सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के तहत एकसाथ कई किसान ले रहे हैं सोलर पम्प से सिंचाई का लाभ

1
sour urja yojna sinchai cg

सामुदायिक सौर सिंचाई योजना

आधुनिक कृषि में सौर सिंचाई का महत्व लगातार बढ़ता जा रहा है क्योंकि इससे न केवल खेती लागत कम होती है वल्कि इससे किसान हर समय सिंचाई का लाभ ले सकता है | सौर उर्जा को बढ़ावा देने के लिए राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा कई योजनायें चलाई जा रही है जिसका लाभ कई किसानों को दिया जा रहा है | सोलर उर्जा से सिंचाई के लिए अलग-अलग राज्यों में योजनायें अलग-अलग नामों से चल रही है जिसका लाभ किसान भाई ले सकते हैं | छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा सौर सुजला योजना पिछले कई वर्षों से चल रही है जिसके तहत किसान अपने खेत में सोलर पम्प लगवाकर खेतों में सिंचाई कर सकते है |

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चलाई जा रही सौर सुजाला योजना का एक घटक है “सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना” इसके तहत नदी या नहर अथवा अन्य सामुदायिक जल स्त्रोत सोलर पम्प से लेकर कृषकों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाया जाता है |

कहाँ की जा रही है सौर सामुदायिक परियोजना के तहत सिंचाई

क्रेडा विभाग द्वारा सूरजपुर जिले में सौर सुजला योजना अन्तर्गत सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के तहत 24 नग, 05 एच.पी. क्षमता के डी.सी. सोलर सरफेस पंप की स्थापना की गई है। यहॉ रेणुका नदी की धार बहती है, जिसमें जल संसाधन विभाग द्वारा एनीकट बनाकर वर्ष भर पानी उपलब्धता सुनिष्चित की गई है। इसी के दायें ओर 19 कृषकों की 49.35 हेक्टेयर जमीन एवं बायीं तरफ 05 कृषकों की 23.70 हेक्टेयर जमीन है। दोनों तरफ कुल 144 कृषकों की कुल 73.05 हेक्टेयर जमीन है जिसमें सोलर सरफेस पंप की सहायता से सिंचाई करने की व्यवस्था की गई है।

यह भी पढ़ें   किसान बीज, खाद एवं कीटनाशक खरीदते समय रहें सावधान ! 653 कंपनियों के नमूने पायें गए नकली

योजना के क्रियान्वयन से किसान अपने खेतों में ग्रीष्मकालीन फसल लगाकर सिंचाई करते हैं। इससे पूर्व किसानों के द्वारा केरोसीन पंप/डीजल पंप से सिंचाई कर कृषि कार्य किया जा रहा था, जिससे उनके आय से केरोसीन/डीजल क्रय करने में काफी नुकसान होता था। परंतु अब सौर सामुदायिक सिंचाई परियोजना के अंतर्गत सोलर सरफेस पंप लग जाने से वहां के किसानों द्वारा रबी फसल एवं जायद फसल के साथ ही साथ मौसमी सब्जियों का उत्पादन कर रहे हैं |

किसान सौर सुजला योजना के तहत कैसे पंजीकृत हो

इस योजना के लाभार्थियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का कृषि विभाग (Agriculture Department) मुख्य पंजीयन प्राधिकरण (Registering Authority) है | किसान आवेदन करने के लिए मुक्त है पर रियायती दरों में सोलर पंप बांटने के लिए योग्य पात्रों को चयन कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा किया जायेगा | इस योजना के लिए आवेदन पत्र ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है | आवेदन को ठीक से भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ केवल कृषि कार्यालयों में प्रस्तुत करना होगा | इस योजना के लिए आवेदन शुल्क भी है | आवेदन प्राप्त होने के बाद CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा जांच की जाती है की आवेदक इस योजना के लिए योग्य पात्र है या नही |

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ में अनुदान पर कृषि यंत्र हेतु आवेदन आमंत्रित

सौर सुजला योजना की पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

Previous articleबिजली बिल जमा नहीं करने के कारण कनेक्शन कट गया है तो इस योजना के तहत दोबारा कनेक्शन करवाएं
Next articleराज्य सरकार जल्द ही किसानों को अनुदान देकर करेगी बंजर, लवणीय एवं क्षारीय भूमि का उपचार

1 COMMENT

  1. Sir l am kisan santosh Kumar Bihar se hamki solar papiy set ki awasykta hai mughey ap se niwedan karts hu ki aap garib kisan ko thaya kre enka awedan sobikar karey ph7982648435 sharn gila de hu

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here