back to top
28.6 C
Bhopal
मंगलवार, जुलाई 23, 2024
होमकिसान समाचारइन कैम्प में किया जा रहा है पशुओं का बीमा, किसान...

इन कैम्प में किया जा रहा है पशुओं का बीमा, किसान जल्द कैम्प में जाकर उठाएँ योजना का लाभ 

महंगाई राहत कैम्प: पशु बीमा

समय-समय पर किसानों को सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराने एवं योजनाओं का लाभ देने के लिए शिविरों का आयोजन किया जाता है। ऐसे ही राजस्थान सरकार राज्य में महंगाई राहत कैम्प का आयोजन कर रही है। कैम्प में प्रत्येक पात्र व्यक्ति को कम समय में प्रमुख दस योजनाओं के लाभ देने के साथ ही सरकार की अन्य योजनाओं की जानकारी दे रही है ताकि जन जन तक राज्य सरकार की समस्त योजनाओं का लाभ पहुंच सके। 

महंगाई राहत कैम्प में सरकार द्वारा दिए जा रहे 10 योजनाओं के लाभ में पशुओं के बीमे के लिए चल रही कामधेनु पशु बीमा योजना को भी शामिल किया है। ऐसे में राज्य के किसान इन कैम्प में जाकर अपने पशुओं का बीमा करा सकते हैं साथ ही अन्य योजनाओं का लाभ भी ले सकते हैं। पशुपालन विभाग के शासन सचिव श्री कृष्ण कुणाल ने भरतपुर जिला अतंर्गत रुपवास तहसील में आयोजित किये जा रहे महंगाई राहत शिविर का औचक निरीक्षण किया।

यह भी पढ़ें   मशरूम उत्पादन और नर्सरी व्यवसाय के लिए किसानों को दिया जाएगा प्रशिक्षण, किसानों को यहाँ करना होगा आवेदन

दुधारू पशुओं का अवश्य कराएँ बीमा

इस अवसर पर पशुपालन विभाग के शासन सचिव श्री कृष्ण कुणाल ने मुख्यमंत्री कामधेनु पशु बीमा योजना की जानकारी देते हुए कहा कि अगर गाय है और दूध देती है तो बीमा जरूर करवाएं। उन्होंने लाभार्थियों को बताया कि योजना के तहत 2 दुधारू पशुओं का 40 हजार रुपए का बीमा किया जा रहा है साथ ही राज्य का कोई भी निवासी सम्पूर्ण प्रदेश में किसी भी जगह महंगाई राहत शिविर में 10 योजनाओं के लाभ के लिए पंजीयन करा सकता है।

पंजीकरण में आ रही समस्याओं का किया जा रहा है समाधान

शासन सचिव श्री कृष्ण कुणाल ने शिविर में मौजूद अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि मौके पर आम जनता को यदि पंजीयन सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या आ रही है तो उसका निस्तारण मौके पर ही करने का प्रयास किया जाये ताकि कोई भी व्यक्ति शिविर में से योजनाओं के लाभ की गारंटी के बिना नहीं लौटे। उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर नाम एवं स्थान परिवर्तन या दस्तावेज संबंधित समस्याएं देखी जाती है जिसका समाधान मौके पर ही किया जाना सुनिश्चित किया जाये।

यह भी पढ़ें   यह है गोबर की खाद बनाने का सही तरीका, जिससे मिलेगा अधिक फायदा

इस मौके पर पशुपालन विभाग के अधिकारियों को शासन सचिव ने निर्देशित करते हुए कहा कि शिविर में विभाग की अन्य योजनाओं के साथ पशुओं के देखभाल एवं टीकाकरण की जानकारी भी पशुपालकों को दी जाये ताकि पशुपालक उन्नत पशुपालन के प्रति जागरूक होकर पशुपालन कर सकें। 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर