जानिए इस वर्ष किसान क्रेडिट कार्ड एवं अलग-अलग फसलों की खेती के लिए कितना लोन मिलेगा

0
128
loan limit for crop production

किसान क्रेडिट कार्ड एवं फसल उत्पादन के लिए ऋणमान तय

देश में किसानों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के चलते उन्हें कृषि कार्यों के लिए लोन की आवश्यकता पड़ती है | जो किसान बैंकों से या साहूकारों से लेकर उसकी पूर्ति करतें हैं | ऐसे में किसानों को कम ब्याज दरों पर आसानी से लोन मिल सके इसके लिए केंद्र एवं राज्य सरकारों के द्वारा कई योजनायें चलाई जा रही हैं | किसान यह ऋण किसान क्रेडिट कार्ड पर या सहकारी समितियों के माध्यम से ले सकते हैं | किसानों को कितना फसली ऋण मिलेगा इसका निर्धारण राज्य सरकारों के द्वारा जिलेवार तय किया जाता है | छत्तीसगढ़ सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए जिलेवार ऋणमान तय कर दिया है, किसान इस आधार पर बैंकों से ऋण ले सकते हैं | इस वर्ष राज्य में किसानों को 5300 करोड़ रुपये का लोन देने का लक्ष्य रखा है |

किसानों को फसल उत्पादन के दौरान होने वाली आर्थिक समस्याओं को दूर करने एवं फसल की लागत को कम करने के लिए किसानों को सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से विभिन्न फसलों के लिए ऋणमान तय कर दिया गया है। किसानों को खरीफ-रबी फसलों, फलदार वृक्षों, साग-सब्जियों, मसालों एवं उद्यानिकी फसलों की खेती करने के लिए शासन द्वारा ऋण प्रदान किया जाएगा। फसल उत्पादन के लिए विभिन्न फसलों के लिए शासन द्वारा प्रदान किए जाने वाले ऋण से किसानों को मदद मिलेगी।

किसान इन बैंकों से ले सकते हैं लोन

राज्य सरकार ने किसानों को ऋण आसानी से बैंकों से मिल सके इसके लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं | किसान यह लोन समयावधि में साख सीमा पत्रक तैयार कर स्वीकृत करने तथा किसानों को समय पर वित्तीय सहायता सुलभ कराने के लिए सभी पंजीयक सहकारी संस्थाएं, राज्य सहकारी बैंक, ग्रामीण विकास बैंक, कृषि विभाग, सहकारी पंजीयक समितियों एवं सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों से ले सकते हैं |

यह भी पढ़ें   इफको की किसानों के लिए एक नई पहल  “नीम लगाओ, पैसे कमाओ”
किस रूप में दिया जायेगा किसानों को ऋण

खरीफ एवं रबी फसलों के लिए अदायगी क्षमता के आधार पर नकद एवं कृषि संबंधी खाद-बीज एवं कृषि यंत्र सामग्री के रूप में ऋण प्रदान किया जाएगा। संबंधित फसलों के लिए निर्धारित कुल ऋण में से 60 प्रतिशत नगद राशि के रूप में एवं 40 प्रतिशत सामग्री के रूप में प्रदान की जाएगी।

KCC किसान क्रेडिट कार्ड पर दिया जाने वाला अधिकतम लोन

किसान क्रेडिट कार्ड धारक किसानों को अल्पकालीन नकद एवं वस्तु ऋण की अधिकतम सीमाएं भी तय की गई हैं। किसान क्रेडिट कार्ड पर अधिकतम ऋण पांच लाख रूपए तय की गई है। इसमें नगद राशि तीन लाख रूपए एवं वस्तु के लिए दो लाख रूपए निर्धारित की गई है।

किस फसल पर किसान कितना लोन ले सकते हैं ?

खरीफ वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत सिंचित धान फसलों के लिए कुल 19 हजार 800 रूपए प्रति एकड़ ऋण किसानों के लिए तय किया गया है। इसी प्रकार धान असिंचित के लिए 14 हजार 400 रूपए प्रति एकड़, अरहर एवं तुअर के लिए 11 हजार रूपए प्रति एकड़, मूंगफली के लिए 13 हजार 200 रूपए कोदो-कुटकी के लिए तीन हजार रूपए, सोयाबीन के लिए 13 हजार 200 रूपए प्रति एकड़ ऋण निर्धारित की गई है।

यह भी पढ़ें   किसान भाई सोलर ड्रायर एवं ड्रायर शेडिंग अनुदान पर लेने के लिए आवेदन करें

रबी फसलों के लिए गेहूं सिंचित के लिए 8 हजार रूपए, गेहूं असिंचित के लिए छह हजार रूपए, धान ग्रीष्म कालीन के लिए 19 हजार 200, चना के लिए 8 हजार रूपए प्रति एकड़ ऋण निर्धारित की गई है। फलदार फसलों में काजू के लिए 16 हजार रूपए, कटहल के लिए 12 हजार रूपए, केला के लिए 60 हजार रूपए, आंवला के लिए 14 हजार 560 रूपए प्रति एकड़ ऋण निर्धारित की गई है। इसी प्रकार साग-सब्जी, मसाला, फूल तथा लाख उत्पादन के लिए ऋणदान का निर्धारण किया गया है।

किसानों को फसल उत्पादन में आर्थिक सहयोग के लिए दिए जाने वाले ऋण में आम, अमरूद, संतरा, बेर आदि उद्यानिकी फसलों के लिए नकद एवं वस्तु के रूप में ऋण दिया जाएगा। किसानों को साग-सब्जी के लिए ऋण तथा उनकी अदायिगी क्षमता के आधार पर दिया जाएगा।

गोठानों से मिलने वाली वर्मी कम्पोस्ट खाद पर भी मिलेगा लोन

किसानों को विभिन्न फसलों की खेती करने के लिए ऋण सहित गोधन न्याय योजना अंतर्गत गौठानों में उत्पादित वर्मी कम्पोस्ट भी किसानों को लोन पर मिलेगा। वर्मी कम्पोस्ट को समितियों के माध्यम से वस्तु ऋण के अंतर्गत निर्धारित ऋणमान में शामिल किया गया है। शासन द्वारा निर्धारित दर पर ही किसानों को वर्मी कम्पोस्ट भी ऋण के तौर पर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here