सोमवार, मार्च 4, 2024
होमकिसान समाचारअब किसानों को प्रति लीटर दूध पर दी जाएगी 3 रुपये तक...

अब किसानों को प्रति लीटर दूध पर दी जाएगी 3 रुपये तक की सब्सिडी

दूध की कीमत में बढ़ोतरी

किसान प्रारम्भ से ही कृषि के साथ पशुपालन का काम भी करते आ रहा है, जो कि किसानों के लिए दैनिक आय का एक अच्छा जरिया भी है। परंतु पशुपालन में लागत बढ़ने एवं आय में गिरावट से बहुत से किसान अब पशु पालन का काम बंद कर रहे हैं। ऐसे में पशु पालन को लाभकारी बनाने के लिए कई राज्य सरकारों के द्वारा किसानों और पशुपालकों से ख़रीदे जाने वाले दूध के भाव में वृद्धि की जा रही है। राजस्थान, महाराष्ट्र के साथ–साथ अब झारखंड सरकार भी राज्य के पशुपालकों को दूध पर अतिरिक्त बोनस दे रही है|

झारखंड राज्य के पशुपालक जो झारखंड दुग्ध महासंघ से जुड़े हुए हैं उन्हें 1 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से सब्सिडी उपलब्ध करा रही है | राज्य सरकार 1 अप्रैल 2021 से दुग्ध उत्पादकों क एक रूपये प्रति लीटर की सब्सिडी दे रही है, जिसे गुणवत्ता के आधार पर और बढ़ाया जायेगा।

यह भी पढ़ें   एक जिला एक उत्पाद की तर्ज़ पर शुरू किया जाएगा एक ब्लॉक एक उत्पाद कार्यक्रम, किसानों को होगा फायदा

दूध की क़ीमत में की जाएगी 3 रुपए की वृद्धि

राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री मिनेश शाह के साथ कृषि मंत्री श्री बादल और विभागीय सचिव श्री अबू बकर सिद्दीकी की हुई बैठक के बाद दूध की कीमतों में बढ़ोतरी का फैसला लिया गया है। जिसके तहत झारखंड दुग्ध महासंघ से जुड़े हुए किसानों द्वारा दिए गए दूध की कीमत में गुणवत्ता के आधार पर 2 से 3 रुपए की बढ़ोतरी की गई है। इस बारे में झारखंड दुग्ध महासंघ के प्रबंध निदेशक श्री सुधीर कुमार सिंह ने जानकारी दी कि 21 फरवरी 20-22 के प्रभाव से झारखंड के किसानों को बढ़ी हुई कीमत के साथ भुगतान किया जाएगा। साथ ही उन्होंने यह भी जानकारी दी कि उपभोक्ताओं के लिए दूध की कीमत में किसी भी तरह की बढ़ोतरी नहीं की जाएगी और उपभोक्ता पूर्वक पुरानी कीमतों में ही दुग्ध तथा अन्य उत्पाद प्राप्त कर सकेंगे।

झारखंड दुग्ध महासंघ के प्रबंध निदेशक ने बताया कि दुग्ध उत्पादकों की कीमत में हुई इस बढ़ोतरी से प्रदेश के किसानों की आय में बढ़ोतरी तो होगी ही साथ ही झारखंड दुग्ध महासंघ किसानों की आय में वृद्धि की दिशा में गोबर खाद प्रबंधन योजना, मधुमक्खी पालन योजना जैसे कदम भी उठाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें   अब तक 11 हजार से अधिक कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना का शिकार हुए किसानों को दिया गया मुआवजा

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

Trending Now

डाउनलोड एप