कपास में बिजाई के लिए बीटी कॉटन की हाइब्रिड किस्में 

0
1306
views

 कपास में बिजाई के लिए बीटी कॉटन हाइब्रिड किस्में 

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार की सिफारिश के अनुसार किसानों को विभिन्न किस्मों के बीटी कॉटन हाइब्रिड के बीज का प्रयोग करना चाहिए, जिनमें एनसीएस 9013 बीजी-2, एनसीएस 495 बीजी-2, एनसीएस 855 बीजी-2, एनसीएस 9024 बीजी-2, आरसीएच 791, एसडब्ल्यूसीएच 4744 बीजी-2, पीआरसीएच 333 बीजी-2, डीपीसी 3083 बीजी-2 शामिल हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि आरसीएच 314 बीजी-2, पीसीएच 9611 बीजी-2, जेकेसीएच 1050 बीजी-2, जेडसीएच 1101 बीजी-2, पीआरसीएच 7799 बीजी-2, एबीसीएच 2099 बीजी-2, पीसीएच 225 बीजी-2, पीआरसीएच 7776 बीजी-2, आरसीएच 653 बीजी-2, सोलर 72 बीजी-2, एनसीएस 189 बीजी-2, एसडल्यूसीएच 4707 बीजी-2, आरसीएच 773 बीजी-2, एसडब्ल्यूसीएच 4704 बीजी-2, एसओ7एच 878 बीजी-2, एबीसीएच 243 बीजी-2, आरसीएच 569 बीजी-2 शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि 45 एसएस 33 बीजी-2, तुलसी 225 बीजी-2, 6165-2 बीजी-2, एसडब्ल्यूसीएच 4755 बीजी-2, पीसीएच 360 बीजी-2, नामकोट 641 बीजी-2, एसडब्ल्यूसीए 4757 बीजी-2, आरसीएच 776 बीजी-2, कॉटन एच सोलर 75, 54 एसएस 33 बीजी-2, एमसी 5423 बीजी-2, शक्ति 9 बीजी-2, पीसीएच 877 बीजी-2, कॉटन एच सोलर 65, एनसीएस 123 बीजी-2, एनसीएस 558 बीजी-2, एमएच 5302 बीजी-2, डी-29 बीजी-2, 6476 बीजी-2, एसडब्ल्यूसीएच 4713 बीजी-2, एबीसीएच 192 बीजी-2, एबीसीएच 4899 बीजी-2, नामकोट 616 बीजी-2, सीसीएच-09 बीजी-2 और नामकोट 617 बीजी-2 शामिल हैं।

यह भी पढ़ें   गेंहू में सभी प्रकार की खरपतवार को इन दवाओं से ख़त्म करें

उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण निदेशालय, कृषि भवन, सैक्टर 21, पंचकूला, दूरभाष नम्बर 0172-2571553 से प्राप्त की जा सकती है |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here