7275 रूपये प्रति क्विंटल की दर से मूंग ख़रीदेगी सरकार, 18 जुलाई से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन

639
moong kharidi mp

समर्थन मूल्य पर मूँग खरीद

किसानों ने गर्मी के सीजन में मूँग का भरपूर उत्पादन तो किया परंतु बाजार में इसकी बहुत कम कीमत मिलने के चलते किसानों को काफी नुकसान हो रहा है। किसानों को इस नुकसान से बचाने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने पहले ही न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूँग खरीदने की घोषणा की थी, जिसके लिए राज्य की सरकार ने केंद्र सरकार से अनुमति माँगी थी जो मिल गई थी, परंतु अभी तक किसानों से खरीदी शुरू नहीं हो पाई है। जिससे राज्य के कई किसानों को काफी नुकसान हो रहा है।

जिसके बाद मध्य प्रदेश सरकार ने आज फिर से राज्य में 18 जुलाई से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूँग खरीदने के लिए पंजीयन प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में किसानों ने मेहनत से ग्रीष्मकालीन मूंग पैदा की है। मूंग के दाम बाजार में समर्थन मूल्य से काफी कम है। जिसको देखते हुए सरकार ने किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूँग खरीदने का फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें   अब इस राज्य में फॉल आर्मी वर्म कीट का प्रकोप, नियंत्रण के लिए सरकार दे रही 50 प्रतिशत अनुदान

18 जुलाई से MSP पर मूँग खरीद के लिए शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हम अपने किसानों को न्याय देंगे और उनकी मूंग, न्यूनतम समर्थन मूल्य 7 हजार 275 रुपए प्रति क्विंटल की दर पर खरीदी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मूंग खरीद के लिए राज्य सरकार 18 जुलाई से रजिस्ट्रेशन प्रारंभ कर रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास कार्यालय से मीडिया के लिए जारी संदेश में यह बात कही।

किसानों से कितना मूँग खरीदा जाएगा

अभी सरकार द्वारा जारी की गई विज्ञप्ति में इस बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं दी गई है लेकिन मध्य प्रदेश में वर्ष 2022–23 के सीजन में जायद मूंग का उत्पादन लगभग 16 लाख मीट्रिक टन होने का अनुमान है। राज्य सरकार ने 8 जून 2022 को जारी प्रेस रिलीज में यह जानकारी दी थी कि राज्य सरकार ने 4 लाख 3 हजार मीट्रिक टन मूंग खरीदी का अनुरोध किया है। इसके जवाब में केंद्र सरकार ने मूंग खरीदी का लक्ष्य 2 लाख 25 हजार 525 मीट्रिक टन दिया गया था।

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश सरकार ने पिछले वर्ष भी राज्य के किसानों से ग्रीष्म कालीन मूंग की खरीदी की थी। जिसके तहत राज्य के 301 खरीदी केन्द्रों से 4 लाख 39 हजार 563 मीट्रिक टन मूंग की खरीदी की गई थी। इससे राज्य के 1 लाख 85 हजार किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ प्राप्त हुआ था।

यह भी पढ़ें   आईपीएफटी ने मेथी, जीरा, धनिया एवं अन्य बीज वाली मसाला फसलों के लिए विकसित किया जैविक कीटनाशक

उड़द की खरीदी कब से शुरू होगी?

मध्य प्रदेश में मूंग की खेती के साथ ही उड़द की खेती भी ग्रीष्म ऋतू में की जाती है। उड़द खरीदी के लिए इस वर्ष भी प्रस्ताव भेजा गया था। राज्य सरकार ने राज्य के किसानों से 27 हजार मीट्रिक टन उड़द खरीदी का प्रस्ताव दिया था। इसके विरुद्ध केंद्र सरकार ने राज्य को 21 हजार 400 मीट्रिक टन उड़द उपार्जन का लक्ष्य रखा था। परंतु अभी जारी प्रेस विज्ञप्ति में उड़द खरीद की बात नहीं कही गई है। संभवतः मूँग के साथ ही उड़द की खरीद के लिए भी पंजीयन शुरू किए जा सकते हैं, अभी इस बारे में स्पष्ट नहीं बताया गया है।

पिछला लेखकिसानों को इस वर्ष सिंचाई के लिए जारी किए जाएँगे 2 लाख 31 हजार कृषि पम्प कनेक्शन
अगला लेखयह यंत्र किसानों को पहले ही दे देगा मौसम, हवा, पानी, आंधी, कीट-रोग, खाद एवं सिंचाई की जानकारी

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.