डीएपी, यूरिया एवं एनपीके खाद के दामों में भारी कटौती, जाने क्या है नए दाम

17
157887

डीएपी, यूरिया एवं एनपीके खाद के नए दाम

खेती में लागत कम करने के उद्देश्य से IFFCO ने उर्वरक के मूल्य में की कटौती कर दी है | इन उर्वरक में DAP, NPK, NP के उर्वरकों को शामिल किया गया है | इसकी घोषणा तमिलनाडु में IFFCO के एमडी और सीईओ यू एस अवस्थी ने की | IFFCO देश की सार्वजनिक क्षेत्र की एक मात्र कंपनी है जो देश में 5 करोड़ किसानों को उर्वरक उपलब्ध कराता है | इस बार उर्वरक IFFCO ने जो मूल्य कम क्या है वह पोटेशियम युक्त उर्वरक में किया है |

IFFCO के तरफ से किया हुआ इस घोषणा को 15 अगस्त के स्वतन्त्रता पर दिया हुआ तोफा माना जा रहा है | अब जो कंपनी इस उर्वरक को भेजेगा तो नयी दर प्रिंट किया हुआ रहेगा | यह दर आज से ही लागु हो गया है | यहाँ पर इस बात का ध्यान रखना होगा कि पहले से उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर जो उर्वरक बेचा जा रहा है उसे पहले से प्रिंट रेट पर ही दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   जानिए क्या रहा इस वर्ष गेहूं एवं अन्य रबी फसलों की बुआई का रकबा

नया मूल्य क्या रहेगा ?

पहले का मूल्य तथा 50 रुपया कम करने के बाद का मूल्य इस प्रकार रहेगा |

  1. DAP का पहले से मूल्य 1400 रुपया प्रति पैकेट था, जिसे पहले ही घटाकर 1300 किया गया है अब इस पर 50 रूपये की कटौती किया गया है | जो घटकर 1250 रुपया प्रति पैकेट हो गया है |
  2. NPK-1 उर्वरक का पहले दाम 1365 रुपया प्रति पैकेट था , जिसे घटकर 1250 रुपया प्रति पैकेट कर दिया गया था | अब इसमें 50 रुपया की कटौती कर नयी दर 1200 रुपया प्रति पैकेट कर दिया गया है |
  3. NPK – 2 उर्वरक का पहले मूल्य 1260 रुपया प्रति किवंटल था , जिसे 50 रुपया की कटौती कर 1210 रुपया प्रति पैक्ट कर दिया गया |
  4. NP उर्वरक का मूल्य पहले 1000 रुपया प्रति पैकेट था जिसमें 50 रुपया की कटौती कर 950 रुपया प्रति पैकेट कर दिया गया है |

क्या है DAP?

डीएपी का पूरा नाम डाइअमोनिया फास्फेट (diammonium phosphate) होता है | यह एक दानेदार उर्वरक है |इस उर्वरक में आधे से ज्यादा हिस्सा फास्फोरस युक्त होता है जो पानी में पूरी तरह से घुलनशील नहीं होता है | इस उर्वरक का मुख्य उपयोग पौधों को जड़ो की विकाश कराने में किया जाता है |

यह भी पढ़ें   किसानों को कम्बाईन हार्वेस्टर उपलब्ध करवाने के लिए सरकार ने जारी किये निर्देश

क्या है NPK ?

NPK उर्वरक में नाईट्रोजन , फास्फोरसतथा पोटेशियम तीनों मौजूद रहता है | यह दानेदार उर्वरक होता है | इस उर्वरक का प्रयोग पौधे के विकास तथा मजबूती के लिए किया जाता है साथ ही पौधे से फल को गिरने से बचाया जाता है |

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

17 COMMENTS

    • दोनों आवश्यकता के अनुसार उपयोग की जाये तो अच्छी रहती है | जैविक खाद आप घर पर बना सकते हैं जबकि रासायनिक खरीदनी पड़ती है |
      जैविक खेती की जानकारी के लिए https://kisansamadhan.com/organic-farming/ पर देखें |

    • सर सब्सिडी पर ही मिलता है आप जहाँ से भी लें |

  1. मेरी समस्या यह हैं।मेरे किन्नू कि खरीद नहीं हो पाई ।इस लिये मेरा नूकसान बहूत हो रहा है।कोई समाधान बताऐ।

  2. कपास की फसल मे फूल???????????????? डिंडू जमीन पर गिर जाते हैं और फाल नही रुकता फसल पकती नही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here