इसे अपनाये और अपने पशु का दूध उत्पादन बढायें |

2
3761
views

इसे अपनाये और अपने पशु का दूध उत्पादन बढायें |

संतुलित पशु आहार का दुग्ध उत्पादन में महत्व

  • दुग्ध संघों द्वारा उत्पादित पशु दाना एक संतुलित आहार है | इसमें पशुओं के लिए आवश्यक सभी पोषण तत्व उचित अनुपात में मौजूद होते हैं |
  • पशु दाने के निर्माण में उत्तम गुणवक्ता के अनाज, तेल खली, ग्वारमिल, भूसी, शीरा, नमक, खनिज लवण तथा विटामिनों का प्रयोग किया जाता है | यह मंहगा नहीं होता और पशु इसे चाव से खाते है |
  • प्रोटीन,ऊर्जा, खनिज, और विटामिन से भरपूर पशु आहार से जानवर स्वस्थ रहते हैं, उनका विकास अच्छा होता है | गर्भ में पल रहे बच्चे के समुचित विकास के लिए भी पशु को इसे खिलाना लाभप्रद होता है |
  • यह प्रजनन शक्ति को बढ़ता है और दूध उत्पादन और फैट में भी वृद्धि करता है |
  • बछड़े / बछियों को 1 से 15  से 1.5 किलो संतुलित आहार प्रतिदिन देना चाहिए |
  • दुधारू पशुओं को स्वस्थ रखने के लिए 2 किलो पशु आहार और प्रति लीटर उत्पादित दूध के लिए गाय को 400 ग्राम तथा भैंस को 500 ग्राम संतुलित खिलाना चाहिए |
  • ब्याने वाली गायों / भैसों को 1 किलो पशु आहार तथा 1 किलों अच्छी गुणवत्ता की खली, गर्भावस्था के अंतिम 2 महीने में अतिरिक्त देना चाहिये |
यह भी पढ़ें   बकरी की विभिन्न उपयोगी देशी एवं विदेशी नस्लें, आवश्यक बातें आय व्यय का अनुमान
प्रतिदिन 6 लीटर दूध देने वाली गाय के लिए 2.5 किलोग्राम पशुआहार (दूध के लिए) + 2 किलो (स्वस्थ रहने के लिये) = 4.5 किलो प्रतिदिन की आवश्यकता होती है|
प्रतिदिन 6 लीटर दूध देने वाली भैस के लिए  2 – 3 किलोग्राम पशु आहार (दूध के लिए) + 2 किलो (स्वस्थ रहने के लिये) = 5 किलो प्रतिदिन की आवश्यकता होती है |
गर्भा अवस्था के अंतिम दो माह में गाय / भैंस के लिए 1 किलो संतुलित पशु आहार + 1 किलो खली + 2 किलो (स्वस्थ रहने के लिये) = 3 किलो प्रतिदिन संतुलित पशुआहार + 1 किलो खली की आवश्यकता होती है

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here