back to top
28.6 C
Bhopal
बुधवार, जून 26, 2024
होमकिसान समाचारकिसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 1.22 करोड़ किसानों को दिया...

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 1.22 करोड़ किसानों को दिया गया ऋण

किसान क्रेडिट कार्ड KCC योजना के तहत स्वीकृत ऋण

‘कोविड-19’ के झटकों से कृषि पर तथा किसानों के आर्थिक हालत पर बुरा असर पड़ा है, जिससे इस वर्ष के खरीफ मौसम में खेती के लिए किसानों को पैसों की कमी को किसान क्रेडिट कार्ड ने पूरा किया है | केंद्र सरकार के तरफ से जारी आकड़ों के अनुसार 17 अगस्त 2020 तक देश भर में 1.22 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गये हैं | इन सभी किसान कार्ड धारी को 1,02,065 करोड़ रूपये की ऋण सीमा के साथ स्वीकृति दी गई हैं | सरकार का ऐसा मानना है कि इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने और कृषि क्षेत्र के विकास की गति तेज करने में काफी मदद मिलेगी |

इस वर्ष किसान सम्मान निधि योजना के तहत जुड़े किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिए जाने के लिए अभियान शुरू किया गया था जिससे नए किसान इस योजना से जुड़ें हैं | भारत सरकार के द्वारा शुरू किया गया आत्मनिर्भर भारत पैकेज के एक हिस्से के रूप में 2 लाख करोड़ रूपये के रियायती ऋण का प्रावधान या व्यवस्था करने की घोषणा की थी, जिससे मछुआरों और डेयरी किसानों सहित 2.5 करोड़ किसानों के लाभन्वित होने की आशा है | यह घोषणा वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने आर्थिक पैकेज के तहत किया था |

यह भी पढ़ें   किसान 31 मार्च तक करें लें यह काम, वरना नहीं मिलेगा पीएम किसान योजना का पैसा

4 प्रतिशत की ब्याज दर पर किसान ले सकते हैं ऋण

कृषि तथा उधानिकी के लिए प्रत्येक किसान परिवार को भूमि के अनुसार अधिकतम 3 लाख रूपये तक लोन 7 प्रतिशत की ब्याज पर दिया जाएगा | अगर किसान 3 लाख या उससे कम का लोन एक वर्ष में लौटा देता है तो उसे 3 प्रतिशत की ब्याज पर सब्सिडी दिया जाएगा | इसका मतलब यह हुआ कि उसे 3 लाख रूपये तक का लोन 4 प्रतिशत की ब्याज पर एक वर्ष के लिए दिया जाएगा |

मछलीपालन एवं पशु पालन पर भी किसान क्रेडिट कार्ड के तहत दिया जा रहा है ऋण

पशुपालन एवं मत्स्यपालन की गतिविधियों से अधिक किसानों के जुड़ने के कारण वर्ष 2019 के बजट में किसान क्रेडिट कार्ड सुविधा की उपलब्धता को पशुपालन तथा मत्‍स्‍यपालन के लिए भी सुनिश्चित करने बारे निर्णय लिया गया है और इसी अनुरूप पूर्व से किसान क्रेडिट कार्ड धारकों को 4% ब्याज दर पर 3 लाख की ऋण सीमा के तहत पशुपालन तथा मत्‍स्‍यपालन गतिविधियों को भी शामिल किया गया है। लोन 1.6 लाख रूपये तक का बिना ब्याज का दिया जा रहा है | यह राशी बढ़ाकर 3 लाख रूपये तक किया जा सकता है | सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसके लिए किसान के पास खेती होना जरुरी नहीं है |

यह भी पढ़ें   मौसम चेतावनी: 18 से 20 अप्रैल के दौरान इन जिलों में हो सकती है बारिश

घरेलू जरूरतों के पर भी खर्च सकेगें 10 प्रतिशत राशि

कोविड–19 को ध्यान में रखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने यह घोषणा की है कि किसान क्रेडिट कार्ड से प्राप्त लोन का 10 प्रतिशत राशि किसान अपने घरेलू जरूरतों के लिए खर्च कर सकते है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

5 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर