डीएपी एवं अन्य उर्वरकों की कमी को देखते हुए इन राज्य सरकारों ने केंद्र से की जल्द आपूर्ति की मांग

0
5781
DAP urea availability

डीएपी एवं अन्य उर्वरकों की उपलब्धता

देश के कई राज्यों में वर्ष 2021–22 के रबी सीजन में डी.ए.पी. एवं अन्य उर्वरकों की कमी देखी जा रही है | जिसको देखते हुए राज्य सरकारों द्वारा उर्वरकों की जल्द आपूर्ति की मांग केंद्र सरकार से की जा रही है | केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने राज्यों के कृषि मंत्रियों के साथ देश भर में उर्वरक उपलब्धता की स्थिति की समीक्षा करते हुए आश्वासन दिया, कि “देश भर में उर्वरक का पर्याप्त उत्पादन हो रहा और इनकी कोई कमी नहीं है”। आभासी रूप से (वर्चुअली) आयोजित इस समीक्षा बैठक में 18 राज्यों के कृषि मंत्रियों ने भाग लिया ।

केन्द्रीय कृषि मंत्री के दावे के उलट राज्य के कृषि मंत्रियों ने उर्वरक उपलब्ध कराने पर सवाल उठाया है | उन्होंने केंद्र सरकार से यह मांग की है कि राज्यों को मिलने वाली उर्वरक मांग के अनुरूप आपूर्ति नहीं हुई है | इसलिए जल्द से जल्द उपलब्ध कराया जाए |

छत्तीसगढ़ में 2 रेक डीएपी और 1 रेक एनपीके उर्वरक उपलब्ध कराने की मांग

राज्य के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने भारत सरकार के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय द्वारा राज्यों में उर्वरक की उपलब्धता के संबंध में आयोजित वर्चुअल बैठक में केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया से राज्य को सीजन के अनुरूप उर्वरक की मांग की है | कृषि मंत्री ने नवम्बर माह में डीएपी उर्वरक की 2 रेक तथा एनपीके उर्वरक की 1 रेक तत्काल उपलब्ध कराने की अपील की है।

यह भी पढ़ें   आज से MSP पर शुरू होगी धान की खरीद, धान बेचने के लिए किसान ले सकते हैं ऑनलाइन टोकन

रबी सीजन के लिए छत्तीसगढ़ राज्य को 4 लाख 11 हजार मेट्रिक टन उर्वरक की जरूरत है। इसके विरूद्ध अक्टूबर माह में 60 हजार मेट्रिक टन के विरूद्ध मात्र 20 हजार 273 मेेट्रिक टन एवं नवम्बर माह में 45 हजार टन के विरूद्ध 9 हजार 355 टन उर्वरक ही राज्य को मिला है। कृषि मंत्री ने डीएपी उर्वरक की आपूर्ति की ओर केन्द्रीय मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि अक्टूबर माह में 10 हजार मेट्रिक टन की आपूर्ति के बदले मात्र 5 हजार 681 टन तथा नवम्बर माह में 10 हजार टन के विरूद्ध मात्र 1651 मेट्रिक टन डीएपी उर्वरक प्राप्त हुआ है। उन्होंने राज्य की मांग के अनुरूप रासायनिक उर्वरकों की आपूर्ति का आग्रह किया।

राजस्थान ने कि 5 रैक डीएपी एवं 1.5 लाख मैट्रिक टन यूरिया की मांग

राजस्थान के कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने किसानों को समय पर उर्वरक उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार से नवम्बर माह में तत्काल 5 रैक डीएपी एवं 1.5 लाख मेट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति करने का आग्रह किया है |

कृषि मंत्री के अनुसार डीएपी की 5 रैक की तत्काल आवश्यकता है | साथ ही नवम्बर माह में 1.5 लाख टन यूरिया दिसम्बर महीने में राज्य को 50 हजार मैट्रिक टन डीएपी एवं 3.5 लाख मैट्रिक टन यूरिया आपूर्ति करने की मांग की है | उन्होंने बताया कि प्रदेश में सामान्यतः 3.5 लाख मैट्रिक टन एसएसपी का उपयोग होता है, जो बढ़कर इस वर्ष 6 लाख मैट्रिक टन से अधिक हो गया है।

यह भी पढ़ें   14 अक्टूबर से पांच दिनों के लिए आयोजित किया जायेगा अन्तर्राष्ट्रीय कृषि मड़ई एग्री कार्नीवाल 2022, किसानों को मिलेंगे यह लाभ

हरियाणा कृषि मंत्री ने की यूरिया आपूर्ति की मांग

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री. जेपी दलाल ने केंद्रीय मंत्री के साथ राज्य में लगभग 11 लाख मीट्रिक टन यूरिया उर्वरक की आवश्यकता पर भी चर्चा की गई। केंद्र सरकार द्वारा राज्य को लगभग 4.5 लाख मीट्रिक टन यूरिया पहले ही उपलब्ध कराया जा चुका है। रबी फसलों की बिजाई के दौरान यूरिया की आवश्यकता को पूरा करने के लिए केंद्रीय मंत्री ने 31 दिसंबर 2021 तक हरियाणा प्रदेश के लिए 4.5 लाख मीट्रिक टन यूरिया उर्वरक उपलब्ध कराने की मांग को मंजूरी दी है।

बिहार सरकार ने एक लाख मीट्रिक टन डीएपी की आपूर्ति की मांग

समीक्षा बैठक में बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने किसानों की समस्या को देखते हुए जल्दी आपूर्ति कराने की मांग की | बिहार में डीएपी खाद की मांग को देखते हुए बिहार सरकार ने एक लाख मीट्रिक टन डीएपी की आपूर्ति की मांग की है | अपनी समस्या के बारे में बताते हुए बिहार के कृषि मंत्री ने कहा कि रबी फसल में डीएपी की मांग के मुताबिक आपूर्ति नहीं हो पा रही है | इस पर उर्वरक मंत्री मनसुख मांडविया ने यह आश्वासन दिया कि बिहार राज्य को रबी मौसम, वर्ष 2021-22 में आवश्यकता के अनुरूप समय पर उर्वरकों की आपूर्ति की जाएगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here