किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर

0
1605
views
किसान क्रेडिट कार्ड पर लगने वाला व्याज

किसान अक्सर यह सवाल पूछते हैं की किसान क्रेडिट कार्ड ब्याज दर क्या है इसलिए किसान समाधान इस योजना से सम्बंधित सभी जानकारी लेकर आया है | किसानों को साहूकारों से बचाने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा किसानों के लिए वर्ष 1998 – 1999 में किसान क्रेडिट कार्ड शुरू किया गया है | इस योजना के तहत किसान को उसकी भूमि के अनुसार बैंक से कृषि कर्ज दिया जाता है | इस योजना के तहत सभी तरह के किसान आते हैं, यह योजना पुरे देश में लागु है परन्तु अलग – अलग राज्यों में कुछ नियम में बदलाव किये गए है |

किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2018 से लाभ :-

  • इस योजना के तहत किसान कम ब्याज पर आसानी से कृषि ऋण प्राप्त कर सकते हैं
  • इसमें प्रत्येक वर्ष लोन प्रक्रिया का सामना नहीं करना पड़ता है |
  • किसान को नगद रुपया दिया जाता है जिससे किसान अपनी जरुरत के अनुसार कृषि उपकरण भी खरीद सकते हैं |
  • इस योजना के तहत दी गई पासबुक से किसी भी बैंक से लोन लेने के लिए अप्लाई कर सकते हैं |
  • आप वर्ष में कभी भी कृषि ऋण ले सकते हैं |

यह योजना किस तरह के किसानों के लिए है ?

पुरे देश में सभी तरह की फसल (खरीफ, रबी, उद्यानकी , जायद)  किसानों के लिए है | वर्ष 2018 से केंद्र सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड को पशुपालन के लिए भी शुरू कर दिया है | यानि जो किसान कृषि के लिए उपयोग करते थे उसी क्रेडिट कार्ड को पशुपालन के लिए भी उपयोग कर सकते हैं तथा इसकी लिमिट आपको पशुधन पर दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   गेहूं की नई विकसित सभी किस्में

पात्रता

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक का एक किसान होना जरुरी है |
  • सभी किसान अप्लाई कर सकते हैं जो अभी भी खेती ही कृते हैं |
  • आपको जिस बैंक से लोन लेना है वो आपके घर के या जहां आपकी जमीं है वही होना चाहिए |

किस लोन पर कितना ब्याज लगेगा ?

सरकारी बैंक, निजी बैंक, सहकारी बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एक साल के लिए कृषि कर्ज देंगे | जिला सह्करिम केंद्रीय बैंक को छोड़कर सभी बैंक फसलों के लिए यह कर्ज 9 फीसदी ब्याज पर मिलेगा | सरकार इस पर पांच फीसदी छूट देगी | इसमें किसानों को चार फीसदी ब्याज का भुक्तं करना होगा | जो किसान एक साल में कर्ज का भुगतान नहीं कर सका उसे ब्याज पर सिर्फ दो फीसदी ही छूट मिलेगी | वहीँ जिन किसानों ने सिर्फ छ महीने के लिए कर्ज लिया है उन्हें भी दो फीसदी की छूट मिलेगी | एसे में उन्हें सात फीसदी ब्याज देना होगा | प्राक्रतिक आपदा प्रभावित किसान के कर्ज पुनर्गठन के मामले में पहले साल ब्याज में दो फीसदी छूट मिलेगी |

क्या एक वर्ष के बाद लोन का क्रेडिट बढ़ सकता है ?

जी हाँ , किसी भी बैंक से आप कर्ज लेकर समय पर लौटा देते हैं तो प्रत्येक वर्ष कुल लोन का 10% बढ़ा देगा | इसी तरह से 2 , 3,4 वर्ष में भी अप के लोन क्रेडिट में 10 – 10 प्रतिशत की वृद्धि दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   गुडमार औषधीय पौधे की खेती

सहकारी बैंक पर भी एक ही नियम रहेगा ?

नहीं ! जिला सहकारी बैंक आप को अधिकतम तीन लाख रूपये तक जीरो फीसदी ब्याज दर पर लोन देगी | किसानों को 75 % नगद और 25% राशी खाद – बीज के माध्यम से दी जाती है | लेकिन लोन आदायगी 28 मार्च तक रहेगी | यदि लोन अदायगी की नियत तिथि तक राशि जमा हो जाती है तो किसान को कोई ब्याज नहीं लगेगी | यदि वह राशी देने से चुक जाता है तो उसे 14.5 % की दर से ब्याज लगेगा (शासन निर्देश अनुसार) |  आमतौर पर ब्याज 11% इसमें राज्य 6% केंद्र सरकार 5% अंशदान मिलाती है |

किसान समाधान से YouTube पर जुड़े

नोट :-

  1. बिहार राज्य में लोन पर 1% की अतरिक्त ब्याज में छूट दे रही है | यानि 3 लाख के लोन पर 4% की जगह 3% का ब्याज लगेगा |
  2. किसान क्रेडिट कार्ड से लोन पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत आप के फसल का बीमा कर दिया जाएगा | जो खरीफ फसल के लिए 2%, रबी के लिए 1.5% तथा उधानकी के लिए 5% का प्रीमियम कटा जायेगा |
  3. वर्ष 2018 से यह कार्ड पशुपालन के लिए भी उपयोग कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here