जानिए कब से शुरू होगी 2500 रुपये प्रति क्विंटल पर धान की खरीदी

0
26352
2500 rupaye prati quintal par dhaan ki kharid cg

2500 रुपये प्रति क्विंटल पर धान की खरीद

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी लगभग सभी राज्यों में शुरू हो चुकी है | कुछ ऐसे राज्य हैं जहाँ पर धान की खरीदी अभी शुरू नही हुई है | मौसम और जलवायु के कारण धान की बुआई पीछे होने के कारण कटाई भी देरी से होती है | छत्तीसगढ़ राज्य देश में धान उत्पादन में अग्रिम स्थान रखता है | यहाँ की राज्य सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 685 रूपये का बोनस दे रही है जो पिछले वर्ष भी था | छत्तीसगढ़ में धान कि सरकारी खरीदी 2500 रूपये प्रति क्विंटल पर किया जा रहा है जो पुरे देश में सबसे ज्यादा है | इसी कारण अन्य पडोसी राज्यों के जिलों के कुछ किसान और व्यापारी अवैध तरीके से धान की विक्रय करने की कोशिश में लगे रहते हैं | इस स्थिति को देखते हुए सरकार ने जगह जगह पर छापेमारी शुरू कर दी है |

1 दिसम्बर से शुरू होगी 2500 रुपये प्रति क्विंटल पर धान की खरीद

छत्तीसगढ़ में धान की खरीदी एक दिसम्बर से शुरू कर दी जाएगी जो 15 फरवरी तक चलेगी | इसके लिए वे सभी किसान पात्र हैं जो धान खरीदी के लिए पंजीयन करवा लिए हैं | जिन किसानों का पंजीयन नहीं हुआ है उनकी धान की खरीदी नहीं की जाएगी | इस बात का भी ध्यान रखना होगा की कहाँ की खरीदी के लिए प्रत्येक पंजीकृत किसानों को एक टारगेट दिया जायेगा तथा उसी के अनुसार खरीदी शुरू किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   कोरोना वायरस से चल रहे लॉक डाउन में हार्वेस्टर चालकों को दिए जाएंगे पास
दुसरे राज्यों के जिलों से धान कि आवक रोकने के लिए कड़े इंतजाम

उल्लेखनीय हैं कि मुख्यमंत्री ने धान कि आवक दुसरे राज्यों से रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम करने के नर्देश दिए हैं | गत दिनों मुख्य सचिव श्री आर. पी. मण्डल ने स्थानीय न्यू सर्किट हॉउस में आयोजित बैठक में राज्य के सभी कमिश्नरों और कलेक्टरों को प्रदेश के सीमावर्ती जिलों से आने वाले अवैध धान को रोकने के लिए चेक पोस्ट बनाकर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं | अवैध धान परिवहन रोकने के लिए सीमावर्ती जिलों में चाकचैबंद व्यवस्था की गई है |

छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में धान का अवैध परिवहन करते हुये पाए जाने पफर 63 वाहनों शीत 19 हजार 33 किवंटल धान जब्त किया गया है | अवैध धान परिवहन के 190 प्रकरण बनाए गए हैं, इनमें से एक प्रकरण पर एफआईआर भी दर्ज की गई है | शेष प्रकरणों पर मंडी अधिनियम के तहत करवाई की जा रही है |

यह भी पढ़ें   देश में 3 करोड़ सोलर पम्प स्थापित करने वाली कुसुम योजना का क्या हुआ

धान की अवैध स्टोरेज के खिलाफ शिकायत करें

 धान के अवैध आवक तथा अवैध स्टोरेज पर रोक लगा दी गई है | अगर किसी व्यक्ति के पास इस तरह की सुचना है की उनके जानकारी में कोई व्यापारी तथा राईस मिल या किसान अवैध तरीके से धान की स्टोरेज कर रहा है तो वह इस नंबर पर फोन करें | यह नंबर है 07817- 223026

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here