राज्य के सभी जिलों में अनुदान पर की जाएगी खरीफ फसलों के बीजों की होम डिलेवरी

0
7211
seeds variety home delivery
kisan app download

खरीफ फसलों के बीजों की अनुदान पर होम डिलेवरी

खरीफ मौसम 2020 के लिए इस माह से किसान अपना काम शुरू कर देंगे | पिछले वर्ष की तरह ही इस वर्ष भी भारतीय मौसम विभाग ने देश में अच्छी बारिश होने की उम्मीद जताई है | जिसके देखते हुए देश में खरीफ मौसम का पैदावार अच्छी होने की उम्मीद है | खरीफ मौसम कि खेती के लिए सबसे ज्यादा जरूरत उन्नत किस्मों के प्रमाणित बीज तथा उर्वरक कि होती है | देश में लॉक डाउन रहने के कारण किसानों कि आवाजाही तथा माल कि ढुलाई पर असर पड़ा है ऐसे में किसानों के लिए बीज तथा उर्वरक कि उपलब्धता राज्य तथा केंद्र सरकार द्वारा की गई तैयारी पर पढ़ती है |

बिहार सरकार ने राज्य में होने वाले विभिन्न प्रकार की खेती के लिए बीज तथा उर्वरक कि उपलब्धता का दावा कर रही है | अच्छी वर्षा होने कि उम्मीद से खरीफ फसल का रकबा बढने कि उम्मीद है | इस वर्ष के खरीफ मौसम से राज्य सरकार राज्य के किसानों को सभी फसलों के बीज होम डिलवरी करवा रही है | इसके लिए बीज के आवेदन में किसान को होम डिलवरी का आप्शन को भरना होगा | किसानों को बीज घर पर पहुँचाने के लिए प्रति किलो 5 रुपये का शुल्क लगेगा | किसान समाधान बिहार में किसानों के लिए उपलब्ध बीज तथा उर्वरक कि जानकारी लेकर आया है |

इस वर्ष राज्य में खरीफ फसलों की बुआई का लक्ष्य

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार देश में सामान्य से अधिक वर्षा रहने कि उम्मीद है इसको देखते हुए बिहार में खरीफ फसल कि बुआई बढने कि भी उम्मीद जताई जा रही है | राज्य में 33 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में धान, 4.50 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का, 1.10 लाख हेक्टेयर में दलहनी फसल एवं 50 हजार क्षेत्र में मोटे अनाजों कि खेती करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | इस प्रकार बिहार में 39.10 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में कुल खाधान्नों कि खेती करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है |

यह भी पढ़ें   अगस्त माह बनाया जाएगा “कृषि यंत्रीकरण माह“ किसानों को दिए जाएंगे कृषि यंत्र

इसके अतरिक्त राज्य में 50 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में तेलाहनी  फसलों, 1.37 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में जुट की खेती तथा 5 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में मेस्ता कि खेती कि जायेगी | इस तरह बिहार में खरीफ, वर्ष 2020 में तेलाहनी फसलों को मिलाकर कुल 41.02 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में खरीफ फसलों कि खेती कि जायेगी |

बीजों पर दिया जाने वाला अनुदान

वर्ष 2020–21 के लिए खरीफ बीज का आवेदन चल रहे हैं  | कोई भी इच्छुक किसान अपनी इच्छा के अनुसार बीज ले हेतु ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं | सभी प्रकार के बीजों पर किसानों को 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है | 

खरीफ 2020

फसल का नाम
योजना
अनुमानित मूल्य (रू0 /कि0 ग्राम
10 वर्ष से कम के प्रभेद (अनुमान्य अनुदान )
10 वर्ष से अधिक के प्रभेद (अनुमान्य अनुदान)

धान

RKVY N.F.S.M 2020

36

मूल्य का 50%

15.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

संकर धान

RKVY N.F.S.M 2020

280.00 – 325.00

100.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

100.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

अरहर

RKVY N.F.S.M 2020

110.00

मूल्य का 50%

25.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

संकर मक्का

RKVY N.F.S.M 2020

122.00

मूल्य का 50%

उरद

RKVY N.F.S.M 2020

113.00

मूल्य का 50%

महुआ

RKVY N.F.S.M 2020

60.00

मूल्य का 50%

जूट

RKVY N.F.S.M 2020

70.00

मूल्य का 50%

मूँगफली

RKVY N.F.S.M 2020

90.00

40.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

सोयाबीन

RKVY N.F.S.M 2020

70.00

40.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

तिल

RKVY N.F.S.M 2020

120.00

80.00 रु0 प्रति कि.ग्राम

बीज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध

अच्छे उत्पादन को देखते हुए राज्य में खेती का रकबा बढ़ रहा है जिससे बीज कि मांग उत्त्पन्न होना स्वाभविक है | खरीफ कि खेती के लिए राज्य सरकार ने बिहार के किसानों के लिए मांग से ज्यादा रखे हुए हैं | बिहार के कृषि मंत्री के अनुसार सभी फसलों की मांग तथा उपलब्धता इस प्रकार है |

  • धान :- राज्य में खरीफ मौसम में धान कि खेती के लिए 4,89,600 क्विंटल बीज कि जरूरत है, जिसके विरुद्ध 4,95,925 क्विंटल बीज उपलब्ध है |
  • अरहर :- खरीफ मौसम के लिए अरहर कि 1,404 क्विंटल बीज कि जरूरत है , जिसके विरुद्ध राज्य सरकार के पास 6,096 क्विंटल अरहर के बीज उपलब्ध है |
  • उड़द :- खरीफ मौसम के लिए उड़द कि 3,960 क्विंटल बीज कि जरूरत होगी , जिसके विरुद्ध राज्य सरकार के पास 12,521 क्विंटल बीज उपलब्ध है |
  • सोयाबीन :- खरीफ मौसम के लिए राज्य के किसानों को सोयाबीन कि 3960 क्विंटल बीज की जरूरत होगी , जिसके विरुद्ध 8,269 क्विंटल बीज बिहार सरकार के पास उपलब्ध है |
  • मूंगफली :- राज्य के किसानों को खरीफ मौसम के लिए 396 क्विंटल मूंगफली बीज की जरूरत पड़ेगी , जिसके विरुद्ध राज्य सरकार के पास 2,233 क्विंटल मूंगफली बीज उपलब्ध है |
  • जूट :- राज्य के किसानों को 3,072 क्विंटल जुट के बीज की जरूरत होगी , जिसके विरुद्ध में बिहार सरकार के पास राज्य के किसानों के लिए 1,873 क्विंटल जूट के बीज उपलब्ध है |
यह भी पढ़ें   इन किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का पैसा जल्द दिया जाएगा

अनुदानित दरों पर बीज की होम डिलीवरी हेतु आवेदन करें

इस वर्ष से किसानों को खरीफ फसल का बीज होम डीलीवरी किया जाएगा , जिससे किसान घर बैठे बीज को मंगा सकता है | इसके लिए 5 रूपये प्रति किलो शुल्क अदा करना होगा | जो किसान होम डिलवरी नहीं चाहता है वह दूकान से खरीद सकता है उन्हें भी सब्सिडी बराबर दिया जाएगा | इसके लिए किसानों  को https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर पंजिकारण करना होगा |

खरीफ फसलों के बीजों की अनुदान पर होम डिलेवरी हेतु आवेदन करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here