी नियंत्रण के लिए प्रशिक्षण शुरू कर दिया है | किसान को जितनी दवाओं की जरूरत है उतने कीटनाशक की व्यवस्था की जा रही है इसलिए कृषि मंत्री ने किसानों से अपील की है कि टिड्डी दिखने पर कंट्रोल रूम को सुचना दें |

यह भी पढ़ें   धान के अधिक उत्पादन के लिए इस तरह करें बीज शोधन

50 प्रतिशत की सब्सिडी पर दिए जा रहे हैं कीटनाशक

हैफेड, हरियाणा कृषि उधोग निगम, हरियाणा बीज विकास निगम और हरियाण भूमि सुधार विकास निगम के माध्यम से टिड्डी के नियंत्रण के लिए कीटनाशकों पर सब्सिडी दे रही है इसमें क्रलोरोपायरीफाँस 20 प्रतिशत ईसी और क्लोरपायरीफाँस 50 प्रतिशत ईसी के स्टाक की व्यवस्था करने का निर्णय लिया है , ताकि किसानों को 50 प्रतिशत सब्सिडी पर उपलब्ध करवाई जा सके | इसके अलावा, किसान बंडियोमिथ्रीन, फिप्रोनिल, लैंब्डा और मैलाथिआँन कीटनाशक दवाईयों का भी प्रयोग कर सकते हैं |

इन जिलों में टिड्डी नियंत्रण के लिए व्यवस्था

कृषि मंत्री जे.पी. दलाल ने कहाँ कि राजस्थान व पंजाब सीमावर्ती जिला सिरसा, फतेहाबाद, हिसार के अलवा भिवानी , महेंद्रगढ़, रेवाड़ी व चरखी दादरी जिलों व आसपास के क्षेत्र में पूर्व तैयारी की जा रही है | साथ ही चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविध्यालय, हिसार द्वारा भी किसान जागरूकता एवं बचाव संबंधित कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं |

टिड्डी नियंत्रण के लिए इस टोल फ्री नम्बर पर कॉल करें

किसी भी जिले में किसान को टिड्डी दीखता है तो वह टोल फ्री नंबर पर फोन करें | हरियाणा कृषि विभाग ने किसनों की सुविधा के लिए एक टोल फ्री नंबर जारी किया है | इस नंबर पर किसानों को टिड्डी नियंत्रण के लिए जानकारी भी दी जा रही है |

यह भी पढ़ें   लॉकडाउन के बाबजूद ग्रीष्मकालीन (जायद) फसलों की बुआई क्षेत्रफल में हुई वृद्धि
टोल फ्री नंबर यह है – 18001802117

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here