मानसून ने पकड़ी रफ़्तार, दक्षिण मध्य प्रदेश पहुंचा मानसून

2757
latest monsoon progress in india

मानसून की ताजा स्थिति और पूर्वानुमान

मानसून की ताजा स्थिति

दक्षिण पश्चिम मानसून ने रफ्तार पकड़ ली है यह अब तेजी से आगे बढ़ रहा है आज महारष्ट्र के कुछ हिस्से और विदर्भ के कुछ भाग तथा उत्तरप्रदेश के पूर्वी हिस्से में आगे बढ़ा है | दक्षिण पश्चिम मानसून की सीमा रत्नागिरी, अहमदनगर औरन्गाबाद, नागपुर, पेंड्रा वाराणासी, बहराइच है |

24 जून को मानसून अलीबाग, मालेगांव, खंडवा, छिंदवाड़ा, पेंड्रा सुल्तानपुर, लखीमपुर-खेरी, मुक्तेश्वर की सीमा में प्रवेश कर चूका है | 

मानसून की अगले 48 घंटे के लिए पूर्वानुमान 

आगामी 48 घंटों में दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने की सम्भावना है जिसमें अरब सागर के मध्य भाग कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाडा, विदर्भ और छत्तीसगढ़, उत्तरी अरब सागर के कुछ दक्षिणी भाग, दक्षिणी गुजरात, एवं मध्यप्रदेश तथा उत्तर पूर्वी उत्तरप्रदेश के कुछ हिस्से शामिल हैं | अर्थात 25 जून तक मानसून इन जगहों पर पहुँचने की उम्मीद है |

मौसम को प्रभावित करने वाले कारक

मौसम को प्रभावित करने वाले कारक उत्तरी छत्तीसगढ़ में हवा की ऊपरी भाग में 5.8 किलोमीटर की ऊंचाई तक चक्रवाती हवा का घेरा बना हुआ है जो ऊंचाई के साथ दक्षिण दिशा की ओर झुका हुआ है दूसरा एक  द्रोणिका पश्चिमी राजस्थान से उत्तर बंगाल की खाड़ी तक समुद्र की सतह पर बना हुआ है जो मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ एवं उड़ीसा से होकर गुजर गुजर रही है जो 0.9 किलोमीटर की ऊंचाई तक बना हुआ है तीसरा एक हवा की ऊपरी भाग में चक्रवाती हवा का घेरा जो ऊंचाई के साथ दक्षिण पूर्व दिशा की ओर झुका हुआ है यह समुद्र तटीय कर्नाटक और उसके आसपास 3.1 एवं 7 .6 किलोमीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है |

यह भी पढ़ें   फसलों पर हुआ फड़का (ग्रासहोपर) कीट का हमला, किसान इस तरह बचाएँ अपनी फसल को

आगामी 24 घंटे हेतु मौसम पूर्वानुमान

जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड के अधिकांश भागों तथा हिमाचल प्रदेश, पूर्वोत्तर राज्यों के बाकि स्थानों समेत छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, आंतरिक कर्नाटक और गुजरात के पश्चिमी भागों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है| पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तरी मध्य प्रदेश और राजस्थान के इलाकों में धूलभरी आंधी और गरज के साथ बारिश होने की संभावना है।

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

पिछला लेखयह कृषि यंत्र दिए जा रहें हैं सब्सिडी पर, लेने के लिए अभी आवेदन करें
अगला लेखअब इस जगह के किसान भी करेंगे काजू की व्यावसायिक खेती

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.