प्रशासन गांवों के संग अभियान में पशुपालकों से जुड़ी समस्याओं का होगा समाधान

0
12927
pashupalan shivir raj

पशुपालकों के लिए शिविरों का आयोजन

किसानों एवं पशुपालकों की समस्याओं के समाधान के लिए समय-समय पर राज्य सरकारों के द्वारा शिविरों का आयोजन किया जाता है | जहाँ लोगों को आ रही समस्याओं का समाधान एवं योजनाओं के विषय में जानकारी दी जाती है | राजस्थान सरकार की ओर से प्रदेश में 2 अक्टूबर से “प्रशासन गांवों के संग अभियान 2021” का आयोजन किया जा रहा है | अभियान के तहत आयोजित किये जाने वाले शिविरों में राज्य के पशुपालकों को विभिन्न विभागीय जानकारियां उपलब्ध कराकर लाभान्वित किया जायेगा साथ ही किसान इन योजनाओं के लिए आवेदन भी कर सकते हैं।

कृषि एवं पशुपालन मंत्री श्री लालचन्द कटारिया ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से किसानों एवं ग्रामीण क्षेत्र की जनता की समस्याओं का मौके पर ही समाधान करने के लिए 2 अक्टूबर गांधी जयंती से प्रशासन गांवों के संग अभियान-2021 शुरू किया जा रहा है। इस अभियान से जुड़े विभागीय अधिकारी एवं कार्मिक पूरी तैयारी, गंभीरता एवं सेवा भाव के साथ लोगों के कामों को पूरा करें | उन्होंने कहा कि शिविरों में आने वाले हर फरियादी की समस्या को अधिकारी पूरी संवेदनशीलता से सुनें और उन्हें तत्काल राहत पहुंचाएं।

यह भी पढ़ें   मध्यप्रदेश में फसल पंजीयन की अवधि बढ़ी

पशुपालन से जुडी योजनाओं की दी जाएगी जानकारी

इन शिविरों के माध्यम से पशुपालकों को विभागीय कार्यक्रमों/योजनाओ की जानकारी देने के साथ-साथ संक्रामक बीमारियों के बचाव हेतु टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान, बंधियाकरण, रोगी एवं अस्थाई रूप से बांझ पशुओं का उपचार तथा पशु परजीवी रोगों की रोकथाम के लिए कृमिनाशक दवा दी जायेगी। डेयरी, भेड़-बकरी एवं मुर्गीपालन के लिए पशुपालक किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आवर्ति लागत जिसमें श्रमिकों की मजदूरी का भुगतान, पशुओं के लिए चारा व दाना खरीदने, बिजली व पानी, पशु चिकित्सा एवं पशु बीमा हेतु अल्पकालीन ऋण सुविधा उपलब्ध करवाये जाने के लिए पशुपालकों के आवेदन पत्र भी तैयार किये जायेंगे।

11,341 ग्राम पंचायतों में लगाए जाएंगे शिविर

2 अक्टूबर से 17 दिसम्बर 2021 तक चलने वाले प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत प्रदेश की 352 पंचायत समितियों में कुल 11,341 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर शिविर आयोजित होंगे। प्रशासन गांवों के संग अभियान के दौरान 21 विभागों द्वारा आमजन से जुड़े विभिन्न कार्य सम्पादित किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें   सरकार ने कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य में की 439 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here